ताज़ा खबर
 

Karnataka Bandh: बेंगलुरु के टाउन हॉल में जुटे प्रदर्शनकारी, शहर में सुरक्षा कड़ी

Karnataka Bandh (कर्नाटक बंद): गुरुवार को बेंगलुरु मेट्रो चलती रहेगी। इसके अलावा ओला,उबर जैसी कैस सेवाएं भी चलेंगी। हालांकि ऑटोरिक्‍शा ड्राइवर्स एसोसिएशन ने बंद को समर्थन दिया है और गुरुवार को ऑटो नहीं चलेंगे।

Karnataka Bandh Today: राज्‍य में गुरुवार को फिल्‍मों की शूटिंग नहीं हो सकेगी।

प्रो-कन्‍नड़ संस्थाओं ने 25 जनवरी को राज्‍य-व्‍यापी कर्नाटक बंद का आह्वान किया है। संगठनों की मांग है कि केंद्र सरकार महादयी नदी जल बंटवारे के मुद्दे पर दखल दे। बंद के चलते आम जन-जीवन पर असर पड़ने की आशंका है। राज्‍य की सरकारी कर्मचारियों की एसोसिएशन ने बंद का समर्थन किया है, ऐसे में गुरुवार को सरकारी कार्यालय बंद रह सकते हैं। दिग्‍गज आईटी कंपनी विप्रो ने कर्नाटक में आज छुट्टी की घोषणा की है। कंपनी ने एक बयान में कहा कि महत्‍वूपर्ण प्रोजेक्‍ट्स में खलल न पड़े इसके लिए बिजनेस कॉन्टिन्‍युटी प्‍लान लागू कर दिया गया है। विप्रो के अलावा एक्‍सेंचर ने भी छुट्टी की घोषणा की है। बेंगलुरु में प्राइवेट स्‍कूल बंद रखे गए हैं। कर्नाटक बंद के मद्देनजर यहां 15 हजार पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। कर्नाटक के मुख्‍मंत्री सिद्धारमैया ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है। इसके अलावा सभी जिलाधिकारियों को कहा गया है कि वे यह तय करें कि उनके इलाके में सरकार स्‍कूल बंद रखने हैं या नहीं। कर्नाटक बंद के चलते बैंगलोर यूनिवर्सिटी और विश्‍वेश्‍वरैया टेक्‍नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी ने अपनी परीक्षाएं टाल दी हैं। पहले परीक्षाएं 25 जनवरी को होनी थी, जो अब 6 फरवरी को कराई जाएंगी। राज्‍य में सार्वजनिक परिवहन सामान्‍य रूप से चलता रहेगा।

हालांकि कर्नाटक परिवहन निगम कर्मचारी संघ (KSRTC) ने कहा है कि उत्‍तर-पश्चिम कर्नाटक सड़क परिवहन निगम के ड्राइवरों ने बंद के समर्थन का फैसला किया है, ऐसे में उत्‍तरी कर्नाटक में बसों के आवागमन में दिक्‍कत आ सकती है। KSRTC ने कहा है कि ‘अगर हमारे कर्मचारियों व यात्रियों की सुरक्षा खतरे में पड़ती है तो हम काम रोक देंगे, अन्‍यथा सभी सेवाएं सुचारू रूप से चलती रहेंगी। कर्नाटक के गृहमंत्री रामलिंगा रेड्डी ने विरोध कर रहे संगठनों से कहा कि वे यह सुनिश्चित करें कि बंद के दौरान किसी तरह की हिंसा या तोड़फोड़ न हो।

– एक्टर प्रकाश राज ने भी महादयी नदी के पानी बंटवारे को लेकर चल रहे विवाद पर अपनी राय व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि हम लोगों के पास ‘पानी का अधिकार’ है। दूसरी तरफ, खबर है कि बेंगलुरु में कुछ जगहों पर बसों का परिचालन अब शुरू हो गया है।

– बंद के मद्देनजर बेंगलुरु और कुछ अन्य शहरों की सड़कों से राज्य परिवहन की बसें नदारद हैं। इस वजह से यहां के लोगों को यात्रा करने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। हालांकि ऑटो रिक्शा सड़कों पर दिखाई दे रहे हैं लेकिन इनकी संख्या भी आम दिनों की तुलना में काफी कम है।

– बंद के बावजूद बेंगलुरु में हॉस्पिटल्स और क्लिनिक्स खुले हुए हैं और यहां पर इलाज कार्य सामान्य ढंग से चल रहा है। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के पदाधिकारियों का कहना है कि वे लोग काला फीता बांधकर आज के दिन काम करेंगे और उनका नैतिक समर्थन प्रदशर्नकारियों के साथ है। हांलाकि फिल्म इंडस्ट्री और मल्टिप्लेक्स गुरुवार को बंद हैं।

