ताज़ा खबर
 

पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर के सेंटर फॉर अप्लाइड पॉलिटिक्स से कब्जा हटाया

एलएंडडीओ की ओर से जारी आदेश में कहा गया था कि शुक्रवार सुबह 11 बजे अधिकारी मौके पर पहुंचकर कब्जा लेंगे। आदेश के अनुसार तय समय पर पहुंचे अधिकारियों ने कब्जा ले लिया।

Author नई दिल्ली | Published on: February 15, 2020 4:43 AM
पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर

निर्भय कुमार पांडेय

आइटीओ स्थित नरेंद्र निकेतन में चल रहे पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर के सेंटर फॉर अप्लाइड पॉलिटिक्स (सीएपी) में शुक्रवार को शहरी विकास मंत्रालय के भूमि एवं विकास कार्यालय (एलएंडडीओ) ने कब्जा ले लिया है। बताया जा रहा है कि 12 फरवरी को सेंटर से जुड़े पदाधिकारियों को पत्र लिखकर एलएंडडीओ की ओर से परिसर को खाली करने का आदेश दिया था। एलएंडडीओ की ओर से जारी आदेश में कहा गया था कि शुक्रवार सुबह 11 बजे अधिकारी मौके पर पहुंचकर कब्जा लेंगे। आदेश के अनुसार तय समय पर पहुंचे अधिकारियों ने कब्जा ले लिया।

इस भवन में चंद्रशेखर के सेंटर फॉर अप्लाइड पॉलिक्टिस के अलावा नरेंद्र निकेतन केंद्र और समाजवादी जनता पार्टी का केंद्रीय कार्यालय भी संचालित किया जा रहा था। साल 1978 में इस भवन की स्थापना की गई थी। सेंटर फॉर अप्लाइड पॉलिक्टिस संस्था के महासचिव एचएन शर्मा का कहना है कि कुछ लोगों ने इस कार्यालय में अवैध रूप से कब्जा जमाया हुआ था और उनके साथ दिल्ली के कुछ बड़े बिल्डर भी मिले हुए थे। आखिरकार शुक्रवार को कब्जा को हटा लिया गया है।

भविष्य में यदि केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय के भूमि एवं विकास कार्यालय उनकी संस्था को भूमि आबंटित करता है तो वह सभी कानूनी प्रक्रिया का पालन करेंगे और इस जमीन पर सेंटर फॉर अप्लाइड पॉलिटिक्स का कार्यालय खोलेंगे। उन्होंने कहा कि कुछ लोग फर्जी दस्तावेज के आधार पर इस भूमि पर कब्जा जमाना चाह रहे थे। साथ ही कुछ लोगों ने कब्जा जमा भी रखा था।

इसकी शिकायत उन्होंने कई बार संबंधित विभाग से की थी। साथ ही कई लोगों ने फर्जी दस्तावेज जमाकर अदालत को भी गुमराह करने की कोशिश की थी। पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर ने जिस समाजवादी जनता पार्टी की स्थापना की थी। उसके महासचिव श्याम जी त्रिपाठी का कहना है कि यहां पर लंबे समय से कार्यालय चल रहा था। साथ ही सेंटर फॉर अप्लाइड पॉलिटिक्स के कार्यालय के साथ ही यंग इंडिया पत्रिका का भी प्रकाशन यहीं से होता था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X
Next Stories
1 सीधी टक्कर की चुनौती के लिए खुद को करेगी तैयार बीजेपी
2 भारत ने पाकिस्तान से जीता हैदराबाद के निजाम के खजाने का केस, पाक भरेगा 2.08 मिलियन पाउंड का हर्जाना
3 Telecom AGR Case: सुप्रीम कोर्ट की फटकार के बाद जागी सरकार
ये पढ़ा क्या?
X