ताज़ा खबर
 

Lok Sabha Election 2019: टीवी डिबेट में बीजेपी नेता को आया गुस्सा, कैमरों के सामने किसान नेता को जूते से मारने के लिए दौड़े!

Election 2019: सहारनपुर में एक किसान नेता की बात इतनी बुरी लगी कि बीजेपी ने जूता निकालकर पीटने के लिए बढ़ चले। बाद में बीजेपी नेता ने आरोप लगाया कि किसान नेता कांग्रेस का एजेंट है।

डिबेट के दौरान जूता निकाल हमलावर हो गए बीजेपी नेता। (फोटो सोर्स: सोशल मीडिया)

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में आयोजित एक लोकल न्यूज चैनल के डिबेट शो में बीजेपी नेता ने अपना आपा खो दिया। बीजेपी के जिला अध्यक्ष विजेंद्र कश्यप डिबेट के दौरान एक किसान नेता की टिप्पणी पर ऐसे उखड़े की उन्होंने अपना जूता निकाला और उन्हें पीटने के लिए दौड़ पड़े। बुधवार को शहर के मिशन कंपाउंड पार्क में एक डिबेट आयोजित किया गया था। इसमें शो में तमाम दलों के लोग भी पहुंचे हुए थे।

जानकारी के मुताबिक कश्यप ने दावा किया था कि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दबाव की वजह से 60 फीसदी से अधिक किसानों की बकाया धनराशि चीनी मीलों ने भुगतान कर दिए हैं। इसके जवाब में भारतीय किसान यूनियन से जुड़े अरुण राणा ने तुरंत टोकते हुए कहा, “मेरे पास गन्ना विभाग के आंकड़े मौजूद हैं। जिनके मुताबिक बीते दो सालों में सिर्फ 15 फीसदी गन्ना किसानों का बकाया भुगतान किया गया। इसी बात पर बगल में बैठे कश्यप उखड़ गए और अपने पैर से एक जूता निकालते हुए कुर्सी से उठे और राणा की तरफ हमलावर होकर बढ़ चले।

जैसे ही बीजेपी नेता विजेंद्र कश्यप ताव में आए उनके कार्यकर्ताओं ने उन्हें रोक लिया। कार्यकर्ताओं ने उन्हें कैमरे के सामने इस हरकत पर काबू पाने की सलाह दी। जब यह घटना हुई तब वहां मौजूद भीड़ ने भी मोबाइल से मामले का वीडियो बना लिया। अब सोशल मीडिया पर यह वीडियो काफी वायरल हो रहा है। वीडियो में देखा जा सकता है कि बीजेपी के जिला अध्यक्ष पैर से जूते लहराते हुए सामने बैठे किसान नेता पर हमला बोलने की कोशिश करते हैं।

घटना के बाद कश्यप ने मीडिया से बातचीत में आरोप लगाया कि राणा कांग्रेस का एजेंट हैं और वह कार्यक्रम को खराब करना चाह रहे थे। हालांकि, इस घटना ने पिछले दिनों उत्तर प्रदेश के ही संत कबीर नगर में शरद त्रिपाठी बनाम राकेश सिंह बघेल प्रकरण को याद दिला दिया है। उस दौरान त्रिपाठी और बघेल में ऐसी कहा सुनी हुई कि त्रिपाठी ने अपना जूता निकाला और ताबड़तोड़ रूप से बघेल पर बरसा दिए।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 मिशन शक्ति: चुनाव आयोग से पूछे बिना पीएम ने की घोषणा, पूर्व CEC बोले- नहीं करना चाहिए था
2 Indian Railways: सेंट्रल रेलवे के स्टेशनों पर नहीं मिलेगा लेमन और अन्य सिरप जूस, पर क्यों?
3 पीएम मोदी को लेकर बदले शिवसेना के बोल, स्पेस स्ट्राइक पर कहा- मोदी है तो मुमकिन है