ताज़ा खबर
 

Independence Day Speech 2016: पीएम मोदी बोले- टालना नहीं, टकराना जानते हैं

Independence Day Speech 2015: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीसरी बार लाल किले की प्राचीर से राष्‍ट्र को संबाेधित किया।

Author नई दिल्ली | September 21, 2016 1:04 AM
लाल किले से देश को संबाेधित करते पीएम मोदी। (Source: Twitter)

भारत आज अपना 70वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी देशवासियों को अपने ट्विटर हैंडल से स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं दी हैं। सुबह करीब 7 बजे राजघाट पहुंचकर प्रधानमंत्री ने राष्‍ट्रपिता महात्‍मा गांधी को श्रद्धासुमन अर्पित किए। पीएम मोदी सुबह 7.12 बजे लाल किले के लाहौरी गेट पहुचे। वहां उनका स्वागत रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने किया। प्रधानमंत्री के लाल किले के लाहौरी गेट पहुंचने पर उनकी अगवानी रक्षा मंत्री श्री मनोहर पर्रिकर, रक्षा राज्य मंत्री डॉ. सुभाष भामरे तथा रक्षा सचिव जी.मोहन कुमार ने की। रक्षा सचिव दिल्ली क्षेत्र के जनरल ऑफिसर कमांडिंग (जीओसी, दिल्ली क्षेत्र), लेफ्टिनेंट जनरल विजय सिंह का परिचय प्रधानमंत्री से कराया। समारोह स्‍थल पर दिल्‍ली के उप-राज्‍यपाल नजीब जंग, मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल, भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह और कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद मौजूद हैं।

दिल्ली क्षेत्र के जीओसी प्रधानमंत्री को सलामी मंच तक ले गए और वहां सम्मिलित अंतर सेवाओं तथा पुलिस गार्डों ने प्रधानमंत्री को सलामी दी। नरेन्द्र मोदी गार्ड ऑफ ऑनर (सम्मान गारद) का निरीक्षण किया। प्रधानमंत्री को सम्मान गारद प्रस्तुत करने वाले दस्ते में सेना, नौ सेना, वायु सेना तथा दिल्ली पुलिस के 24 जवान और एक-एक अधिकारी शामिल रहे। सम्मान गारद की स्थिति सीधे राष्ट्रीय ध्वज की ओर रही। इस वर्ष समन्वय का कार्य वायु सेना कर रही है। सम्मान गारद की कमान भारतीय वायु सेना के विंग कमांडर के.श्रीनिवासन संभाल रहे हैं। सम्मान गारद में थलसेना दस्ते की कमान मेजर महेश सिंह बिष्ट ने संभाली जबकि दिल्ली पुलिस की कमान एसीपी श्री प्रशांत प्रिय के हाथ में है।

# हम एक योजना लेकर आए हैं कि किसी गरीब परिवार को आरोग्‍य की सेवा का लाभ लेना है तो वर्ष में एक लाख रुपए तक का खर्च भारत सरकार उठाएगी।

# जहां आतंकवादी हमला होने पर जश्‍न मनाया जाता हो, वहां की सरकार कैसी होगी, पता नहीं मैं और जिक्र नहीं करना चाहता। पिछले कुछ दिनों में गिलगित, बलूचिस्‍तान, पीओके के लोगों ने जिस प्रकार मुझे धन्‍यवाद दिया है। जिन लोगों से मेरी कभी मुलाकात नहीं हुई है, ऐसे लोग हिंदुस्‍तान के प्रधानमंत्री का आदर करते हैं तो हम मेरे सवा सौ करोड़ देशवासियों का सम्‍मान है। मैं उनका आभार व्‍यक्‍त करना चाहता हूं।

# पेशावार में जब निर्दोष बच्‍चों को आत‍ंकियों ने मौत के घाट उतार दिया था। संसद की आंखों में आंसू थे। भारत का हर बच्‍चा पेशावर के बच्‍चों की मौत से सदमा महसूस कर रहा था। आतंकवाद से मरने वाला पेशावर का बच्‍चा भी हमें दुख देता था, यही है हमारी मानवता।

