ताज़ा खबर
 

Loksabha Election 2019: चुनाव खत्म, खामोशी से गायब हो गया नमो टीवी!

Lok Sabha Election 2019 (लोकसभा चुनाव 2019): दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने चुनाव प्रचार की अवधि खत्म होने के बाद भी नमो टीवी पर ‘‘चुनाव संबंधित खबरें प्रसारित’’ करने के लिए भाजपा को नोटिस भेजा था लेकिन पार्टी ने कहा कि उन्होंने आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन नहीं किया।

Author Updated: May 21, 2019 8:04 AM
लोकसभा चुनाव के बाद नमो टीवी ऑफ एयर हो गया। (Photo: Twitter/BJP4India)

Loksabha Election 2019: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैलियों और अन्य चुनावी संदेशों का प्रचार करने वाला भाजपा प्रायोजित चैनल नमो टीवी बंद हो गया है। सूत्रों ने बताया कि यह 17 मई को बंद हो गया जब लोकसभा चुनाव के लिए सारा प्रचार अभियान खत्म हो गया। गोपनीयता की शर्त पर भाजपा के नेता ने कहा, ‘‘नमो टीवी लोकसभा चुनाव के लिए भाजपा के प्रचार अभियान के माध्यम के रूप में लाया गया। चुनाव खत्म होने के साथ ही इसकी अब कोई जरुरत नहीं है इसलिए 17 मई से जब सारा प्रचार खत्म हो गया तो इसे भी बंद कर दिया गया।’’ चैनल जब से शुरू हुआ तब से विवादों में रहा।

दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने चुनाव प्रचार की अवधि खत्म होने के बाद भी नमो टीवी पर ‘‘चुनाव संबंधित खबरें प्रसारित’’ करने के लिए भाजपा को नोटिस भेजा था लेकिन पार्टी ने कहा कि उन्होंने आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन नहीं किया।’’ अप्रैल में निर्वाचन आयोग ने निर्देश दिया था कि नमो टीवी पर दिखाए जाने वाले सभी रिकॉर्डेड कार्यक्रम पूर्व प्रमाणित हों। इसके बाद दिल्ली निर्वाचन आयोग ने भाजपा को उसकी मंजूरी के बिना टीवी पर कोई भी सामग्री प्रसारित ना करने के लिए कहा।

कांग्रेस समेत विपक्षी दलों ने निर्वाचन आयोग से चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन के लिए चैनल को रद्द करने के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय को निर्देश देने के लिए कहा था जिसके बाद आयोग ने नमो टीवी पर मंत्रालय से रिपोर्ट मांगते हुए एक नोटिस जारी किया था। टाटा स्काई, वीडियाकॉन, डिश टीवी सहित देश के कई टेलिविजन सर्विस प्रोवाइडर इस चैनल का प्रसारण पूरे देश में मुफ्त सेवा के रूप में कर रहे थे।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी नमो टीवी के बहाने चुनाव आयोग पर निशाना साधा था। लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण के मतदान वाले दिन गांधी ने चुनाव आयोग पर निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री मोदी की उत्तराखंड के केदारनाथ की यात्रा समेत अन्य उदाहरण गिनाये और चुनाव आयोग पर पक्षपात करने का आरोप लगाया। गांधी ने ट्वीट किया था, ‘‘चुनावी बांड और ईवीएम से लेकर चुनाव के कार्यक्रम में छेड़छाड़ तक, नमो टीवी, ‘मोदीज आर्मी’ और अब केदारनाथ के नाटक तक चुनाव आयोग का मिस्टर मोदी और उनके गैंग के समक्ष समर्पण सारे भारतीयों के सामने जाहिर है।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Loksabha Election 2019: अरविंद केजरीवाल का नया आरोप- मोदी मुझे मारना चाहते हैं
2 National Hindi News, 21 May 2019 Highlights: दिल्ली में दिनदहाड़े जिम ट्रेनर को मारी गोली, बदमाश फरार
3 Elections 2019 India Updates: पीएम मोदी बोले- तीर्थयात्रा के समान रहा यह चुनाव