ताज़ा खबर
 

Loksabha election: पूर्व कांग्रेसी सीएम ने कहा- इस बार मोदी पीएम हुए तो कांग्रेस पार्टी का बचना मुश्‍किल हो जाएगा

Loksabha election 2019: चव्हाण के मुताबिक, यह चुनाव एक कटु वैचारिक लड़ाई है और दोनों पार्टियां मिलकर लड़ रही हैं ताकि संविधान और लोकतंत्र को बचाया जा सके।

Author April 16, 2019 1:11 PM
Loksabha election: महाराष्ट्र के पूर्व मुख्या मंत्री हैं पृथ्वीराज चह्वाण। (pc- Indian express)

Loksabha election 2019: लोकसभा चुनाव के मद्देनजर कांग्रेस महाराष्ट्र में खासा जोर लगा रही है। कांग्रेस और एनसीपी ने मिलकर चुनाव लड़ने का फैसला किया है। वहीं, महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना प्रमुख राज ठाकरे इस गठबंधन के लिए बीजेपी-शिवसेना गठजोड़ के खिलाफ प्रचार करने मैदान में उतर चुके हैं। पूर्व में कांग्रेस और एनसीपी के बीच भरोसे की कमी रही है। ऐसे में दोनों पार्टियां मिलकर कैसे एनडीए का मुकाबला करेंगी? इसके जवाब में महाराष्ट्र के पूर्व सीएम और कांग्रेस नेता पृथ्वीराज चव्हाण कहते हैं कि पूर्व की बातें अब बंद हो चुका अध्याय है। चव्हाण के मुताबिक, यह चुनाव एक कटु वैचारिक लड़ाई है और दोनों पार्टियां मिलकर लड़ रही हैं ताकि संविधान और लोकतंत्र को बचाया जा सके। पूर्व सीएम ने कहा, ‘दोनों पार्टियां जमीन पर साथ मिलकर काम कर रही हैं। यह दोनों ही पार्टियों के लिए अस्तित्व का सवाल है। अगर हम हारे और मोदी दोबारा पीएम बनते हैं तो बतौर कांग्रेस पार्टी हमारे लिए जारी रखना और सत्ता तक पहुंचना मुश्किल हो जाएगा।’

क्या कांग्रेस और एनसीपी मोदी सरकार के खिलाफ समाज के कुछ तबके के गुस्से को अपने पक्ष में इस्तेमाल कर पाएगी? इस बारे में पूछे जाने पर चव्हाण ने बताया कि ग्रामीण इलाकों और खास तौर पर कृषि क्षेत्र में मोदी सरकार के खिलाफ साफ गुस्सा नजर आता है। चव्हाण के मुताबिक, एमपी, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में हुए चुनाव के दौरान भी इस गुस्से को देखा गया और यह आज भी कायम है। उन्होंने कहा, ‘मुझे शहरों का नहीं पता, लेकिन ग्रामीण इलाकों में काफी असंतोष है। 2014 में कांग्रेस और एनसीपी ने महाराष्ट्र में सिर्फ 6 सीटें जीती थीं, लेकिन इस बार हम काफी बेहतर प्रदर्शन करेंगे। महाराष्ट्र में बीजेपी को बड़ा झटका लगेगा।’

बता दें कि शरद पवार ने कहा था कि मोदी दोबारा पीएम नहीं बनेंगे लेकिन बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरेगी। शरद के बयान पर राय मांगे जाने पर पूर्व सीएम ने कहा, ‘नरेंद्र मोदी किसी तरीके से 2019 में दोबारा पीएम नहीं बन सकते। यह भी मुमकिन नहीं कि कोई दूसरा बीजेपी नेता या उनके सहयोगी इस हालत में हों कि अगली सरकार की अगुआई करें। मेरा अपना आकलन है कि किसी पार्टी को पूर्ण बहुमत नहीं मिलेगा। मुझे लगता है कि 2014 में हिंदी हार्टलैंड में बीजेपी ने जो सीटें जीती थी, उनमें से इस बार 100 सीटें गंवाएगी। यह आकड़ा इस बार 170 सीटों के नीचे जाएगा। यह महसूस किया जा रहा था कि पुलवामा हमले और उसके बाद हुई जवाबी हवाई कार्रवाई के बाद बीजेपी काफी आगे निकल गई है, लेकिन अब उसका असर खत्म हो चुका है। सवाल यह है कि हमें हवाई हमलों से क्या फायदा हुआ? क्या आतंकवाद का नेटवर्क खत्म कर पाने में कामयाब हुए? मुझे नहीं लगता। कोई जवाब नहीं मिला है। क्या हम आतंकवाद से सुरक्षित हुए हैं। मुझे यकीन नहीं है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App