ताज़ा खबर
 

सुषमा स्वराज को मिला शिवसेना का साथ, विवाद को बताया ‘राजनीतिक खेल’

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को भाजपा से अपदस्थ करने के लिए एक ‘‘राजनीतिक खेल’’ के तहत निशाना बनाये जाने का दावा करते हुए शिवसेना ने आज कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को हस्तक्षेप करना चाहिए

Author June 16, 2015 4:41 PM
विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को भाजपा से अपदस्थ करने के लिए एक ‘‘राजनीतिक खेल’’ के तहत निशाना बनाये जाने का दावा करते हुए शिवसेना ने आज कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को हस्तक्षेप करना चाहिए तथा यह पता लगाने के लिए जांच का आदेश देना चाहिए कि वह कौन है जो सुषमा की ‘‘साफ सुथरी’ प्रतिष्ठा को ‘‘नुकसान’’ पहुंचाना चाहता है ।

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को भाजपा से अपदस्थ करने के लिए एक ‘‘राजनीतिक खेल’’ के तहत निशाना बनाये जाने का दावा करते हुए शिवसेना ने आज कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को हस्तक्षेप करना चाहिए तथा यह पता लगाने के लिए जांच का आदेश देना चाहिए कि वह कौन है जो सुषमा की ‘‘साफ सुथरी’ प्रतिष्ठा को ‘‘नुकसान’’ पहुंचाना चाहता है ।

घोटाले आरोपों में घिरे पूर्व आईपीएल आयुक्त ललित मोदी की यात्रा दस्तावेज हासिल करने में मदद को लेकर विवादों में घिरीं सुषमा स्वराज के समर्थन में शिवसेना पूरी तरह से उतर आई है ।

पार्टी ने कहा कि कांग्रेस ‘‘निर्जीव’’ है और इसकी प्रतिक्रिया बहुत ज्यादा मायने नहीं रखती लेकिन ‘‘इसके पंखों को उड़ान देने की कोशिश कौन कर रहा है ।’’

Also Read:: जनसत्ता संपादकीय  विवाद की आंच

शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ में एक संपादकीय में कहा, ‘‘कांग्रेस पार्टी ऐसे हंगामा मचा रही है जैसे सुषमा ने गिरफ्तार भगोड़े सरगना दाउद इब्राहिम या कसाब को जमानत लेने में मदद कर दी हो । इस विवाद को मीडिया का एक तबका हवा दे रहा है । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए यह अत्यावश्यक है कि वह यह पता लगाने के लिए जांच का आदेश दें कि सुषमा के 35-40 साल की साफ सुथरी राजनीतिक छवि पर कौन कीचड़ उछालना चाह रहा है । ’’

Also Read:  ललित मोदी की चेतावनी, मेरे खुलासे के बाद कईयों के इस्तीफें आएंगे 

पार्टी ने आरोप लगाया है ‘‘सुषमा के इर्द गिर्द विवाद और सवालों के घेरे का निर्माण कर उन्हें भाजपा से अपदस्थ करने का खेल एक बड़ा राजनीतिक षड्यंत्र लगता है । ’’

शिवसेना ने कहा कि भविष्य में ऐसी साजिश प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ भी हो सकती है और उनके मंत्रिमंडल के कुछ लोगों को रणनीति के तहत परेशान किया जा रहा है।

संपादकीय में कहा गया कि इसी तरह के आरोप विगत हाल में गृहमंत्री राजनाथ सिंह के बेटे और तब नितिन गडकरी के खिलाफ भी लगाए गए थे जब उन्होंने भाजपा अध्यक्ष के रूप में कार्यभार संभाला था।

शिवसेना ने कहा, ‘‘एक भारतीय की मदद मानवीय आधार पर की गई है। इस पर इतना कोहराम मचाने की क्या आवश्यकता है? कांग्रेस अब निर्जीव हो चुकी है और इसलिए उसके पंख फड़फड़ाने के भी बहुत ज्यादा मायने नहीं है। लेकिन सवाल यह है कि इन फड़फड़ाते पंखों को उड़ान देने की कोशिश कौन कर रहा है।’’

पार्टी ने आगे कहा है ‘‘यदि कोई विदेश मंत्रालय को कमजोर करने के लिए इस पर हमला कर रहा है और इस तरह मोदी सरकार का मनोबल गिराने की कोशिश कर रहा है तो वह व्यक्ति अंतत: देश को नुकसान पहुंचा रहा है। यह एक बहुत बड़ा राजनीतिक खेल है जिसे प्रधानमंत्री मोदी द्वारा समाप्त किए जाने की आवश्यकता है।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App