scorecardresearch

मनीष सिसोदिया के करीबी को शराब कारोबारी ने दिए 1 करोड़- सीबीआई की FIR में दावा

EXcise Policy Case: सीबीआई ने आरोप लगाया कि जांच में सामने आया है कि इंडो स्पिरिट्स के मालिक समीर महेंद्रू ने मनीष सिसोदिया के करीबी दिनेश अरोड़ा की कंपनी के राधा इंस्ट्रीज के खाते में 1 करोड़ रुपए जमा किए थे। दिनेश अरोड़ा को मनीष सिसोदिया का करीबी बताया जा रहा है।

मनीष सिसोदिया के करीबी को शराब कारोबारी ने दिए 1 करोड़- सीबीआई की FIR में दावा
दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (फोटो सोर्स: PTI/फाइल)

Excise Policy Case: दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के खिलाफ सीबीआई की एफआईआर में बड़ा दावा किया गया है। इसमें सिसोदिया के करीबी को शराब कारोबारी द्वारा एक करोड़ रुपए दिए जाने की बात कही गई है। एक करोड़ रुपए का भुगतान सिसोदिया के एक सहयोगी द्वारा संचालित कंपनी को किया गया था।

मनीष सिसोदिया समेत अन्यों के खिलाफ दर्ज एफआईआर में कहा गया कि एंटरटेनमेंट और इवेंट मैनेजमेंट कंपनी मच लाउडर के पूर्व सीईओ विजय नायर, पर्नोड रिकार्ड के पूर्व कर्मचारी मनोज राय, ब्रिंडको स्पिरिट्स के मालिक अमनदीप ढाल और इंडोस्पिरिट्स के मालिक समीर महेंद्रू पिछले साल नवंबर में लाई आबकारी नीति के कार्यान्वयन में अनियमितताओं में सक्रिय रूप से शामिल थे। बताया गया कि अधिकारियों के साथ मिलकर आबकारी नीति बनाने में ये लोग शामिल थे।

एजेंसी का आरोप है कि बडी रिटेल प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक अमित अरोड़ा, दिनेश अरोड़ा और अर्जुन पांडे सिसोदिया के बेहद करीबी सहयोगी हैं और शराब माफियाओं से पैसा लेकर अधिकारियों तक पहुंचाने का काम कर रहे थे। सीबीआई ने आरोप लगाया है कि राधा इंडस्ट्रीज का प्रबंधन करने वाले दिनेश अरोड़ा को इंडोस्पिरिट्स के समीर महेंद्रू से एक करोड़ रुपए मिले थे।

सूत्र ने आगे खुलासा किया कि अरुण रामचंद्र पिल्लई अधिकारियों को पैसा पहुंचाने के लिए समीर महेंद्रू से अनुचित आर्थिक लाभ एकत्र करते थे, जो विजय नायर के माध्यम से पहुंचाए जाते थे। इसके अलावा, अर्जुन पांडे नाम के एक शख्स ने भी समीर महेंद्रू से 2 से 4 करोड़ रुपए लिए थे, जो विजय नायर की तरफ से दिए गए थे। अर्जुन पांडे को मनीष सिसोदिया का करीबी बताया जा रहा है।

बता दें कि सीबीआई की एफआईआर में 15 लोगों को नामजद किया गया है और आपराधिक साजिश एवं भ्रष्टाचार रोकथाम अधिनियम के प्रावधानों से संबंधित आईपीसी की धाराओं के तहत आरोप दर्ज किए गए हैं। सिसोदिया के अलावा, अन्य आरोपियों में तत्कालीन आबकारी आयुक्त अरवा गोपी कृष्ण, तत्कालीन उप आबकारी आयुक्त आनंद कुमार तिवारी, सहायक आबकारी आयुक्त पंकज भटनागर और नौ व्यवसायी और दो कंपनियां शामिल हैं।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.