ताज़ा खबर
 

Election 2019: तेलंगाना में कांग्रेस को झटका, विधानपरिषद के चार सदस्य टीआरएस में शामिल

Lok Sabha General Election 2019 India Updates: तेलंगाना में कांग्रेस को शुक्रवार को तब झटका लगा जब चार विधानपरिषद सदस्यों ने विधान परिषद सभापति के. स्वामी गौड़ से ऊपरी सदन में उनकी पार्टी का विलय राज्य में सत्तारूढ़ टीआरएस में करने का अनुरोध किया।

तस्वीर का प्रयोग प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है। फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

Election 2019 Updates:

तेलंगाना में कांग्रेस को शुक्रवार को तब झटका लगा जब चार विधानपरिषद सदस्यों ने विधान परिषद सभापति के. स्वामी गौड़ से ऊपरी सदन में उनकी पार्टी का विलय राज्य में सत्तारूढ़ टीआरएस में करने का अनुरोध किया। कांग्रेस एमएलसी- एम एस प्रभाकर राव, टी संतोष कुमार, के दामोदर रेड्डी और अकुला ललिता ने सभापति से मुलाकात करके एक अर्जी सौंपी। विधान परिषद के चारों सदस्यों पत्र में कहा कि 20 दिसम्बर को विधान परिषद में कांग्रेस विधायक दल की बैठक हुई जिसमें विधान परिषद में टीआरएस के साथ उसके विलय पर चर्चा हुई।

पत्र में लिखा गया है, ‘‘ उक्त बैठक में हमने तेलंगाना विधान परिषद में तेलंगाना राष्ट्र समिति विधायक दल में विलय करने का फैसला किया है और सहमति जतायी।’’ उन्होंने कहा कि संविधान की दसवीं अनुसूची के पैरा चार के तहत तेलंगाना राष्ट्र समिति विधायक दल में विलय के लिए उनके पास आवश्यक संख्याबल है। उन्होंने कहा कि तेलंगाना विधान परिषद में कांग्रेस के कुल छह सदस्य हैं।

Live Blog

Highlights

    10:25 (IST)26 Dec 2018
    सिक्किम के इकलौते सांसद ने कहा, धुंधला पड़ रहा मोदी का करिश्‍मा

    सिक्किम के एकमात्र सांसद पी.डी. राय का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का करिश्मा अब धुंधला पड़ता जा रहा है और विपक्षी दलों का महागठबंधन अगर आकार ले लेता है तो भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के लिए 2019 में सत्ता वापसी करना काफी मुश्किल होगा। पी.डी. राय की पार्टी सिक्किम डेमाक्रेटिक फ्रंट (एसडीएफ) केंद्र में सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की घटक है।

    राय ने संसद भवन में आईएएनएस के साथ साक्षात्कार में कहा, "हम बतौर एक क्षेत्रीय पार्टी अगला चुनाव जरूर जीतेंगे, लेकिन राष्ट्रीय परिदृश्य को देखते हुए मुझे लगता है कि मोदीजी का करिश्मा धुंधला गया है। भाजपा ने जिस तरह भेदभाव की नीति के साथ काम किया है, उसके परिणाम अब सामने आ रहे हैं। दो बार के सांसद राय ने यह भी कहा, "संसद की कार्यवाही न चलना हमारे जैसे छोटे दलों को प्रभावित कर रहे हैं और हमारे अधिकार बड़े दलों द्वारा रौंदे जा रहे हैं।"

    10:13 (IST)26 Dec 2018
    कांग्रेस का आरोप, ओडिशा में भाजपा-बीजद में है सांठगांठ

    कांग्रेस की ओडिशा इकाई ने मंगलवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और बीजू जनता दल (बीजद) में सांठगांठ और राज्य के हितों की अनदेखी करने का आरोप लगाया। कांग्रेस ने यह आरोप प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दौरे के अगले दिन लगाया गया है, क्योंकि मोदी ने कई मुद्दों पर बीजद सरकार पर हमला बोला, लेकिन कथित कुशासन को लेकर राज्य के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक और उनकी पार्टी का नाम नहीं लिया। ओडिशा प्रदेश कांग्रेस कमेटी (ओपीसीसी) के अध्यक्ष निरंजन पटनायक ने कहा, "नवीन और मोदी दोनों ने ओडिशा के लोगों के साथ विश्वासघात किया है। वे भगवान जगन्नाथ का नाम लेते हुए लोगों को धोखा देने की कोशिश कर रहे हैं।

