ताज़ा खबर
 

‘जुल्म ही मोदी सरकार की इंसानियत है?’, मजदूरों पर मार को लेकर कांग्रेसी कीर्ति आजाद का ट्वीट, लोग कर रहे ऐसे कमेंट्स

किर्ती आजाद ने लिखा "जुल्म करना ही मोदी सरकार की इंसानियत है क्या? वजिरेआजम थोड़ी इंसानियत रखो, जीवन जीने का अधिकार अमीरों को नहीं ग़रीबों को भी है। सत्ता में बैठकर मनमानी करना क्रूर मानसिकता का परिचायक है।"

कीर्ति आजाद ने ट्वीट कर मोदी सरकार पर साधा निशाना।

कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए किए गए लॉकडाउन से मजदूरों को दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। लॉकडाउन के चलते लाखों प्रवासी मजदूर बेरोजगार हो गए हैं। उनके पास ना तो काम है ना ही खाने- पीने का समान खरीदने के लिए पैसे। ऐसे में शहर में रह रहे प्रवासी मजदूर अपने घर वापस जाने के लिए मजबूर हैं। ये मजदूर पैदल नेशनल हाईवे के जरिए, या पटरी के रास्ते, या किसी बहन में छिपकर राज्यों की सीमा पार करने की कोशिश कर रहे हैं। भूखे पेट बच्चे, लड़खड़ाते बुजुर्ग औए बदहाली और दुखों से परेशान मजदूर पैदल, साइकिलों और ट्रकों में ठुसकर घरों की तरफ जा रहा है। परेशान मजदूरों की कुछ तस्वीरें पूर्व सांसद व कांग्रेसी नेता किर्ती आजाद ने ट्वीट की हैं और सरकार को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया है।

किर्ती आजाद ने लिखा “जुल्म करना ही मोदी सरकार की इंसानियत है क्या? वजिरेआजम थोड़ी इंसानियत रखो, जीवन जीने का अधिकार अमीरों को नहीं ग़रीबों को भी है। सत्ता में बैठकर मनमानी करना क्रूर मानसिकता का परिचायक है।” इसके साथ किर्ती ने मजदूरों की कुछ तस्वीरें भी शेयर की हैं जिसमें वे बेहद परेशान दिख रहे हैं। इसपर कुछ लोग किर्ती को ट्रोल भी कर रहे हैं। एक यूजर ने लिखा ” आप पाकिस्तान के वजिरेआजम से बात करें, यहां तो प्रधानमंत्री हैं।” एक अन्य ने लिखा “आप भी पास बनवा के निकाल लो या जेटलीजी के थप्पड़ से अब भी सर भन्न रहा है।”

Coronavirus Live update: यहां पढ़ें कोरोना वायरस से जुड़ी सभी लाइव अपडेट.

कुछ लोगो ने इस मामले में किर्ती का समर्थन भी किया। एक ने लिखा “सरकार सिर्फ प्रवचन दे रही है और मोदी भक्त उसे विकास समझ बैठे हैं। आज रात 8 बजे फिर से कोई नयी मुसीबत लाएगा ये सपनों का सौदागर।” एक ने ट्रक में जाते कुछ गरीबों की तस्वीर शेयर कर लिखा ” देश का आम आदमी, मजदुर, मजबूर गरीब आदमी बुलेट ट्रेन में बैठते हुए है।”


बता दें अपने राज्य पैदल वापस जा रहे मजदूर हादसे का शिकार भी हो रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो अब तक देश में घर वापसी के लिए निकले 70 से अधिक मजदूरों की मौत हो चुकी है। हाल ही में औरंगाबाद में 16 मजदूरों को एक मालगाड़ी ने रौंद दिया था तो मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर में पाठा गांव के पास ट्रक पलटने से 5 मजदूरों की मौत हो गई थी।

Coronavirus/COVID-19 और Lockdown से जुड़ी अन्य खबरें जानने के लिए इन लिंक्स पर क्लिक करें: शराब पर टैक्स राज्यों के लिए क्यों है अहम? जानें, क्या है इसका अर्थशास्त्र और यूपी से तमिलनाडु तक किसे कितनी कमाई । शराब से रोज 500 करोड़ की कमाई, केजरीवाल सरकार ने 70 फीसदी ‘स्पेशल कोरोना फीस’ लगाई । लॉकडाउन के बाद मेट्रो और बसों में सफर पर तैयार हुईं गाइडलाइंस, जानें- किन नियमों का करना होगा पालन । भारत में कोरोना मरीजों की संख्या 40 हजार के पार, वायरस से बचना है तो इन 5 बातों को बांध लीजिये गांठ…। कोरोना से जंग में आयुर्वेद का सहारा, आयुर्वेदिक दवा के ट्रायल को मिली मंजूरी ।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 India Lockdown Extension: नए नियमों के साथ 17 मई के बाद भी जारी रहेगा लॉकडाउन
2 कोरोना, लॉकडाउन के बीच PM नरेंद्र मोदी का संबोधन आज, आगे की नीति के लिए देश से मांग सकते हैं ‘साथ’
3 Indian Railways IRCTC Train: गांव जाने की ऐसी बेताबी, कहीं छूट न जाए स्पेशल ट्रेन, आधी रात 2 बजे ही घर से नई दिल्ली स्टेशन को निकला शख्स
ये पढ़ा क्या?
X