ताज़ा खबर
 

जब पत्रकार ने लालू यादव से साधु यादव पर पूछा था सवाल, जवाब दिया- साला है, लगे ठहाके, रामविलास पर भी बोले

आरजेडी सुप्रीमो ने कहा "देश में अच्छे साधु और खराब साधु दोनों हैं। आज खराब साधुओं की इस्थिति आप खुद देख सकते हैं।" इसपर एंकर ने कहा "एक साधु और भी हैं.... जो आपके रिश्तेदार हैं... साधु यादव।" इसपर लालू ने कहा "अरे वो तो साला है। नाम में साधु है असली का साधु नहीं। "

राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (RJD) लालू प्रसाद यादव का एक पुराना वीडियो वायरल हो रहा है। यह वीडियो ‘एबीपी न्यूज़’ के ‘शिखर सम्मेलन 2015’ का है। इसमें लालू ‘साधुओं’ के बारे में बात कर रहे हैं। इस दौरान उन्होंने साधु यादव और रामविलास पर भी बात की।

आरजेडी सुप्रीमो ने कहा “देश में अच्छे साधु और खराब साधु दोनों हैं। आज खराब साधुओं की इस्थिति आप खुद देख सकते हैं।” इसपर एंकर ने कहा “एक साधु और भी हैं…. जो आपके रिश्तेदार हैं… साधु यादव।” इसपर लालू ने कहा “अरे वो तो साला है। नाम में साधु है असली का साधु नहीं। ” इसपर लोग ज़ोर-ज़ोर से हसने लगे यह देख लालू को भी हंसी आ गई।

इसके बाद लालू यादव ने एक दर्शक ने दवाल किया “लालू जी ये जो आप सामाजिक नया की लड़ाई लड़ रहे हैं। नरेंद्र मोदी भी कहते हैं कि वे पिछड़े हैं और आने वाली सदी पिछड़ों की है। इस हिसाब से आपको मोदी जी के साथ खड़ा होना चाहिए।”

इसपर लालू ने कहा “रामकृपाल यादव, रामविलास भाई हो या कोई भी हो। अभी हवा में आप लोग हमें दोषी ठहरते हैं कि हम परीवारवाद करते हैं। सारे देश के नेताओं का बेटा बीतो कहा जाएगा? बताइये। डॉक्टर का डॉक्टर बनता है। इंजीनियर का इंजीनियर होता है।”

लालू ने कहा “आप जो रामकृपाल का नाम ले रहे हैं। रामकृपाल और रामविलास भाई खिसिया जाते हैं बोलने पर। रामविलास जी ऐसा मौसम वैज्ञानिक हैं। कहा मौसम आने वाला है वहां पहले ही पलट लेते हैं। रामकृपाल बता रहे थे कि हम लोगों का ट्रीटमेंट रिफ़्यूजी की तरह होता है वहां पर। बीजेपी वाले हमें रिफ़्यूजी मानते हैं।”

अंधविश्वास पर एंकर ने लालू से पूछा कि आप तो लोहिया और जेपी के साथ रहे हैं फिर ये बातें क्यों? इसपर लालू ने कहा “हम गलत बात कौन कह रहे हैं …क्या लोहिया जी कृष्ण को नहीं मानते थे…क्या महाभारत झूठ है..क्या कृष्ण झूठ है..क्या राम नहीं हैं..यह हमारा विश्वास है। लालू एंकर की कोई बात नहीं सुनते और भारतीय परंपराओं पर विश्वास जताते हुए मजमा जीत लेते हैं।”

Next Stories
1 जब रामदेव ने एक के बाद एक कर ली थी अभ‍िसार, द‍िबांग और व‍िजय व‍िद्रोही की चुटकी
2 हिंदू अपनी ग़लती की वजह से रहा सैकड़ों वर्ष गुलाम, बोले संबित पात्रा, कहा- बंगाल में अब भी जजिया टैक्स
3 अयोध्या मामले पर ‘सामना’ में छपा लेख तो भिड़ गए भाजपा और शिवसेना के कार्यकर्ता, मारपीट
ये पढ़ा क्या?
X