    भाजपा और बीजेडी के बीच गुप्त सांठगांठ के बारे में संदेह सही साबित हुआ है।" उन्होंने नवीन पटनायक और नरेंद्र मोदी पर झूठे आश्वासन देकर लोगों को बेवकूफ बनाने की कोशिश करने का आरोप लगाया। हालांकि, सत्तारूढ़ बीजद ने कहा कि उनकी पार्टी ने कांग्रेस और भाजपा दोनों से समान दूरी बनाए रखी है। बीजद के सांसद प्रताप देब ने कहा, "हमने हमेशा भाजपा और कांग्रेस दोनों से समान दूरी रखी है।

    17:27 (IST)21 Dec 2018
    बिहार में सीट बंटवारे को लेकर जेटली ने पासवान से मुलाकात की

    केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने शुक्रवार को 2019 लोकसभा चुनाव के लिए सीट बंटवारे के मुद्दे पर लोक जनशक्ति पार्टी(लोजपा) के अध्यक्ष रामविलास पासवान और उनके बेटे चिराग पासवान से चर्चा की। लोजपा के नेताओं ने गुरुवार को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात की थी और सीट बंटवारे में वार्ता को लेकर हो रही देरी पर अपनी चिंताओं से अवगत कराया था। जेटली से मुलाकात के बाद, लोजपा संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष चिराग पासवान ने उम्मीद जताई कि वार्ता सही दिशा में आगे बढ़ेगी।

    उन्होंने पत्रकारों से कहा, "वार्ता चल रही है। सही समय पर इस संबंध में घोषणा की जाएगी। हमने भाजपा नेतृत्व के समक्ष अपने बिंदुओं को रख दिया है और सबसे महत्वपूर्ण बात है कि हमें सुना गया। आशा है कि सब कुछ अच्छा होगा।" बैठक में भाग लेने वाले चिराग के चाचा रामचंद्र पासवान ने कहा कि लोजपा राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन का भाग बनी रहेगी। रामचंद्र पासवान ने कहा, "हम राजग में हैं और बने रहेंगे। सीट बंटवारे के बारे में फैसला इस सप्ताह होगा।"

    16:20 (IST)21 Dec 2018
    यशवंत सिन्हा ने कहा, मोदी हर रोज इतिहास रचने की धुन में

    पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हर रोज इतिहास रचने की धुन में हैं और अगर वह टिम्बकटू का दौरा करने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री बन सकते हैं तो वह ऐसा जरूर करेंगे चाहें उनका दौरा जरूरी और सार्थक हो या नहीं। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पूर्व नेता ने अपनी पुस्तक 'इंडिया अनमेड : हॉउ मोदी गवर्मेट ब्रोक द इकॉनमी' में बीते साढ़े चार साल में मोदी और उनकी सरकार पर एक सदमा देने वाले अध्याय में कहा है कि एक चीज है जो उन्होंने की लेकिन दूसरे प्रधानमंत्रियों ने नहीं की..उन्होंने अधिकतर पिछले कार्यक्रमों को अपने दायरे में लिया और उनका नाम बदल दिया, जिससे सारा श्रेय और गौरव उनके साथ जुड़ गया।

    भाजपा नीत सरकार के आलोचक सिन्हा ने यह पुस्तक उन सभी को समर्पित की है, जो सच के साथ आगे आने से डरते नहीं हैं। उन्होंने कहा, "मोदी एक ऐसे इंसान हैं, जो सभी चीजें खुद के लिए करना चाहते हैं।"

    15:12 (IST)21 Dec 2018
    प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी डीजीपी सम्मेलन में भाग लेने गुजरात पहुंचे

    प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पुलिस महानिदेशकों और महानिरीक्षकों के वार्षिक सम्मेलन में भाग लेने के लिए शुक्रवार को गुजरात पहुंचे। राज्य सरकार की ओर से जारी विज्ञप्ति के अनुसार, मोदी शुक्रवार की सुबह वडोदरा हवाई अड्डा पहुंचे जहां गुजरात के मुख्चयमंत्री विजय रूपाणी और उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल ने उनका स्वागत किया। हवाई अड्डे से मोदी नर्मदा जिले के पास केवड़िया गांव स्थित ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ गए। डीजीपी और आईजीपी का वार्षिक सम्मेलन यहीं हो रहा है। सम्मेलन स्थल तंबुओं का शहर है जो 182 मीटर ऊंची ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ के पास बसाया गया है। यह विशाल प्रतिमा देश के पहले गृह मंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल को सर्मिपत है।

