ताज़ा खबर
 

Loksabha election 2019: जेडीयू की शिकायत- जेल में रहकर साइन करके आरजेडी प्रत्याशियों को टिकट बांट रहे लालू

जेल मैनुअल में स्पष्ट है कि लालू को केवल परिजन से मिलना है। लेकिन वह तो अपने राजनीतिक उद्देश्यों को साधने के लिए सिर्फ नेताओं से ही मुलाकात और बातचीत करते रहे हैं।

आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव। (फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

Loksabha election 2019: राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव जेल में रहते हुए हस्ताक्षर करके आरजेडी प्रत्याशियों को टिकट बांट रहे हैं। जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) ने आरजेडी सुप्रीमो पर यह आरोप लगाया है। जेडीयू के प्रवक्ता नीरज कुमार ने इसकी शिकायत चुनाव आयोग से की है। जेडीयू ने अपनी शिकायत में मांग की है कि आरजेडी के सभी उम्मीदवारों के नामांकन को रद्द किया जाए।

दरअसल पार्टी ने जेल मैनुअल का हवाला देते हुए चुनाव आयोग से कहा कि लालू चारा घोटाला के आरोप में सजा काट रहे हैं ऐसे में क्या उन्होंने अपने हस्ताक्षर कर उम्मीदवारों को टिकट देने के लिए अदालत से अनुमति मांगी थी? वह भारतीय दंड संहिता के तहत कई धाराओं पर सजा काट रहे हैं।

जेल मैनुअल में स्पष्ट है कि लालू को केवल परिजन से मिलना है। इसके साथ ही वह किसी से राजनीतिक बातें भी नहीं कर सकते। लेकिन वह तो अपने राजनीतिक उद्देश्यों को साधने के लिए सिर्फ नेताओं से ही मुलाकात और बातचीत करते रहे हैं।

शिकायती पत्र के मुताबिक, वह जेल से ही सोशल मीडिया पर भी सक्रिय हैं। उनका ट्विटर हैंडल अगर कोई व्यक्ति चला रहा है तो उनके विचारों को उस व्यक्ति तक कौन पहुंचा रहा है? वह जेल के अंदर से ही चुनाव को प्रभावित करना चाहते हैं।

बता दें कि बिहार में मतदान के दो चरण हो चुके हैं। बीजेपी और जेडीयू 17-17 सीटों पर लड़ रहे हैं और 6 सीटों पर लोकजनशक्ति पार्टी। वहीं महागठबंधन में बिहार की 40 लोकसभा सीटों में आरजेडी को 20, कांग्रेस को 9,  आरएलएसपी को 5, हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा को 3, वीआईपी को 3 और सीपीआईएमएल को आरजेडी कोटे से एक सीट दी गई है। बिहार में कुल 40 लोकसभा सीट हैं और 7 चरणों में चुनाव हो रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App