ताज़ा खबर
 

जब वकील ने कहा 5 बार ‘नो’ तो जज ने लगा दी फटकार, कहा- आप से अधिक गहराई से हम पढ़ते हैं फाइल

जस्टिस नरीमन अभिव्यक्ति की आजादी, तीन तलाक और सबरीमाला मुद्दे पर ऐतिहासिक फैसले दिए जाने के लिए जाने जाते हैं।

सुप्रीम कोर्ट की तस्वीर।

सुप्रीम कोर्ट में एक मामले में सुनवाई के दौरान वकील के बार-बार ‘नो’ कहने पर जस्टिस नरीमन ने टिप्पणी की कि आपके द्वारा पांच बारे ‘नो’ कहे जाना सही नहीं है क्योंकि जज जब तथ्य सामने रखते हैं तो आपसे ज्यादा कहीं अच्छे तरीके से फाइल को पढ़ते हैं। ये सुनने के बाद वकील की बोलती बंद हो गई । वकील ने इस बात के लिए माफी मांगी । जिसके बाद जस्टिस नरीमन ने कहा कि अब मुद्दे पर आइए क्या कहना चाहते हैं?

बता दें कि जस्टिस रोहिंटन फली नरीमन सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस हैं। जज बनने से पहले वे लंबे समय तक सुप्रीम कोर्ट में बतौर वकील कार्य कर चुके हैं। सोलिसिटर जनरल ऑफ इंडिया के पद पर रहने के साथ ही वे बार काउंसिल के सदस्य रहे चुके हैं। नरीमन अभिव्यक्ति की आजादी,तीन तलाक और सबरीमाला मुद्दे पर ऐतिहासिक फैसले दिए जाने के लिए जाने जाते हैं। वर्ष 2014 में नरीमन सुप्रीम कोर्ट में जज के पद पर नियुक्त हुए थे।

अभिव्यक्ति की आजादी से जुड़े मामले में जस्टिस नरीमन ने पुलिस द्वारा ईमेल या अन्य इलेक्ट्रॉनिक संदेशों को आधार बनाकर किसी भी आरोपी को गिरफ्तार करने को असंवैधानिक बताया था। उस वक्त अदालत ने कहा था, “जो एक के लिए अपमानजनक हो सकता है वह दूसरे के लिए अपमानजनक नहीं हो सकता है।”

अपने फैसले में अदालत ने साफ किया कि किसी मुद्दे पर चर्चा करना और किसी मुद्दे पर भड़काने के बीच भेद करने की जरूरत है। किसी भी चर्चा को प्रतिबंधित नहीं किया जा सकता है। जब तक कि ये किसी को उकसाने के स्तर पर न हो या इससे सार्वजनिक अव्यवस्था पैदा न हो जाए जो कि सुरक्षा को प्रभावित करता हो। भारतीय संविधान के सहिष्णुता के आदर्शों और अभिव्यक्ति की आजादी के संवैधानिक प्रावधानों का बचाव करने के लिए फैसले का स्वागत किया गया था।

ट्रिपल तलाक के मामले में जस्टिस रोहिंटन फली नरीमन ने कहा था “ट्रिपल तालक तलाक का एक अस्वीकृत रूप है। ट्रिपल तालक की प्रथा खराब है और इसे कानून के रूप में परखा जा सकता है। ”

यही नहीं सबरीमाला मामले में न्यायमूर्ति नरीमन ने कहा था कि दस और पचास वर्ष की उम्र की महिलाओं को सबरीमाला मंदिर में प्रवेश से वंचित नहीं किया जाएगा।

Next Stories
1 कोरोना वैक्सिनेशन की तैयारियां सिर पर! केंद्र से बोला SC- 7-8 माह से जुटे डॉक्टरों को आराम देने पर करें विचार
2 निशाने पर बाबा रामदेव एंड कंपनी! #BoycottPatanjali टि्वटर पर ट्रेंड, लोग बोले- मर रहा किसान, जागो प्रधान
3 Kerala Lottery Sthree Sakthi SS-240 Results: 75 लाख रुपए का इनाम जीता इस टिकट नंबर ने
ये पढ़ा क्या?
X