ताज़ा खबर
 

Lockdown 5.0 Guidelines: 30 फीसदी उपस्थिति की शर्त के साथ खुल सकते हैं स्कूल, जानें- लॉकडाउन 4.0 से कैसे अलग हो सकता है लॉकडाउन 5.0?

Lockdown 5.0 Guidelines: लॉकडाउन 5.0 ऐसे 11 शहरों में लागू किया जा सकता है जहां देशभर के 70 फीसदी कोरोना केस हैं। दिल्ली, बेंगलुरु, पुणे, इंदौर, अहमदाबाद, जयपुर, सूरत, मुंबई और कोलकाता कुछ ऐसे शहर हैं जिन्हें एक जून से लॉकडाउन 5.0 के प्रतिबंधों का सामना करना पड़ सकता है।

covid-19तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है।

Lockdown 5.0 Guidelines: कोरोना वायरस महामारी के प्रकोप को नियंत्रित करने के लिए देश में लागू लॉकडाउन का चौथा चरण अब खत्म होने वाला है। ऐसे में इस बात के कयास लगाए जा रहे हैं है कि क्या प्रतिबंधों का एक और चरण लागू होगा या ये हटा दिए जाएंगे। संभावना है कि लॉकडाउन 5.0 चौथे चरण से पूरी तरह से अलग ना हो लेकिन ज्यादा घनी आबादी वाले या कोरोना वायरस वाले क्षेत्रों में इसे लागू किया जाए।

इंडिया टुडे की एक रिपोर्ट के मुताबिक लॉकडाउन 5.0 ऐसे 11 शहरों में लागू किया जा सकता है जहां देशभर के 70 फीसदी कोरोना केस हैं। दिल्ली, बेंगलुरु, पुणे, इंदौर, अहमदाबाद, जयपुर, सूरत, मुंबई और कोलकाता कुछ ऐसे शहर हैं जिन्हें एक जून से लॉकडाउन 5.0 के प्रतिबंधों का सामना करना पड़ सकता है। देश में 1.50 लाख से अधिक मामलों में से अहमदाबाद, दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और पुणे में 60 फीसदी से अधिक कोरोना केस दर्ज किए जा चुके हैं।

लॉकडाउन 5.0 के नियम-
पांचवे चरण में धार्मिक स्थलों में प्रवेश करने में आसानी हो सकती है। कर्नाटक ने पहले ही घोषणा कर दी है कि 31 मई के बाद धार्मिक स्थलों को फिर से खोल दिया जाएगा। 31 मई लॉकडाउन 4.0 का आखिरी दिन है। हालांकि मेले, त्योहारों और सामूहिक सभाओं सहित धार्मिक आयोजन की अनुमति देने की अभी भी संभावना नहीं है। इसके अतिरिक्त मास्क पहनना और सख्त सामाजिक दूरी के प्रोटोकॉल का पालन करना अनिवार्य होगा।

Coronavirus in India LIVE updates

हॉटस्पॉट छोड़कर अन्य क्षेत्रों में जिम खोलने की अनुमति दी जा सकती है। सैलून और पार्लरों को चौथे चरण में ही खोलने की अनुमति दे दी गई थी। लॉकडाउन के अगले चरण में भी शैक्षणिक संस्थान खुलने की संभावना नहीं है। हालांकि कुछ रिपोर्ट में कहा गया है कि स्कूल 30 फीसदी उपस्थिति के साथ फिर से खुल सकते हैं और ऐसा केवल कक्षा आठ के छात्रों के लिए होगा। सामाजिक दूरी के प्रोटोकॉल को बनाए रखने के लिए कक्षाएं को शिफ्ट ऑर्डर में बांटा जा सकता है।

इसके अतिरिक्त विवाह और अंतिम संस्कार के लिए नियम जो सीमित लोगों की उपस्थिति की अनुमति देते हैं, वैसे ही बने रहने की संभावना है। रेलवे और घरेलू उड़ानों की अनुमति मिल सकती है, हालांकि इसके साथ यात्रियों को आरोग्य सेतु एप मोबाइल में रखना अनिवार्य होगा।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories