ताज़ा खबर
 

Delhi Assembly Polls 2020: महाराष्ट्र-झारखंड से सबक, स्थानीय मुद्दों पर आई भाजपा

Delhi Assembly Polls 2020: स्थानीय मुद्दों से छोड़ने की वजह से एक ही साल के अंदर में भाजपा ने देश के पांच राज्यों में नुकसान उठाना पड़ा है।

Author नई दिल्ली | Updated: January 23, 2020 3:57 AM
चुनाव में नुकसान उठा चुकी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) दिल्ली में स्थानीय मुद्दों को अपना बड़ा हथियार बना रही है।

Delhi Assembly Polls 2020: महाराष्ट्र, झारखंड व छत्तीसगढ़ के चुनाव में नुकसान उठा चुकी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) दिल्ली में स्थानीय मुद्दों को अपना बड़ा हथियार बना रही है। पार्टी का मानना है कि इस रणनीति की बदौलत ही दिल्ली की सत्ता को पाया जा सकता है। पार्टी के पास सबसे बड़ा मुद्दा कच्ची कॉलोनियों में पक्की रजिस्ट्री है। ये कॉलोनी एक लंबे समय से इस अधिकार का इंतजार कर रही थीं। इसक सीधा लाभ दिल्ली के 40 लाख लोगों को मिला है।

भाजपा ने इन कॉलोनियों की बुरी हालत के लिए दिल्ली में आप सरकार और पूर्व कांग्रेस सरकार के 15 साल के कार्यकाल पर हमला बोलना तेज कर दिया है। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के बाद इसकी शुरूआत पार्टी के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने छोटी- छोटी बैठकों से की है। हालांकि इस मुहिम को भाजपा ने नागरिक संसोधन कानून से जोड़ा है। इसके अंतर्गत 15 जनवरी तक करीब 10 लाख मतदाताओं तक पहुंचने का लक्ष्य रखा गया था। इसके अतिरिक्त प्रदूषण, खराब परिवहन व्यवस्था, यमुना नदी की बदहाली और शिक्षा व स्वास्थ्य की खराब स्थिति को लेकर आम आदमी पार्टी पर सीधा हमला है।

ऐसी ही रणनीति पर देश के अन्य राज्यों में विपक्ष ने हाल ही में हुए चुनाव में भाजपा को बड़ा नुकसान पहुंचाया है। भाजपा ने इन राज्यों में राष्ट्रवाद, कश्मीर से धारा 370 खत्म, राम मंदिर, तीन तलाक जैसे मुद्दों पर लड़े थे। जो राज्यों की स्थानीय समस्याओं के आगे नहीं चले और इसका लाभ अन्य दल ले गए।

स्थानीय मुद्दों से छोड़ने की वजह से एक ही साल के अंदर में भाजपा ने देश के पांच राज्यों में नुकसान उठाना पड़ा है। झारखंड में 81 सीटों पर स्थानीय मुद्दों पर लड़कर महागठबंधन 47 सीट पर जीत पाई थी जबकि भाजपा केवल 25 सीट पर निपट गई। वहीं, महाराष्ट्र में भी पूरा चुनाव स्थानीय मुद्दों पर लड़ा गया।

40 स्टार प्रचारक होंगे मैदान में

दिल्ली के चुनाव के लिए केंद्र सरकार ने 40 स्टार प्रचारकों की एक सूची तैयार की है। ये स्टार प्रचारक आने वाले दिनों में भाजपा की सभाओं में प्रत्याशियों के लिए वोट मांगेगे। इस सूची में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा भी शामिल हैं। पार्टी नेताओं के मुताबिक जिन क्षेत्रों में जिन स्टार प्रचारकों की आवश्यकता होगी। उन्हें वहां प्रचार के लिए भेजा जाएगा।

पंकज रोहिला   

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Delhi Assembly Polls 2020: मतदाताओं को रिझाने के लिए राजनीतिक दलों की उत्तर प्रदेश की इकाइयां हुईं सक्रिय
2 Delhi Assembly Polls 2020: कांग्रेस-राजद के साथ पर सवाल
3 ‘पुरुष घर में सो रहा रजाई ओढ़ के, महिलाओं को चौराहे पर बिठा दिया है’, CAA विरोधियों पर योगी आदित्यनाथ का निशाना
ये पढ़ा क्या?
X