    तीन दिवसीय कार्यक्रम केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह की उपस्थिति में गुरुवार को शुरू हुआ। सम्मेलन में जाने से पहले मोदी स्टैच्यू आॅफ यूनिटी गए और सरदार पटेल को पुष्पांजलि अर्पित की। दुनिया की सबो ऊंची प्रतिमा का अनावरण 31 अक्टूबर को किय गया।

    14:13 (IST)21 Dec 2018
    बंगाल सरकार ने भाजपा के रथ यात्रा कार्यक्रम पर एकल पीठ के आदेश को खंडपीठ में चुनौती दी

    पश्चिम बंगाल सरकार ने राज्य में भाजपा के ‘रथ यात्रा’ कार्यक्रम की इजाजत देने वाले कलकत्ता उच्च न्यायालय की एकल पीठ के आदेश को शुक्रवार को खंड पीठ में चुनौती दी। फैसले के खिलाफ अपील के लिये मुख्य न्यायाधीश देबाशीष कारगुप्ता और न्यायमूर्ति शम्पा सरकार की खंडपीठ का दरवाजा खटखटाते हुए राज्य सरकार ने इस पर तत्काल सुनवाई का अनुरोध किया। अदालत ने राज्य सरकार की अपील को मंजूर करते हुए कहा वह प्रतिवादी भाजपा को इसकी प्रतियां उपलब्ध करवाए जिसके बाद सुनवाई शुरू होगी।

    राज्य सरकार के तीन सबसे वरिष्ठ अधिकारियों के पैनल ने यात्रा को मंजूरी देने से इनकार कर दिया था। उस आदेश को रद्द करते हुए न्यायमूर्ति तापब्रत चक्रवर्ती की एकल पीठ ने बृहस्पतिवार को भाजपा के रथ यात्रा कार्यक्रम को मंजूरी दे दी थी। इससे पहले, छह दिसंबर को एकल पीठ ने भी रथ यात्रा को मंजूरी नहीं दी थी। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को उत्तर बंगाल के कूच बिहार से इस यात्रा को सात दिसंबर को हरी झंडी दिखानी थी।

    13:30 (IST)21 Dec 2018
    राजग में सीट बंटवारे के विवाद के बीच दिल्ली बिहार सीएम नीतीश कुमार

    बिहार राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) में लोकसभा चुनाव को लेकर सीट बंटवारे को लेकर उठा विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) के राजग छोड़ देने के बाद लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा)की नाराजगी को लेकर उन्हें मनाने का दौर चल रहा है। इस बीच, बिहार के मुख्यमंत्री और जनता दल (युनाइटेड) के अध्यक्ष नीतीश कुमार भी शुक्रवार शाम दिल्ली जाने वाले हैं। जद (यू) के वरिष्ठ नेता क़े सी़ त्यागी ने शुक्रवार को कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एक वैवाहिक कार्यक्रम में शमिल होने दिल्ली आ रहे हैं। मुख्यमंत्री का यह कार्यक्रम बहुत पहले से तय था।

    लोजपा के अध्यक्ष रामविलास पासवान से मुलाकात के संबंध में उन्होंने कहा कि लोजपा राजग की प्रमुख घटक दलों में से एक है, इसमें कोई शक नहीं है।उन्होंने कहा कि दिल्ली मुख्यमंत्री आ रहे हैं ऐसे में राजनीतिक बातें तो होगी ही। उन्होंने कहा कि नीतीश वहां अगले दो-तीन दिनों तक रहेंगे और इस दौरान वे भाजपा के कई वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात करेंगे। साथ ही सीट बंटवारे पर भी चर्चा होगी। 

    12:43 (IST)21 Dec 2018
    उप्र में सपा, बसपा की बेरुखी से बेपरवाह दिखना चाहती है कांग्रेस

    मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनावों में सफलता ने कांग्रेस का हौसला बढ़ाया है। अब वह महागठबंधन के रणनीति को अपने नजरिए से देखने लगी है। इसका असर भी दिखने लगा है। उत्तर प्रदेश में प्रस्तावित महागठबंधन ने उसे तरजीह नहीं दी तो वह भी नए दांव को आजमाने का मन बना चुकी है। इसके तहत वह अपने को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के मुख्य प्रतिद्वंदी के रूप में पेश करेगी। समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) द्वारा बनाए जा रहे गठबंधन में कांग्रेस को शामिल न किए जाने पर कांग्रेस पार्टी ने काट ढूंढ ली है। अगर गठबंधन ना हुआ तो उप्र में कांग्रेस दिग्गज चेहरों के आधार पर चुनाव लड़ेगी। तीन राज्यों में मिली सफलता के बाद कांग्रेस पार्टी को बल मिल गया है। ऐसे में वह अकेले दम पर उत्तर प्रदेश में चुनाव लड़ने की भी तैयारी कर रही है।

    कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी क्षेत्र में प्रभावी चेहरे पर दांव लगाकर उनकी दमखम को आंकना चाहते हैं। उत्तर प्रदेश में कांग्रेस का संगठन मजबूत ना होने के कारण भी ऐसी रणनीत बनाई जा रही है। 

    11:57 (IST)21 Dec 2018
    पश्चिम बंगाल में भाजपा के "रथयात्रा" कार्यक्रम को अदालत की हरी झंडी

    कलकत्ता उच्च न्यायालय ने बृहस्पतिवार को भाजपा के "रथयात्रा" कार्यक्रम को अनुमित दे दी और सांप्रदायिक अशांति की आशंका के आधार पर रैलियां निकालने की मंजूरी देने से इनकार करने के राज्य सरकार के फैसले को दरकिनार कर दिया। न्यायमूर्ति तपब्रत चक्रवर्ती ने अपने आदेश में कहा कि यदि प्रशासनिक अधिकारी मनमाने तरीके से विवेकाधिकार का इस्तेमाल करेंगे तो अदालतें दखल दे सकती हैं। अदालत के आदेश के बाद भाजपा तीन चरण के अपने प्रस्तावित कार्यक्रम के लिए 28-31 दिसंबर के दौरान अंतरिम नयी तारीखों के साथ सामने आ गयी।

    भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा, ‘‘हम अदालत के फैसले का स्वागत करते हैं... आज हमारी पार्टी पदाधिकारियों के साथ बैठक हुई। अंतरिम नयी तारीखें 28, 29 और 31दिसंबर हैं। फिलहाल अंतिम रुप से कुछ भी तय नहीं हुआ है। हम इसके बारे में राज्य सरकार को सूचित करेंगे।’’ भाजपा सूत्रों के अनुसार पार्टी अध्यक्ष अमित शाह राज्य में इन तीनों यात्राओं को रवाना करेंगे।

    11:28 (IST)21 Dec 2018
    गिरिराज सिंह का प्रहार- राजनीतिक फायदे को कांग्रेस ने बापू का नाम किया इस्तेमाल

    केन्द्रीय सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग राज्य मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा है कि कांग्रेस ने महात्मा गांधी के नाम का इस्तेमाल हमेशा राजनीतिक फायदा उठाने के लिए किया है। पार्टी ने उनकी नीतियों को आजादी के बाद ही दफन कर दिया था। गुरुवार (20 दिसंबर) को झारखंड में राष्ट्रीय खादी एवं सरस मेले के उद्घाटन समारोह में वह बोले, "जब नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बने तो उन्होंने लोगों से अपील की, "खादी सिर्फ परिधान नहीं है बल्कि वह एक विचार है। अगर आप एक खादी का उत्पाद खरीदते हैं तो उससे एक घर में दिया जलता है, क्योंकि इस खरीद का पैसा सीधे किसी गरीब, बुनकर, कारीगर अथवा हस्तशिल्पी के घर जाता है।"

    बकौल केंद्रीय मंत्री, "मोदी की अपील के बाद वर्ष 2014-15 की खादी की कुल 811 करोड़ रुपए की बिक्री की तुलना में इस वर्ष इसमें तीन गुने का इजाफा हुआ है। अब तो स्कूल-कालेज जाने वाले छात्र और कार्यालय जाने वाले लोग प्रधानमंत्री का अनुसरण कर करके बड़े शौक से खादी जैकेट पहनते हैं।" उनके मुताबिक, "आने वाले समय में गौ माता एवं मांएं मिलकर हमारी ग्रामीण अर्थव्यवस्था को नया स्वरूप प्रदान करेंगी।" 

    Next Stories
    1 भूपेंद्र यादव पहुंचे पासवान के घर, हाथ पकड़ पिता-पुत्र को ले आए अमित शाह के पास, पर नहीं तोड़ी चुप्पी!
    2 ‘मैं अपने बेटे का भी गुरु नहीं,’ राहुल गांधी के गुरु वाले सवाल पर बोले दिग्विजय सिंह, दिए कई दिलचस्प जवाब
    3 48 घंटे में पासवान के दो नए दांव: भाजपा से सीट बढ़ाने की मांग, नोटबंदी पर भी मांगा लाभ-हानि का ब्यौरा
    ये पढ़ा क्या?
    X