# हम सम्‍मान देना जानते हैं, हम सत्‍कार करना जानते हैं। हिंसा और अत्‍याचार को हमारे देश में कोई स्‍थान नहीं है। अगर भारत के सपनों को पूरा करना है तो हिंसा का मार्ग कभी काम नहीं आएगा। धरती माता रक्‍त से रंजित होती रही है, मगर किसी को कुछ हासिल नहीं हुआ। मैं उन नौजवानों को कहना चाहता हूं, ये देश आतंकवाद के सामने कभी नहीं झुकेगा। अभी भी समय है, लाैट आइए। अपने मां-बाप के सपनों की ओर देखिए। हिंसा का रास्‍ता कभी किसी का भला नहीं करता है।

# हमने कानूनन व्‍यवस्‍था की है कि रात को भी हमारी बहनें काम पर जा सकती हैं। ये वो सरकार है, हम चीजों को टालने में विश्‍वास नहीं करते हैं, टकराना जानते हैं। हम यहांं बैठे हैं, फौज में, सेना में कितने जवान काम कर रहे हैं। हम क्‍यों भूल जाएं उनको, यही तो वो लोग हैं जिनके कारण हम सुकून से जी रहे हैं। वन रैंक वन पेंशन को हमने पूरा किया।

# सामाजिक न्‍याय के अधिष्‍ठान पर ही सशक्‍त समाज का निर्माण होता है। इसलिए हमारा दायित्‍व है कि हम इस पर बल दें।

# देश कई महापुरुषों के जन्‍मदिन, जन्‍मशती वर्ष बना रहा है। रामानुजाचार्य कहते थे कि भगवान के सभी भक्‍तों को भेदभाव और ऊंच-नीच का ख्‍याल किए बिना ख्‍याल करो। जो बात गांधी ने कही, जो अंबेडकर ने कही, जो रामानुजाचार्य ने कही, जो वेदों ने कही, वह हमारी सामाजिक एकता है। बुराइयां हैं, सदियों पुरानी बुराइया हैं, लेकिन इलाज भी कठाेरता से ही करना होगा।

# आज किसान देश की किसी भी मंडी में अपना माल बेच सकता है। जीएसटी के द्वारा समानता का परिणाम आने वाला है।

# घर में एक महिला भी अगर शिक्षित है, आर्थिक रूप से स्‍वतंत्र है तो वह गरीब से गरीब परिवार को भी गरीबी से बाहर निकालने की ताकत रखती है।

# यूएन का अनुमान है कि दो साल में भारत 10वें से तीसरे पायदान पर आ जाएगा। वैश्विक स्‍तर पर हमारी पहचान पुख्‍ता हुई है। दुनिया के समृद्ध देशों के साथ तुलना होती है।: प्रधानमंत्री

# हमने आधार कार्ड को सरकारी योजनाओं से जोड़ा है। एक समय था, जब विधवा पेंशन, स्‍कॉलरशिप, विकलांगों के लिए कोई व्‍यवस्‍था हो, सरकारी खजाने से मदद जाती थी। लेकिन हमने देखा कि जिन्‍होंने जन्‍म ही नहीं लिया, उनका नाम भी लाभार्थियों की सूची में हैं। ये बिचौलिए अरबों, खरबों रुपए निकाल देते थे, हमने व्‍यवस्‍था बदल दी।

# हम पीएसयू को लाभ में लाने में कामयाब हुए हैं। चाहे वो एअर इंडिया हो, बीएसएनएल हो, शिपिंग कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया। आज कोयला दरवाजे पर खड़ा है, हमने यह काम किया है।

# हम डाकघरों को पुर्नजीवित करना चाहते हैं। डाकिये को हर काेई प्‍यार करता है, मगर हमारा ध्‍यान उसकी तरफ नहीं जाता। हमने पोस्‍ट ऑफिसेज को बैंक बनाने का बीड़ा उठाया है। इससे देश में बैंकों का जाल बिछेगा।

# गरीब मां को चूल्‍हे के धुएं से मुक्ति दिलाने का अभियान तेजी से चलाया है। तीन साल में हम यह काम पूरा करेंगे। हम 50 लाख लोगों तक पहुंच चुके हैं।

