ताज़ा खबर
 

बिहार में शराबबंदी पर बोले पूर्व सीएम जीतनराम मांझी-ताड़ी का समर्थन तो महात्‍मा गांधी ने भी किया था

पूर्व सीएम ने कहा कि अगर ताड़ी पर बैन लगाया जाता है तो पासी समुदाय के 90 फीसदी लोग बेरोजगार हो जाएंगे।

Author पटना | April 13, 2016 8:39 PM
बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी

बिहार में शराबबंदी के बाद ताड़ी बेचने वालों का समर्थन करने वाले राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने बुधवार को कहा कि ताड़ी का समर्थन तो महात्मा गांधी ने भी किया था। पूर्व सीएम ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पूरी तरह से शराबबंदी के उत्साह में पारंपरिक काम को बंद करने का प्रयास नहीं करना चाहिए, जो कि बिहार के सीएम के लिए केवल एक राजनीतिक साधन है। हालांकि, प्रतिबंधित ताड़ी शराबबंदी के तहत नहीं आती है लेकिन पुराने निर्देशों के मुताबिक किसी भी सार्वजनिक स्थल के पास ताड़ी नहीं बेची जा सकती। गौरतलब है कि नीतीश कुमार ने पिछले सप्ताह ताड़ी पर रोक लगाने के संकेत दिए थे, कुमार ने कहा था कि ताड़ी पर तभी रोक लगाई जा सकती है, जब राज्य में ताड़ी बेचने वाले 20 लाख लोगों को दूसरा रोजगार मुहैया करवा दिया जाए।

Read Also: झारखंड में तीन दिन के लिए मांस और शराब की बिक्री पर रोक

HOT DEALS
  • Honor 7X 64 GB Blue
    ₹ 16699 MRP ₹ 16999 -2%
    ₹0 Cashback
  • Moto C 16 GB Starry Black
    ₹ 5999 MRP ₹ 6799 -12%
    ₹0 Cashback

मीडिया से बात करते हुए पूर्व सीएम मांझी ने कहा, ‘जब महात्मा गांधी बिहार में चंपारण सत्याग्रह के दौरान आए थे तो उन्होंने ताड़ी बेचने वालों के बारे में पूछताछ की और इसे नेचूरल ड्रिंक बताते हुए इसका समर्थन किया था। बिना कोई नए रोजगार मुहैया कराए नीतीश कुमार पारंपरिक रोजगार को छीनने की कोशिश कर रहे हैं।’ मांझी ने साथ ही कहा, ‘मैंने पाया है कि नीरा स्वास्थ्य बहुत ही फायदेमंद होता है। मैं बचपन में जब भी बीमार होता था, तो मुझे इलाज के तौर पर नीरा दिया जाता था। मैं उसे पीने के साथ स्वस्थ हो जाता था।’

Read Also: ऋषि कपूर बोले- शराब के लिए 10 साल कैद और अवैध हथियार रखने पर 5 साल, वाह नीतीश!

पूर्व सीएम ने कहा कि अगर ताड़ी पर रोक लगाई जाती है तो महादलित पासी समुदाय के साथ ही अन्य लोग भी प्रभावित होंगे। उन्होंने कहा कि अगर ताड़ी पर बैन लगाया जाता है तो पासी समुदाय के 90 फीसदी लोग बेरोजगार हो जाएंगे।

Read Also: बिहार में पूर्ण शराबबंदी लागू, होटल-बार जैसी जगहों पर भी नहीं मिलेगी शराब

ताड़ी विक्रेताओं की ओर से आयोजित समारोह में पहुंचे मांझी ने कहा कि नीतीश कुमार पासी समुदाय के दुश्मन हैं। ताड़ी विक्रेताओं की जिंदगी सुधारने की बजाए वे ताड़ी पर बैन लगाने जा रहे हैं। सीएम प्राइवेट सेक्टर में आरक्षण की बात कर रहे हैं लेकिन पारंपरिक रोजगार पर बैन लगाने की कोशिश कर रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App