ताज़ा खबर
 

क्यों बेहद जरूरी है दूसरी पूर्णबंदी

अमेरिका में अब तक इस बीमारी से लगभग 37000 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि भारत में अब तक लगभग चार सौ से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है। अगर कुछ लोगों ने पूर्णबंदी व सुरक्षित दूरी के महत्व को नहीं समझा और पूरी तरह से इसका पालन नहीं किया तो स्थिति और भी भयानक हो सकती है।

Author नई दिल्ली | April 19, 2020 3:10 AM
डॉ. रवि मलिका।

डॉ. रवि मलिक
यह निर्णय वैज्ञानिक सोच का नतीजा है। इस विषाणु का इन्क्यूबेशन समय 2 से 14 दिन होता है और एक औसत समय 7 दिन का होता है। इसकी बीमारी की मियाद औसतन 10 दिन की है इसलिए यह पूर्णबंदी 19 दिन की रखी गई है। आज दुनिया में बहुत ही कम ऐसे देश बचे हैं जहां कोविड 19 बीमारी से ग्रस्त लोग बहुत कम हैं। भारत की जनसंख्या को देखते हुए इस बीमारी से ग्रस्त लोगों की संख्या अन्य देशों के अनुपात में बहुत कम है तो इसकी सबसे बड़ी वजह समय रहते पूर्णबंदी का निर्णय ही है। पूर्णबंदी व सुरक्षित दूरी ही इस बीमारी की एकमात्र दवा है।

अमेरिका में अब तक इस बीमारी से लगभग 37000 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि भारत में अब तक लगभग चार सौ से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है। अगर कुछ लोगों ने पूर्णबंदी व सुरक्षित दूरी के महत्व को नहीं समझा और पूरी तरह से इसका पालन नहीं किया तो स्थिति और भी भयानक हो सकती है। हम सभी को मिलकर एक साथ इसका पालन करना है तभी हम इस विनाशकारी महामारी से अपने देश व समाज को बचा सकते हैं। इसकी संपूर्ण सफलता इसके संपूर्ण पालन में है।
एकांतवास में अपने सभी शौक जैसे पढ़ना, लेखन, कुकिंग इत्यादि को पूरा करें। नियमित योगाभ्यास करें। घर के कामों में मदद करें। बच्चों को पढ़ाएं व उनके साथ वक्त बिताएं।

अपने मानसिक स्वास्थ्य का ध्यान रखें, धूम्रपान ना करें, शराब इत्यादि का सेवन बंद करें, अफवाहों पर ध्यान ना दें, मेडिटेशन करें। जो शुगर व ह्रदय के मरीज हैं वे अपनी दवाइयां समय से लें जिससे उनकी प्रतिरोधक क्षमता ठीक रहे और वो कोरोना से बचे रहें। पौष्टिक आहार लें। ब्रॉंकायटिस, टीबी व डायबिटीज इत्यादि के मरीज अपनी बीमारी को पूरी तरह से काबू में रखें क्योंकि जिन लोगों की प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होती है उन लोगों को ये बीमारी जल्दी अपनी चपेट में लेती है।

बूढ़ों, बच्चों व गर्भवती महिलाओं को खासतौर से अपना ध्यान रखा है। अपने बच्चों को स्वास्थ्य संबंधी जानकारी दें। उन्हें सुरक्षित दूरी व हाथों की सफाई की शिक्षा दें। सभी लोग आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करें। यह बहुत ही अच्छा ऐप है। डॉक्टर, नर्सें, पैरामेडिकल स्टाफ, सफाई कर्मचारी व पुलिसकर्मी जो दिन रात कोरोना योद्धाओं की तरह काम कर रहे हैं, उन्हें धन्यवाद दें व उनका हर तरह से सहयोग करें। अपने आस पास रहने वाले गरीब लोगों की मदद करें और इस पूर्णबंदी को सफल बनाएं।

तीन चीजें जो हमें ध्यान रखनी हैं
सुरक्षित दूरी, हाथों की सफाई, श्वसन स्वच्छता। छींकते व खांसते समय मुंह पर टिश्यू पेपर या रूमाल का इस्तेमाल करें और इन्हें कूड़ेदान में डालें या रूमाल को गर्म पानी से धोेएं।

(सीएमडी, मलिक रैडिक्स हेल्थकेयर,
पूर्व सचिव आइएमए।)

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ऑनलाइन पंजीकृत नहीं 92 फीसद मजदूर, नहीं मिल रही 5000 की मदद
2 J&K: सोपोर में आतंकी हमले में 3 सीआरपीएफ के जवान शहीद, 2 जख्मी
3 दिल्ली-NCR में बदला मौसम का मिजाज, तेज आंधी के साथ बारिश, लुढ़का पारा
राशिफल
X