ताज़ा खबर
 

विश्व के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान की शुरुआतः कोरोना वैक्सीन को हेल्थ मिनिस्टर ने बताया- ‘संजीवनी’; टि्वटर पर ‘बधाई भारत’ ट्रेंड

स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि कोरोना वैक्सीन इस बीमारी के खिलाफ संजीवनी का काम करेगा।

Author Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र नई दिल्ली | Updated: January 16, 2021 12:38 PM
Coronavirus, COVID-19 Vaccineभारत बायोटेक की कोवैक्सिन की शीशी दिखाते स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कोविड-19 के खिलाफ विश्‍व के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान की शुरुआत की। इस मौके पर पीएम ने देशवासियों को शुभकामनाएं देने के साथ ‘दवाई के साथ कड़ाई भी’ का संदेश दिया। वैक्सीनेशन कार्यक्रम शुरू होने के साथ ही दिल्ली में सबसे पहले एक सफाई कर्मचारी को कोरोना का टीका दिया गया। इसके बाद कोरोना वैक्सीन टास्क फोर्स के प्रमुख और नीति आयोग के सदस्य वीके पॉल और AIIMS के निदेशक रणदीप गुलेरिया को शॉट दिया गया।

इस मौके पर स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि कोरोना वैक्सीन इस बीमारी के खिलाफ संजीवनी का काम करेगा। डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई निर्णायक दौर में पहुंच चुकी है। उन्होंने कहा कि हम पिछले एक साल से पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में लड़ रहे थे। ये वैक्सीन संजीवनी के तौर पर काम करेगी। उन्होंने भारत बायोटेक की तरफ से बनी कोवैक्सिन की शीशी भी मीडिया को दिखाई।

डॉक्टर हर्षवर्धन ने महामारियों से निपटने में भारत की विशेषज्ञता के बारे में बात करते हुए कहा कि हमने पहले ही पोलियो और स्मॉलपॉक्स जैसी समस्याओं को खत्म कर दिया। भारत के पास ऐसे मामलों से निपटने का काफी अनुभव है। यह शायद दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान है।

टीकाकरण अभियान शुरू होने के मौके पर जहां पीएम मोदी ने देशवासियों को शुभकामनाएं दी, वहीं इसके ठीक बाद ट्विटर पर ‘Congratulation India’ तेजी से ट्रेंड होने लगा। देशभर में लोगों ने ट्विटर पर बधाई संदेश चलाए। भूटान के पीएम लोते शेरिंग ने कहा, “हम कोरोनावायरस वैक्सीन लॉन्चिंग के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारत के लोगों को बधाई देना चाहते हैं। हम उम्मीद करते हैं कि यह वैक्सीन महामारी के दौरान सारी परेशानियों के अंत के तौर पर आई है।”

ट्विटर पर एक यूजर ने कहा, “उन सभी लोगों को ठेंगा, जिन्होंने भारतीय कोरोना वैक्सीन के बारे में नकारात्मकता और गलत जानकारी फैलाई।” एक और यूजर उम्मील हाथी ने वैक्सीन को खुशी की डोज बताया। उन्होंने ट्वीट में लिखा, “दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण कार्यक्रम को शुरू करने के लिए भारत को बधाई। सर्वे भवन्तु सुखिनः। सर्वे सन्तु निरामयाः। पीएम नरेंद्र मोदी जी ने भारत में दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान की शुरुआत की।”

बता दें कि पीएम मोदी के साथ वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से आयोजित कार्यक्रम में भारत के सभी राज्‍यों और केन्‍द्रशासित प्रदेशों के 3006 टीकाकरण केन्‍द्र आपस में जुडें। ज्ञात हो कि पहले चरण के लिए सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में इसके लिए कुल 3006 टीकाकरण केंद्र बनाए गए हैं। पहले दिन तीन लाख से ज्यादा स्वास्थ्यकर्मियों को कोविड-19 के टीके की खुराक दी जाएगा।

सरकार के मुताबिक, सबसे पहले एक करोड़ स्वास्थ्यकर्मियों, अग्रिम मोर्चे पर काम करने वाले करीब दो करोड़ कर्मियों और फिर 50 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को टीके की खुराक दी जाएगी। बाद के चरण में गंभीर रूप से बीमार 50 साल से कम उम्र के लोगों का टीकाकरण होगा। स्वास्थ्यकर्मियों और अग्रिम मोर्चे पर तैनात कर्मियों पर टीकाकरण का खर्च सरकार वहन करेगी।

Next Stories
1 किसान आंदोलनः केंद्र से ही वापस कराएंगे 3 कानून- टिकैत अड़े, हनान मुल्ला ने कहा- सरकार सिर्फ जाया कर रही समय
2 Youtube ला रहा है नया बटन, वीडियो में दिखने वाले प्रोडक्ट सीधे खरीदने की मिलेगी सुविधा
3 कोरोनाः टीके की 2 डोज बेहद जरूरी! असावधानी बरतने वालों को PM ने किया आगाह- दूसरी खुराक के 2 हफ्ते बाद ही विकसित होगी इम्युनिटी
ये पढ़ा क्या?
X