# उत्‍तर प्रदेश के अखबार देखोगे, गन्‍ना किसानों का हर साल बकाया रहता था। हम पीछे लग गए। पुराना हजारों करोड़ रुपए जो बकाया था, उसका 99.9 प्रतिशत भुगतान हो चुका है। इस साल गन्‍ना खरीदा गया, उसका 95 प्रतिशत पैसा चुका दिया गया है।

# ह‍म कितनी भी योजना बनाएं, कितना भी काम करें, लेकिन आखिरी व्‍यक्ति तक फायदा पहुंचे तो बात बने। जब साफ नीयत, स्‍प‍ष्‍ट नीति होती है तो बेझिझक निर्णय करके चीजों को आगे बढ़ा रही है।

# रेल प्रोजेक्‍ट की मंजूरी में दो-दो साल लग जाते थे। आज वो काम तीन महीने-चार महीने में हो जाते हैं।

# हमने सर झुकाकर पुरानी सरकारों के काम को भी उतनी ही तवज्‍जो दी है। मैं एक प्रगति कार्यक्रम चलाता हूं। हर महीने खुद रिव्‍यू करता हूं। साढ़े 18,000 करोड़ रुपए के प्रोजेक्‍ट जो लटके पड़े थे, उनको खोद कर निकाला और अब वो पूरे हो रहे हैं।

# एक तरफ हम रेलवे में बॉयो टायलेट की चर्चा करते हैं, तो दूसरी तरफ बुलेट, टैल्‍गो ट्रेन लाने का सपना देखते हैं। हम किसानों के लिए बात करते हैं, तो अंतरिक्ष में नए सैटेलाइट छोड़ने की बात करते हैं। हम आइसोलेटेड डेवलपमेंट की जगह पर इंटीग्रेटेड डेवलपमेंट पर ध्‍यान दे रहे हैं।

# सरकार की पहचान बनाने की परंपरा रही है। मैंने अपने आपको इस मोह से दूर रखने का प्रयास किया है। ट्रांसपेरेंसी के साथ ट्रांसफॉर्मेशन। हमें सरकार की पहचान बनाने से ज्‍यादा मेरे हिंदुस्‍तान की पहचान कैसे बने, उस पर बल है।

# हमने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना बनाई। हमने फसल के उत्‍पादन को संरक्षित करने के लिए नए भंडारण गृह खोले। फूड प्रोसेसिंग में 100 फीसदी एफडीआई दिया है, जिससे किसानों को फायदा होगा। मैं 2022 तक किसानों की आय को डबल करने का सपना देखता हूं।

# मैं देश के वैज्ञानिकों को बधाई देना चाहता हूं। उन्‍हाेंने 131 से ज्‍यादा नए कृषि योग्‍य बीज प्रदान किए हैं। जो प्रति हेक्‍टेयर उत्‍पादन बढ़ाने में योगदान दे रहे हैं। एक जमाना था कि खाद की ब्‍लैक मार्केटिंग होती थी। हम सबसे ज्‍यादा खाद का उत्‍पादन करने में सफल हुए हैं।

# किसान को जमीन है, अगर उसको पानी मिल जाए तो मेरे किसान में वह ताकत है कि वह मिट्टी से सोना उगा सकता है। हम माइक्रो इरिगेशन पर बल दे रहे हैं। कई सिंचाई योजनाएं बंद पड़ी थी, हमने उन्‍हें फिर से शुरू किया है।

# मैं किसानों का विशेष रूप से अभिनंदन करता हूं। किसान दलहन से दूर जा रहा था, लेकिन जब देश में दाल की कमी हुई तो किसान ने दाल की बुवाई डेढ़ गुना कर दी है। किसान से बढ़कर किसी का हाथ, हृदय नहीं।

# यह बात सही है कि पहले की सरकार में महंगाई दर 10 प्रतिशत को पार कर गई थी। हमने प्रयास कर महंगाई दर 6 प्रतिशत से ऊपर नहीं जाने दी। हमने रिजर्व बैंक से बात की है कि वह महंगाई को रोकने के लिए काम करे। दो साल देश में अकाल रहा, सब्जियों के दाम पर इसका प्रभाव तुरंत होता है। कुछ दिक्‍कतें जरूर आईं। इसके कारण दाल के उत्‍पादन में गिरावट भी चिंता का विषय बनी। इसके बावजूद भी जिस तरह पहले महंगाई बढ़ती थी, उसी तरह बढ़ी होती तो पता नहीं क्‍या होती।

