ताज़ा खबर
 

सदन में बीजेपी सदस्य पर भड़के ओम बिरला, कड़े तेवर में चेताया- आप न मुझे बताएं कि किसे बुलाना है और किसे नहीं

सांसद के सुझाव पर ही बिरला भड़क गए। उन्होंने सांसद को लताड़ते हुए कहा मुझे बैठे-बैठे आदेश देने की जरूरत नहीं।

om birlaलोकसभा स्पीकर ओम बिरला (ani image)

लोकसभा स्पीकर ओम बिरला शुक्रवार को बीजेपी एक सांसद पर भड़क उठे। इस दौरान उन्होंने सांसद को कड़ी चेतावनी भी दी। दरअसल महिला सुरक्षा को लेकर सदन में चर्चा चल रही थी। इस दौरान भारी हंगामे के बीच कोई एक सांसद ने बोलकर कई सांसद अपनी बात स्पीकर के सामने रख रहे थे। इस बीच बीजेपी सांसद ने स्पीकर को सुझाव दिया कि वह किसे बोलने दें और किसे नहीं।

सांसद के इस सुझाव पर ही बिरला भड़क गए। उन्होंने सांसद को लताड़ते हुए कहा ‘मुझे बैठे-बैठे आदेश देने की जरूरत नहीं। इनको बुला लो…उनको बुला लो…. नहीं तो मैं आपको सदन से बाहर निकलवा दूंगा। आगे से ऐसे नहीं चलेगा।’

ओम बिरला ने जब यह चेतावनी दी उस वक्त सदन में बीजेपी और कांग्रेस के सदस्य रेप के मालमों को राजनीतिक रंग देने पर एक दूसरे पर आरोप लगा रहे थे। सांसदों के राजनीतिक टिप्पणी करने के बाद वेल में आना और फिर किसी को धमकाना कहां तक जायज है। स्पीकर ने कहा कि इस पर आचार संहिता बननी चाहिए।’

उन्होंने कहा ‘सदन की एक आचार संहिता होती है। राजनीतिक टिप्पणियां दोनों पक्षों से होती हैं लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि सदस्य आसन की ओर बढ़ने लगें।’

दरअसल, लोकसभा में इस नोकझोंक की शुरुआत उस वक्त हुई जब शून्यकाल के दौरान कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने उन्नाव की घटना का उल्लेख करते हुए कहा कि आज हम एक तरफ राम मंदिर बनाने वाले हैं दूसरी तरफ देश में ‘सीताएं जलाई जा रही हैं । इस पर पलटवार करते हुए महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि बलात्कार जैसी घटनाओं पर राजनीति नहीं होनी चाहिए।

वहीं स्पीकर बिरला ने प्रश्नकाल के दौरान पर्यावरण राज्य मंत्री बाबुल सुप्रियो को बातचीत करने पर टोक दिया। सदन में पर्यावरण को लेकर पूरक प्रश्न पूछे जाने के दौरान बाबुल सुप्रियो बैठे हुए बातचीत करते देखे गए जिस पर बिरला ने उन्हें टोका। सुप्रियो को टोकते हुए बिरला ने कहा, ‘मंत्री जी, प्रश्नकाल के दौरान बातचीत नहीं करें।’

Next Stories
1 VIDEO: संसद में पर्यावरण मंत्री का दावा, ‘फालतू में पैदा न करें ‘डर’, देश में प्रदूषण से कम नहीं होती है आयु’; ट्रोल
2 ‘नरेंद्र मोदी सरकार की शॉक थेरेपी की शिकार हुई इकनॉमी, इसलिए ऐसा हुआ हाल’, एक्सपर्ट का दावा
3 हैदराबाद कांड में नरपिशाचों को उनके पाप की सजा मिल गई, दुष्टों के साथ यही होना चाहिए: शिवराज चौहान
यह पढ़ा क्या?
X