ताज़ा खबर
 

Wave Group: पॉन्टी चड्ढा के 15 हजार करोड़ के साम्राज्य का होने वाला है बंटवारा, भाई के साथ फायरिंग में गई थी जान

1963 में शराब कंपनी के रूप में कुलवंत सिंह चड्डा ने इस कारोबार की शुरुआत की थी। कमान पॉन्टी चड्डा के हाथों में आने के बाद वेव ग्रुप का कारोबार अलग-अलग क्षेत्रों में फैला। साल 2013 में पॉन्टी चड्डा की मौत हो गई और इसके बाद कारोबार की कमान बेटे और भाई के हाथों में आई। 2012 में मनप्रीत को ग्रुप का वाइस चेयरमैन बनाया गया जबकि राजू चड्डा को चेयरमैन बनाया गया।

Author नई दिल्ली | July 24, 2019 2:47 PM
वेव ग्रुप का दिवंगत पोंटी चड्ढा।

दिवंगत कारोबारी पॉन्टी चड्डा की करीब 15 हजार करोड़ रुपए की संपत्ति का बंटवारा उनके बेटे मनप्रीत सिंह चड्डा और छोटे भाई राजिंदर चड्डा के बीच होगा। मामले से जुड़े दो सूत्रों ने ईटी को इस बात की जानकारी दी है। इसके लिए वेव ग्रुप में बंटवारे की योजना लॉ फर्म AZB एंड एसोसिएट्स की सलाह पर तैयार कर ली गई है। इसके मुताबिक पॉन्टी चड्डा की सपंत्ति का 64 फीसदी हिस्सा उनके बेटे मनप्रीत को मिलेगा। उनके पास वेब ग्रुप के रियल स्टेट कारोबार का जिम्मा होगा। ग्रुप की ज्यादातर चीनी मिलें, मॉल, बेवरेज प्लांट्स भी उन्हें मिलेंगे।

वहीं ग्रुप का 36 फीसदी हिस्सा छोटे भाई राजू चड्डा को मिलेगा। शराब से जुड़ा कारोबार भी उन्हें मिलेगा। मतलब शराब डिस्ट्रीब्यूशन, डिस्टिलरी और ब्रुवरीज का काम राजू देखेंगे। इसके अलावा उन्हें नोएडा के सेक्टर 18 में स्थित 41 मंजिला इमारत ‘वेव वन’ भी मिलेगी, जिसका 20 लाख वर्ग फुट बिल्ड-अप एरिया है।

बंटवारे की योजना से जुड़े सूत्र ने बताया कि शराब कारोबार में उत्तर प्रदेश और पंजाब का एक बड़ा नेटवर्क शामिल है। दो डिस्टिलरी और एक ब्रुवरी भी इसमें शामिल हैं। इन सभी पर भाई चड्डा का नियंत्रण होगा। फिल्मी दुनिया से जुड़ा कारोबार भी उन्हीं के जिम्मे होगा।

हालांकि वेव ग्रुप के प्रवक्ता में मामले में कुछ भी कहने से इनकार कर दिया। मगर राजू चड्डा के प्रवक्ता ने इसकी पुष्टि की। उन्होंने कहा कि बंटवारे पर कोई विवाद नहीं हुआ और आराम से फैसला लिया गया। उन्होंने बताया, ‘दोनों पक्ष इस समझौते पर अपने हस्ताक्षर भी कर चुके हैं।’

जानना चाहिए कि साल 1963 में शराब कंपनी के रूप में कुलवंत सिंह चड्डा ने इस कारोबार की शुरुआत की थी। कमान पॉन्टी चड्डा के हाथों में आने के बाद वेव ग्रुप का कारोबार अलग-अलग क्षेत्रों में फैला। साल 2012 में पॉन्टी चड्डा और उनके भाई की एक फायरिंग में मौत हो गई थी। इसके बाद कारोबार की कमान बेटे और भाई के हाथों में आई। 2012 में मनप्रीत को ग्रुप का वाइस चेयरमैन बनाया गया जबकि राजू चड्डा को चेयरमैन बनाया गया। बता दें कि इस ग्रुप का कारोबार एजुकेशन और मनोरंजन के क्षेत्र में भी फैला हुआ है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 यूपी बजट: अयोध्या में भजन संध्या स्थल और राम की पौड़ी के लिए 15 करोड़, दीपोत्सव के लिए अलग से दिए 6 करोड़
2 कश्मीर पर ट्रंप के दावे पर बोले राजनाथ सिंह- तीसरे पक्ष की मध्यस्थता का सवाल ही नहीं
3 Parliament News Updates: लोकसभा में UAPA बिल मंजूर, अमित शाह ने कहा- कड़े हमले से ही लगेगी आतंकवाद पर लगाम