# हमने वार्ता की और असंभव संभव हो गया। कतर ने अपने फैसले में बदलाव किया, हमने बात की और वे दामों में बदलाव को राजी हो गए। ईरान, अफगानिस्‍तान और हिंदुस्‍तान मिलकर चबाहार प्रोजेक्‍ट को बनाने के लिए आगे बढ़ते हैं तो असंभव, संभव हो जाता है।

# हमने 350 रुपए में बिकने वाला एलईडी बल्‍ब सरकार के हस्‍तक्षेप की वजह से अब 50 रुपए में बांट रहे हैं। मैं नहीं पूछना चाहता कि यह रुपए कहां गए। 13 करोड़ बल्‍ब बंट चुके हैं, 70 करोड़ बांटने का लक्ष्‍य है। आप भी घरों में एलईडी बल्‍ब लगाइए। हमारे घरों में एलईडी बल्‍ब लगेंगे तो 20,000 मेगावाट बिजली बचेगी।

# दिल्‍ली से 3 घंटे की दूरी पर एक गांव है नगला, फटेला। इस गांव में बिजली पहुंचने में 70 साल लग गए। हमने किस कार्यसंस्‍कृति से काम कर रहे हैं, इसका परिचय करा रहा हूं।

# इतने कम समय में हिन्‍दुस्‍तान के गांवों में दो कराेड़ से ज्‍यादा शौचालय बन चुके हैं। 1000 दिन में हम, उन 18,000 गांवों  में बिजली पहुंचाएंगे। आज मैं खुशी से कहता हूं कि हजार में आधे दिन भी नहीं हुए हैं, उसके बावजूद 10,000 गांवों में बिजली पहुंच गई है। आज वे पहली बार आजादी के इस जश्‍न को टीवी पर देख रहे हैं।

# जनधन योजना एक अंसभव काम था। 21 करोड़ नागरिकों को जनधन योजना में जोड़कर अंसभव को संभव किया। यह सरकार की क्रेडिट का विषय नहीं है, यह 125 करोड़ देशवासियों ने किया है। मैं उनका नमन करता हूं।

# हमने कानूनों के बोझ को भी कम करने का प्रयास किया है। हमने खोजबीन कर करीब 1,700 कानून निकाले हैं। संसद ने करीब 1,200 कानून खत्‍म कर दिए हैं, बाकी खत्‍म हो जाएंगे।

# एक तरफ 60 साल में 14 करोड़ गैस के कनेक्‍शन, हमने 7 सप्‍ताह में चार करोड़ लोगों को गैस कनेक्‍शन दिए। यह आम आदमी के जीवन-स्‍तर में बदलाव लाने की दिशा में प्रयास है।

# हमने चार करोड़ से बढ़ाकर 70 करोड़ नागरिकों को आधार और सार्वजनिक योजनाओं के साथ जोड़ने का काम पूरा कर लिया है।

# पिछले 10 साल में 1500 किलोमीटर नए रेल ट्रैक बने। आज दो साल में हम 3,500 किलोमीटर रेल ट्रैक बिछाने में कामयाब हुए हैं।

# रिन्‍यूएबल एनर्जी पर हमारा बल है। पूरा विश्‍व सोलर एनर्जी की तरफ बल दे रहा है। हमने 116 प्रतिशत की बढ़ोत्‍तरी की है। हमारे देश में हमारी सरकार बनने से पहले अगर ऊर्जा का उत्‍पादन है तो अच्‍छी ट्रांस‍मिशन व्‍यवस्‍था भी चाहिए। सरकार बनने के बाद आज 50,000 किलाेमीटर की ट्रांसमिशन लाइन बनी है।

# हमें अपने काम की रफ्तार को बढ़ाना पड़ेगा। हर गांववाले की यह कोशिश रहती है कि उसके गांव में पक्‍की सड़क हो। पहले 70-75 किलोमीटर का ग्रामीण सड़क का काम हुआ करता था, आज हम उसे 100 किलोमीटर प्रतिदिन तक ले गए हैं।

