आडवाणी का जन्मदिन मोदी ने बनाया खास! पहले ट्वीट से बधाई, फिर पहुंचे आवास, छुए पैर, फिर साथ काटा केक

93 साल के हुए आडवाणी का जन्म पाकिस्तान के कराची में 8 नवंबर, 1927 को एक हिंदू सिंधी परिवार में हुआ था।

lal krishna advani birthday 2020आडवाणी के जन्मदिन पर उनके आवास पर पहुंचे पीएम मोदी। (वीडियो स्क्रीनशॉट)

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार (8 नवंबर, 2020) सुबह भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी को उनके जन्मदिन पर शुभकामनाएं दीं और उनकी लंबी आयु की कामना करते हुए कहा कि पार्टी को जन-जन तक पहुंचाने में उनका बहुमूल्य योगदान रहा है। मोदी ने ट्वीट किया, ‘भाजपा को जन-जन तक पहुंचाने के साथ देश के विकास में अहम भूमिका निभाने वाले श्रद्धेय लालकृष्ण आडवाणी जी को जन्मदिन की बहुत-बहुत बधाई। वह पार्टी के करोड़ों कार्यकर्ताओं के साथ ही देशवासियों के प्रत्यक्ष प्रेरणास्रोत हैं। मैं उनकी लंबी आयु और स्वस्थ जीवन के लिए प्रार्थना करता हूं।’

पीएम मोदी के अलावा गृहमंत्री अमित शाह ने भी आडवाणी को जन्मदिन की बधाई दी। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि ‘आदरणीय आडवाणी जी ने अपने परिश्रम और निस्वार्थ सेवाभाव से ना सिर्फ देश के विकास में अहम योगदान दिया बल्कि भाजपा की राष्ट्रवादी विचारधारा के विस्तार में भी मुख्य भूमिका निभाई। उनके जन्मदिन पर उन्हें शुभकामनाएं देता हूं और ईश्वर से उनके अच्छे स्वास्थ्य व दीर्घायु की कामना करता हूं।’

Bihar Election Exit Poll Results 2020 Live Updates

दोनों नेता पूर्व उपप्रधानमंत्री आडवाणी को जन्मदिन की बधाई देने के लिए खुद उनके निवास पर पहुंचे। इस दौरान आडवाणी को फूलों का गुलदस्ता भेंट किया और पीएम मोदी ने पैर छूकर उनका आशीर्वाद लिया। इसके बाद मोदी ने आडवाणी का हाथ पकड़कर उनसे जन्मदिन का केक कटवाया और खुद अपने हाथों से केक खिलाया। आडवाणी ने भी मोदी को अपने जन्मदिन पर केक खिलाया। इसके बाद पीएम और गृहमंत्री ने अन्य नेताओं के साथ चर्चा की। वहां भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा भी नजर आए।

उल्लेखनीय है कि भारत की राजनीति में भाजपा को एक प्रमुख शक्ति के रूप में स्थापित करने में आडवाणी की अहम भूमिका रही है। शनिवार को 93 साल के हुए आडवाणी का जन्म पाकिस्तान के कराची में 8 नवंबर, 1927 को एक हिंदू सिंधी परिवार में हुआ था। उनके पिता का नाम किशनचंद आडवाणी और मां का नाम ज्ञानी देवी है। उनके पिता पेशे से एक उद्यमी थे।

Next Stories
1 4 साल पहले आज ही के दिन नोटबंदीः अपनी मूर्खता की तबाही देख सरकार भी भूल गई, मोदी जी तो Demonization का नाम नहीं लेते है- रवीश कुमार का पोस्ट
2 अटल बिहारी को RSS चीफ गोलवलकर ने दिया था राजकुमारी कौल से रिश्ता तोड़ने का आदेश, वाजपेयी ने कर दिया था इनकार- किताब में दावा
3 राजधानी में 24 घंटे में कोरोना से 79 मरीजों की मौत, देश में संक्रमण के नए मामलों में से 77 फीसद 10 राज्यों से हैं
यह पढ़ा क्या?
X