ताज़ा खबर
 

संसद ठप होने से फिर नाराज हुए एलके आडवाणी, कहा- साेचता हूं इस्‍तीफा दे दूं, अटलजी होते तो…

आडवाणी ने इससे पहले भी सदन न चलने को लेकर दुख जताया था।
लालकृष्ण आडवाणी (फाइल फोटो)

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्‍ठ नेता लालकृष्‍ण आडवाणी ने संसद के बार-बार स्‍थगित होने पर फिर रोष जताया है। कुछ सांसदों से बातचीत में उन्‍होंने कहा कि ‘मुझे लगता है कि इस्‍तीफा दे दूं।’ टीएमसी सांसद इदरीस अली ने बताया कि आडवाणी ने कहा कि ‘अगर आज संसद में अटल जी होते तो वह भी परेशान होते।” अली ने बताया कि आडवाणी ने कहा, ”कोई जीते या हारे, इस सब हंगामे से संसद की हार हो रही है। स्‍पीकर से बात करके कल चर्चा होनी चाहिए।” इदरीस अली के अनुसार, आडवाणी ने कहा, ”जो भी चल रहा है, मैंने संसद में ऐसा नजारा पहले कभी नहीं देखा है। चर्चा होनी चाहिए। मेरा मन इस्‍तीफा देने का करता है।” इदरीस के अनुसार जब उन्‍होंने आडवाणी से उनकी सेहत के बारे में पूछा तो उन्‍होंने कहा कि ‘मेरी सेहत तो ठीक है मगर संसद की सेहत ठीक नहीं है।’ इस संबंध में केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने कहा है कि ‘पूरा देश जानता है कि कौन संसद ठप कर रहा है। वरिष्‍ठ नेता होने के नाते संसद की स्थिति पर आडवाणी जी बेहद दुखी हैं।’

आडवाणी ने इससे पहले 9 दिसंबर को कहा था कि हमारे लोगों (सत्ता पक्ष) ने ही हंगामा करके संसद नहीं चलने दिया। उन्होंने सांसदों और लोकसभा चलाने की जिम्मेदार लोकसभा अध्यक्ष और संसदीय कार्यमंत्री आदि के कामकाज पर परसों टिप्पणी करके नोटबंदी का संकट झेल रही भाजपा की परेशानी को ज्यादा बढ़ा दिया था। उसके बाद दूसरे वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी और शांता कुमार ने भी उसी तरह की नाराजगी जताई और लिखित में लोकसभा अध्यक्ष को दिया।

7 दिसंबर को संसद नहीं चलने पर आडवाणी लोकसभा अध्यक्ष और संसदीय कार्यमंत्री पर भड़क गए थे। लंच से पहले 15 मिनट के लिए सदन को स्थगित करने से पहले आडवाणी ने कहा था, ‘ना ही स्पीकर और ना ही संसदीय कार्यमंत्री सदन चला रहे हैं। मैं स्पीकर के पास यह कहने जा रहा हूं कि वे सदन नहीं चला रही हैं। मैं इसे सार्वजनिक तौर पर कहने जा रहा हूं।’ इस दौरान कुमार चुपचाप उन्हें सुनते रहे। साथ ही अनंत ने मीडिया गैलरी की ओर इशारा करते यह भी कहा कि उनकी यह टिप्पणी मीडिया में रिपोर्ट कर दिया जाएगा।

जब सदन को स्थगित किया गया तो आडवाणी ने लोकसभा के एक अधिकारी से पूछा कि सदन कितने बजे तक के लिए स्थगित किया गया है। जब उन्हें बताया कि दो बजे तक तो उन्होंने कहा, ‘अनिश्चित काल तक क्यों नहीं कर देते?’

संसद का शीतकालीन सत्र शुक्रवार को समाप्‍त हो रहा है और पूरे सत्र में कोई प्रभावी कामकाज नहीं हो सका। नोटबंदी व अन्‍य मुद्दों को लेकर विपक्ष के हंगामे के चलते एक दिन भी संसद की कार्रवाई सुचारू रूप से नहीं चल सकी। लोकसभा और राज्यसभा, दोनों जगह नोटबंदी पर बहस में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी को लेकर विपक्ष अड़ा रहा है।

नशे में धुत्‍त बीजेपी विधायक ने बीच सड़क पर किया डांस, गोली भी चलाई, देखें वीडियो:

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. A
    Avi
    Dec 15, 2016 at 12:58 pm
    भूल गए जब आप संसद में कार्यवाही को बाधित करते थे?
    (0)(0)
    Reply
    1. F
      firoz
      Dec 15, 2016 at 10:48 am
      जल्दी से मिठाई खरीद ले ?
      (0)(0)
      Reply
      1. L
        lalan kumar
        Dec 15, 2016 at 10:30 am
        HIGHJACK BJP KO PAHALE MUKT KARAIYE ADVANI JI, WARNA PARTY KE SATH DESH BHI BARBAAD HO JAYEGA !! EK NITI KE TAHAT MODI & PARTY NE AAPKE KAD KO KUPRACHAR DWARA CHHOTA KAR BJP PAR KABJA KIYA HAI- EISE SAMAJHEN !!
        (0)(0)
        Reply
        1. P
          Parth Garg
          Dec 15, 2016 at 8:20 am
          सिर्फ लगता ही है . इस्तीफा देंगे नहीं.
          (0)(0)
          Reply
          1. S
            surendra
            Dec 15, 2016 at 10:35 am
            Phr de do resign i kbi apne hi atal ji ko rajniti se bahar krwa diya r vaise ap khud to pehle uska palan kr le apko to is age me retire ho jana chaiye pr pta ni ap gaddi se chipak kr ku baithe he atal ji ne to sahi time pr hi retirement le liya ta pr ap pta ni ku
            (0)(0)
            Reply
            1. Load More Comments