ताज़ा खबर
 

जेल से लालू ने किया फोन? पूर्व डीजीपी ने दिया शहाबुद्दीन का उदाहरण, कहा- बाहुबलियों के लिए नियम नहीं, जेल में सब सुविधाएं

लालू प्रसाद यादव का एक ऑडियो वायरल हो गया है जिसमें वह फोन करके बीजेपी विधायक को अपने पक्ष में आने का लालच देते सुने गए। अब पूर्व डीजीपी ने कहा है कि जेल में वीआईपी लोगों के लिए हर सुविधा उपलब्ध होती है।

lalu yadav, jail, ex dgpपूर्व डीजीपी का दावा, जेल में वीआईपी कैदियों को हर सुविधा।

बिहार विधानसभा में एनडीए के उम्मीदवार विजय सिन्हा स्पीकर चुने गए। इससे पहले आरजेडी ने अपने प्रत्याशी की जितवाने की बहुत कोशिश की। चारा घोटाला में दोषी पाए जाने के बाद जेल की सजा काट रहे लालू प्रसाद यादव का एक ऑडियो वायरल हो गया जिसमें वह बीजेपी विधायक ललन पासवान से मोबाइल पर बात कर रहे हैं। उन्होंने पासवान से कहा कि वह एनडीए सरकार गिरा देंगे और उन्हें मंत्री बनाएँगे। पूर्व मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने इस वीडियो को जारी करके लालच देने का दावा किया था। सवाल यह उठता है कि जेल में  VIP कैदियों को कितनी सुविधाएं मिलती हैं? क्या जेल से फोन करना नियमों का उल्लंघन नहीं है?

आजतक के डिबेट शो में ऐंकर रोहित सरदाना ने यही सवाल पूर्व डीजीपी विक्रम सिंह से यह सवाल पूछा। पूर्व डीजीपी ने बताया, ‘यह जेल मैन्युअल का खुला उल्लंघन है। यह नहीं होना चाहिए। शहाबुद्दीन इसी कारण से बिहार से तिहाड़ शिफ्ट किए गए। वह जेल की सुविधाओं का दुरुपयोग करते थे। फर्जी मेडिकल बनवाते थे। शहाबुद्दीन ने भी यही गलतियां की थीं। एक चौकी इनचार्ज भी इस चीज को बता सकता है। मोबाइल का टेस्ट, वॉइस टेस्ट एक-एक चीज सामने आ सकती है अगर कोई करना चाहे तो।’

सरदाना ने पूछा कि क्या जेल में वीआईपी कैदियों के साथ आम तौर पर  ऐसा होता है? सिंह ने कहा, ‘सैटलाइट फोन तक  इस्तेमाल होते हैं। बाहुबलियों के लिए कोई नियम नहीं हैं। नियम तो औरों के लिए हैं। जो वीआईपी आरोपी होते हैं, पहुंच वाले आरोपी होते हैं, उन्हें मोबाइल फोन से लेकर खान-पान, दावत सब कुछ होता है।’ इसके बाद सरदाना ने आरजेडी नेता मृत्युंजय तिवारी से कहा कि तेजस्वी की सरकार बनती तो भी जेल से लालू जी ही चलाते?

तिवारी ने कहा, ‘अगर लालू जी को सत्ता में आना होता तो उसी समय बीजेपी से मिल गए होते औऱ तेजस्वी जी मुख्यमंत्री होते।’ इस पर बीजेपी नेता शहनवाज हुसैन ने कहा, ‘सच सामने आ गया है। हाथ कंगन को वारसी क्या। आप इसकी जांच की मांग कर दीजिए?’ तिवारी ने बात को काटते हुए कहा कि न जाने कितने घोटाले हैं, उनकी जांच हो। उन्होंने कहा, ‘आपकी सरकार है, आप चाहें तो फांसी की फंदे पर लटका दें लेकिन राजनीतिक लड़ाई नहीं लड़ पा रहे हैं। जनता ने हमें नंबर 1 पार्टी बनाया है।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ऑस्कर में जाएगी फिल्म ‘जल्लीकट्टू’, जानें इस खेल को लेकर क्यों हुआ था विवाद, सुप्रीम कोर्ट में पहुंचा था मामला
2 DDC चुनाव से पहले Roshni Scam में आया फारूख अब्दुल्ला का नाम, बोले NC नेता- वहां हैं सैकड़ों मकान, ये परेशान करने का प्रयास
ये पढ़ा क्या?
X