ताज़ा खबर
 

Asaram Bapu Verdict : आसाराम के समर्थकों ने खाई कसम- ‘बापू’ बीजेपी ने दिलवाई उम्रकैद, सत्‍ता से हटवाएंगे

Asaram Bapu Rape Case Verdict (आसाराम बापू रेप केस वर्डिक्ट फैसला):... आसाराम के समर्थकों ने एक प्रेस विज्ञप्ति तैयार किया है। इस प्रेस नोट में कहा गया है कि 'बापूजी' के करोड़ों समर्थक मिल कर इस बार चुनाव में भाजपा को हराने की पुरजोर कोशिश करेंगे, क्योंकि बीजेपी न्यायिक कार्यों में लगातार दखलअंदाजी कर रही है।

आसाराम का असली नाम असुमल हरपलानी है। गुरु के सानिध्य में आने के बाद उन्होंने ही असुमल को आसाराम नाम दे दिया।

अदालत से आसाराम को सजा मिलने के बाद उनके समर्थक भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर भड़क गए हैं। आसाराम के भड़के अनुयायियों ने भाजपा को चुनावों में हराने की कसम खाई है। जी हां, बलात्कारी आसाराम के समर्थकों ने प्रण लिया है कि अगले चुनाव में वो बड़ी संख्या में भाजपा के खिलाफ वोट डालेंगे और भाजपा को हरवा कर ही दम लेंगे। आसाराम के समर्थकों ने आरोप लगाया है कि बुधवार (25 अप्रैल) को आसाराम के खिलाफ आए फैसले में भाजपा की चाल है। आसाराम के समर्थकों ने एक प्रेस विज्ञप्ति तैयार किया है। इस प्रेस नोट में कहा गया है कि ‘बापूजी’ के करोड़ों समर्थक मिल कर इस बार चुनाव में भाजपा को हराने की पुरजोर कोशिश करेंगे, क्योंकि बीजेपी न्यायिक कार्यों में लगातार दखलअंदाजी कर रही है।

इतना ही नहीं इस विज्ञप्ति में आसाराम के समर्थकों ने ‘जज लोया’ मामले में सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिये गये फैसले का जिक्र भी किया है। आपको बता दें कि पिछले सप्ताह ‘सुप्रीम’ अदालत ने जज लोया की मौत के मामले में स्वतंत्र जांच कराने संबंधी सभी याचिकाओं को खारिज कर दिया था। जज लोया उस मर्डर केस को देख रहे थे जिसमें भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह आऱोपी बनाए गए थे।

आसाराम के समर्थकों का कहना है कि आसाराम बापू पर जो फैसला आया है हो सकता है कि उसमें बीजेपी ने अपने हित के लिए न्यायिक प्रक्रिया को प्रभावित करने की कोशिश की हो। आने वाले चुनाव को लेकर इसमें भाजपा का सियासी हित हो सकता है। भाजपा खुद को बचाने और क्रेडिट लेने के लिए ऐसा कर सकती है। आसाराम के समर्थकों का कहना है कि आने वाले चुनावों के दौरान वो विभिन्न राज्यों में जाकर लोगों से बीजेपी के खिलाफ वोट करने की अपील करेंगे। आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश, हरियाणा और गुजरात जैसे भाजपा शासित राज्यों में बड़ी संख्या में आसाराम के अनुयायी मौजूद हैं।

अपनी नाबालिग शिष्या के साथ दुष्कर्म के आरोप में जोधपुर की एक विशेष अदालत ने स्वयं-भू संत आसाराम को मौत तक जेल में रहने की सजा सुनाई है। पीड़ित पक्ष ने कोर्ट के इस फैसले पर अपनी प्रशंसा भी जताई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App