ताज़ा खबर
 

‘लव जिहाद’ कानून पर तहसीन पूनावाला को बीजेपी प्रवक्ता का जवाब, क्या कोई आधार कार्ड दिखाकर करता है मोहब्बत?

लव जिहाद पर उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश सरकार कानून बनाने जा रही है। इसको लेकर तहसीन पूनावाला ने कहा कि क्या महिलाएं इतनी सीधी होती हैं कि किसी के धर्म के बारे में पता नहीं चलता?

love jihad, tehseen poonawallaतहसीन पूनावाला को सुधांशु त्रिवेदी ने दिया जवाब।

‘लव जिहाद’ के खिलाफ कानून को लेकर चर्चा गरम है। उत्तर प्रदेश सरकार ने धर्मांतरण के विरुद्ध अध्यादेश को मंजूरी दे दी है तो वहीं मध्य प्रदेश के सीएम ने भी स्पष्ट कह दिया है कि राज्य में ‘लव जिहाद’ के खिलाफ कानून लाया जाएगा। इस बीच राजनीतिक विश्लेषक तहसीन पूनावाला ने एक टीवी शो में बीजेपी प्रवक्ता से सवाल किया कि क्या महिलाएं इतनी गाय है कि वे पेपर पर साइन करते वक्त कोई चीज नहीं देखती। इसपर बीजेपी प्रवक्ता ने जवाब दिया कि कोई आधार कार्ड दिखाकर मोहब्बत शुरू नहीं करता है।

तहसीन पूनावाला ने कहा, ‘बीजेपी को क्यों लगता है कि महिलाएं गाय हैं, बकरियां हैं जिसे फंसाया जा सकता है। क्या वे पेपर नहीं देख सकतीं?’ इसपर सुधांशु ने जवाब दिया, ‘क्या आधार कार्ड करके कोई प्यार मोहब्बत शुरू करता है? एक लड़की ने कहा, कोचिंग में पढ़ते थे, बातचीत होती रही। फिर एक दिन उसने सिग्नेचर देखा। तब आधार कार्ड देखा और पता लगा। सोशल मीडिया पर तो तमाम लोग फेक अकाउंट बनाए रखते हैं। फेक अकाउंट तो पाकिस्तान से भी बन रहे हैं।’

त्रिवेदी ने रांची की नैशनल स्तर की शूटर का उदाहरण देते हुए कहा, ‘तारा सहदेव से जिस लड़के ने कहा मेरा नाम अनिल कोहली है। कागज देखा गया तो रकीबुल हसन निकला। आपने कहा कि हिंदू पॉपुलेशन 73 प्रतिशत थी। अविभाजित भारत में 73 फीसदी थी और विभाजित भारत में ज्यादा हो गई। इस विधेयक में पंडित पुजारी और मौलवी सभी के लिए है। यहां विष्णु जैन बैठे हैं उन्हें डर नहीं लग रहा है। वे तो एक ही पर्सेंट हैं।’

त्रिवेदी ने AIMIM के प्रवक्ता वकार को अज्ञेय की कविता सुना दी, ‘मुर्दे होंगे प्रेम जिन्हें अनुभव लगता कटु प्याला है, मैंने अंतिम रहस्य पहचान लिया, मैंने आहुति दे जान लिया, यह प्रेम यज्ञ की ज्वाला है।’ सुधांशु त्रिवेदी ने कहा, किन्हीं बेहूदे लोगों ने कहा है कि इश्क औऱ जंग में सब जायज है। फिर तो आतंकवाद भी जायज हो जाएगा?

AIMIM प्रवक्ता वकार ने कहा कि एक कानून उनके लिए भी होना चाहिए जो एक शादी के बाद छिपाकर दूसरी शादी कर लेते हैं। इसपर विष्णु जैन ने जवाब दिया कि पहले से इसका कानून है। उन्होंने कहा, ‘शादी के लिए धर्म परिवर्तन करा देना कहीं से भी जायज नहीं है।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 आतंकी कसाब की ताबूत की आखिरी कील बनी थी यह लड़की, IPS बन आतंक खत्म करना चाहती है देविका
2 Covid-19 MHA Guidelines: कोरोना बढ़ा रहा है चिंता, सरकार ने जारी की नई गाइडलाइन, राज्यों से कहा- सख्त कदम उठाएं
3 दिल्ली दंगे को पुलिस ने बताया ‘आतंकी घटना’, उमर खालिद, शरजील इमाम के खिलाफ चार्जशीट में बड़े आरोप
ये पढ़ा क्या?
X