# पहले कंपनी रजिस्‍ट्रेशन में बहुत वक्‍त लगता था। हमने बहुत तेजी से बदलाव किए। मैंने पहले भाषण में कहा था कि ग्रुप सी और ग्रुप डी को साक्षात्‍कार से बाहर कर देंगे। सीधे मेरिट से नियुक्तियां होंगी। मेरे नौजवानों को इंटरव्‍यू के लिए खर्चा नहीं करना पड़ेगा। भ्रष्‍टाचारियों और दलालों का धंधा बंद कर दिया।

# सिर्फ 2015-16 में पौने दो करोड़ पासपोर्ट देने का काम हमने किया है : प्रधानमंत्री

# आम आदमी पुलिस से ज्‍यादा इनकम टैक्‍स से डरता था। सब ज्‍यादा पैसा दे जाते थे। मुझे यह व्‍यवस्‍था बदलनी है, बदलकर रहूंगा, मैं लगा हुआ हूं। हमने रिफंड की व्‍यवस्‍था की, अब टैक्‍स रिफंड कुछ ही हफ्तों में आ जाते हैं। शासन में सुराज के पारदर्शिता पर बल देना महत्‍वपूर्ण है।

# पहले एक मिनट में 2000 टिकट निकल पाते थे, आज एक मिनट में 15,000 रेल टिकट मिलना संभव हो सकता है। एक रिस्‍पांसिबल गवर्नमेंट, लोगों की बेहतरी के लिए किस प्रकार के कदम उठाती है।

# अब कई व्‍यवस्‍थाओं को बदल पाएं हैं। पहले एम्‍स में लोगों को महीनों इंतजार करना पड़ता था, हमने सब ऑनलाइन कर दिया। हम इसे देशव्‍यापी कल्‍चर के रूप में विकसित करना चाहते हैं। लेकिन इसका मूलमंत्र, शासन संवेदशनील होना चाहिए, शासन उत्‍तरदायी होना चाहिए।

# मैं सरकार के कामकाज का हिसाब आपके सामने रख सकता हूं। ब्‍योरा दिया तो सप्‍ताह भर बोलना पड़ेगा।: प्रधानमंत्री

# एक समय था जब सरकार आरोपों से घिरी होती थी, आज की सरकार अपेक्षाओं से घिरी हुई है। अपेक्षाएं सुराज की ओर जाने की गति को बढ़ाती हैं। : प्रधानमंत्री

# एक भारत श्रेष्‍ठ भारत का सपना पूरा करने का प्रयास करना चाहिए। स्‍वराज ऐसे नहीं मिला, हर किसी का जज्‍बा था कि देश आजाद हो।: प्रधानमंत्री

# भारत एक पुरातन राष्‍ट्र है। हजारों साल का हमारा इतिहास और विरासत है। भीम से भीमराव तक, उपनिषद से उपग्रह तक विविधताओं से भरा देश है हमारा: पीएम मोदी

# त्‍याग और तपस्‍या की गाथा है आजादी की लड़ाई, संघर्ष का ही नतीजा है कि हमें आजादी में सांस लेने का मौका मिला है। : प्रधानमंत्री

# मेरे प्‍यारे देशवासियों, विश्‍व में फैले सभी भारतीयों को स्‍वतंत्रता दिवस की बहुत-बहुत शुभकामनाएं देता हूं: प्रधानमंत्री मोदी

# प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले पर तिरंगा फहरा दिया है। इसके साथ ही 70वें स्‍वतंत्रता दिवस का समारोह आधिकारिक रूप से शुरू हो गया। राष्‍ट्रगान के साथ 21 तोपों की सलामी दी जाएगी।

# प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गार्ड ऑफ ऑनर का किया निरीक्षण:

# प्रधानमंत्री लाल किले पर पहुंच चुके हैं। यहां उनकी अगवानी रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने की।

# विस्‍फोटक बल्‍लेबाज वीरेंदर सहवाग ने कुछ इस अंदाज में दी बधाई:

# भारत और श्रीलंका में इजरायल के राजदूत ने ट्वीट कर स्‍वत‍ंत्रता दिवस की बधाई दी:

प्रधानमंत्री का भाषण सुनने के लिए प्‍ले बटन पर क्लिक करें: 

Independence Day Speech 2016 Live Updates:

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App