ताज़ा खबर
 

पासपोर्ट पर छपेगा कमल फूल, विदेश मंत्रालय ने दी दलील- राष्ट्रीय पुष्प है, अन्य प्रतीक भी छपेंगे

इस बारे में पूछे जाने पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि यह निशान हमारा राष्ट्रीय पुष्प है और यह फर्जी पासपोर्ट का पता लगाने के लिए लाई गई परिष्कृत सुरक्षा विशेषता का हिस्सा है।

Author December 13, 2019 2:41 AM
लोकसभा में विपक्षी सदस्यों द्वारा नए पासपोर्ट पर कमल छापने का मुद्दा उठाए जाने के एक दिन बाद विदेश मंत्रालय ने दलील दी। (फोटो-इंडियन एक्सप्रेस)

विपक्षी सदस्यों द्वारा लोकसभा में नए पासपोर्ट पर कमल का निशान छापने को लेकर उठाए गए सवाल के एक दिन बाद गुरुवार को विदेश मंत्रालय ने कहा कि यह फर्जी पासपोर्ट का पता लगाने और सुरक्षा मजबूत करने की विशेषताओं का हिस्सा है एवं अन्य राष्ट्रीय प्रतीकों का भी बारी-बारी से इस्तेमाल किया जाएगा। कांग्रेस सदस्य एमके राघवन ने केरल के कोझिकोड में बांटने के लिए आए नए पासपोर्ट पर कमल का निशान होने का मुद्दा उठाते हुए कहा कि एक अखबार ने इस खबर को प्रकाशित किया है। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा के चुनावी चिह्न कमल के साथ यह सरकारी प्रतिष्ठानों का ‘‘और भगवाकरण’’ है।

इस बारे में पूछे जाने पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा, ‘‘यह निशान हमारा राष्ट्रीय पुष्प है और यह फर्जी पासपोर्ट का पता लगाने के लिए लाई गई परिष्कृत सुरक्षा विशेषता का हिस्सा है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ये सुरक्षा विशेषता अंतरराष्ट्रीय नागरिक विमानन संगठन (आईसीएओ) के दिशानिर्देशों का हिस्सा है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा, ‘‘ कमल के अलावा बारी-बारी से अन्य राष्ट्रीय प्रतीकों का भी उपयोग किया जाएगा। अभी कमल का इस्तेमाल किया गया था। अगले महीने कुछ और होगा। ये प्रतीक भारत से जुड़े हैं जैसे राष्ट्रीय पुष्प या राष्ट्रीय पशु।’’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 संस्कृत बोलने से कंट्रोल में रहता है शुगर, कोलेस्ट्रॉल- संसद में बोले भाजपा सांसद
2 सोशल मीडिया पर सूचना प्रसारण मंत्रालय के नाम से सर्कुलर शेयर, लोग बता रहे- CAB विरोधी कार्यक्रम प्रसारण नहीं करने की हिदायत
3 इमरान खान बोले- ‘हिंदुवादी एजेंडे को आगे बढ़ा रही है मोदी सरकार’, विदेश मंत्रालय ने बताया गैरजरूरी बयान
ये पढ़ा क्या?
X