ताज़ा खबर
 

ईवीएम दबाने वाले ‘एके-47’ दबाने वालों से ज़्यादा ताकतवर: नरेंद्र मोदी

जम्मू-कश्मीर में तीन दिन पहले हुए जानलेवा आंतकवादी हमले के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज यहां कहा कि ईवीएम पर दबाई गयी उंगली एके-47 पर दबायी जाने वाले वाली उंगली से अधिक ताकतवर है। उन्होंने साथ ही राज्य के लोगों से भाजपा को एक निर्णायक जनादेश देने की भी अपील की। मोदी ने साथ […]
Author December 8, 2014 15:08 pm
विश्व समुदाय के बीच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ऊर्जावान नेता के रूप में प्रसिद्ध हुए। बारह महीनों में 18 देशों की उनकी यात्रा किसी रिकॉर्ड से कम नहीं है।(फाइल फोटो-पीटीआई)

जम्मू-कश्मीर में तीन दिन पहले हुए जानलेवा आंतकवादी हमले के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज यहां कहा कि ईवीएम पर दबाई गयी उंगली एके-47 पर दबायी जाने वाले वाली उंगली से अधिक ताकतवर है। उन्होंने साथ ही राज्य के लोगों से भाजपा को एक निर्णायक जनादेश देने की भी अपील की। मोदी ने साथ ही कहा कि विस्थापित लोगों का पुनर्वास राष्ट्र की जिम्मेदारी है और उनकी सरकार इन लोगों का पुनर्वास सुनिश्चत करेगी।

प्रधानमंत्री ने राज्य में कल होने वाले तीसरे चरण के चुनाव से पहले आज यहां एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘ईवीएम पर दबाई गयी उंगली एके-47 के ट्रिगर पर दबायी जाने वाले वाली उंगली से अधिक ताकतवर हैं।’’

गौरतलब है कि तीन दिन पहले उरी में पाकिस्तानी आतंकवादियों द्वारा किए गए एक जानलेवा हमले में सेना के एक लेफ्टिनेंट कर्नल समेत 11 सुरक्षाकर्मी मारे गए थे।
मोदी ने कहा कि गुमराह युवा अब एके 47 के बोझ को महसूस कर रहे हैं और अपने हाथों में एंड्रॉयड वन (मोबाइल फोन का ऑपरेटिंग सिस्टम) चाह रहे हैं।

उन्होंने राज्य के ‘वंशवादी शासन’ की आलोचना की और कहा कि जम्मू-कश्मीर में एक स्थायी सरकार की जरूरत है। उन्होंने नेशनल कांफ्रेंस और पीडीपी शासन की तरफ अप्रत्यक्ष इशारा करते हुए कहा, ‘‘आपने बाप बेटे का शासन देखा है। आपने बाप बेटी का शासन देखा है। उन्होंने आपके लिए कुछ किया?’’

मोदी ने कहा कि राज्य में एक बहुमत वाली सरकार, भाजपा सरकार की जरूरत है। उन्होंने कहा कि राज्य के युवा को रोजगार एवं विकास चाहिए जो केवल भाजपा दे सकती है। प्रधानमंत्री ने एक बार फिर अनुच्छेद 370 खत्म करने के विवादास्पद मुद्दे का कोई जिक्र नहीं किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.