– महादयी नदी के जल बंटवारे को लेकर कर्नाटक में गुरुवार को बुलाए गए बंद के दौरान बेंगलुरु में प्रदर्शन शुरू हो गए हैं। भारी संख्या में प्रदर्शनकारी बेंगलुरु के टाउन हॉल में एकजुट हो चुके हैं। उनके हाथों में बैनर भी देखे जा सकते हैं।


– बंद को देखते हुए एहतियात के तौर पर शहर के टाउन हॉल इलाके में करीब 100 पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। इसके साथ ही सम्भावित आगजनी से निपटने के लिए सड़कों पर फायर ब्रिगेड की गाड़ियां पर नजर आ रही हैं।

– कर्नाटक के कालाबुरागी शहर में इस बंद का असर नहीं दिख रहा है। कालाबुरागी में सुबह के समय लोगों का जन-जीवन सामान्य ढंग से चल रहा है। शहर में दुकानें खुली हुई हैं और लोग अपने-अपने काम पर जा रहे हैं।

– बंद का समर्थन कर रहे फिल्‍म निर्माता सा रा गोविंदू ने पत्रकारों से कहा, ”यह 30 साल पुरानी लड़ाई है। हम गोवा सरकार से 7.5 मिलियन क्‍यूबिक फिट पानी चाहते हैं। अगर वह 98 टीएमसी पानी समुद्र में छोड़ सकते हैं तो हमें पीने का पानी क्‍यों नहीं दे सकते? प्रधानमंत्री क्‍या कर रहे हैं? प्रधानमंत्री को हस्‍तक्षेप कर इसे सुलझाना चाहिए। उन्‍हें अपना मत स्‍पष्‍ट करना चाहिए।

– भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह की आज मैसूर में ‘परिवर्तन रैली’ है। इसके लिए मैसूर रेलवे स्‍टेशन पर कर्नाटक पुलिस के 30 जवान और आरपीएफ के 30 रंगरूट तैनात किये गए हैं। बेंगलुरु के टाउनहॉल के ठीक बाहद 500 पुलिसकर्मी तैनात किये गए हैं। यहां पर विरोध का सबसे ज्‍यादा प्रभाव देखने को मिल सकता है। यहां से एक जुलूस शुरू होकर दो किलोमीटर दूर स्‍वतंत्रता पार्क में खत्‍म होगा।

– राज्‍य में बीजेपी विपक्ष में है, उसने 25 जनवरी और 4 फरवरी को बंद का आह्वान को ‘राजनैतिक कदम’ बताया है। पार्टी ने आरोप लगाया कि तारीखों के चुनाव में कांग्रेस सरकार का हाथ है क्‍योंकि भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इन्‍हीं तारीखों पर कर्नाटक जाने वाले हैं।

– पेट्रोल पंप, अस्‍पताल और दवा की दुकानें खुली रहेंगी। ब्रुहत बेंगलुरु केमिस्‍ट्स एंड ड्रगिस्‍ट्स एसोसिएशन ने बंद को समर्थन दिया है, इसलिए सभी एक काली पट्टी पहनकर काम करेंगे। गुरुवार को बेंगलुरु मेट्रो चलती रहेगी। इसके अलावा ओला,उबर जैसी कैस सेवाएं भी चलेंगी। हालांकि ऑटोरिक्‍शा ड्राइवर्स एसोसिएशन ने बंद को समर्थन दिया है और गुरुवार को ऑटो नहीं चलेंगे। राज्‍य में गुरुवार को फिल्‍मों की शूटिंग नहीं हो सकेगी। बहुत सारे थियेटर्स ने बंद के चलते ‘पद्मावत’ फिल्‍म को एक दिन पहले ही रिलीज कर दिया है।

– अट्टीबेले में लोगों ने सड़क पर लोटकर प्रदर्शन किया जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है।

– बंध के साथ-साथ कर्नाटक परिवहन निगम के कर्मचारियों का धरना भी गुरुवार को ही है। यह कर्मचारी वेतन में बढ़ोत्‍तरी की मांग को लेकर धरने पर बैठेंगे। कई संगठनों ने बंद का समर्थन किया है। यह विवाद महानदी पर कलसा-बंदूरी बांध प्रोजेक्‍ट को ना लागू करने पर है। इस बांध के जरिए मांडोवी नदी का पानी उत्‍तरी कर्नाटक की तरफ जाएगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App