लखीमपुर खीरी कांड: बीजेपी सांसद ने शेयर किया प्रदर्शनकारियों को रौंदने वाला वीडियो, लिखा- निर्दोष किसानों का खून बहाने वालों को यूं ही ना छोड़ा जाए

लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के बाद सरकार पर विपक्ष तो हमलावर है ही साथ ही भाजपा सांसद वरुण गांधी भी किसानों को न्याय दिलाने की मांग कर रहे हैं। अब उन्होंने एक वीडियो शेयर करके कहा है कि मासूम किसानों की हत्या करके विरोध के स्वर दबाए नहीं जा सकते।

लखीमपुर में मारे गए किसानों को श्रद्धांजलि देने जुटे किसान। फोटो- विशाल श्रीवास्तव (एक्सप्रेस)

लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के बाद सोशल मीडिया पर लगातार वीडियो सामने आ रहे हैं। अब एक वीडियो को शेयर करते हुए भाजपा सांसद वरुण गांधी ने भी किसानों के लिए न्याय की मांग की है। उन्होंने वीडियो पोस्ट कर ट्विटर पर लिखा, ‘वीडियो में सब स्पष्ट है। प्रदर्शनकारियों को हत्या करके शांत नहीं कराया जा सकता है।’

उन्होंने कहा, ‘मासूम किसानों का जो खून बहाया गया है, उसके लिए जिम्मेदारी तय होनी चाहिए। इससे पहले कि किसानों के दिमाग में इस क्रूरता और अहंकार का संदेश छप जाए, उन्हें न्याय मिलना जरूरी है।’

वरुण गांधी ने जो वीडियो शेयर किया है, उसमें साफ देखा जा सकता है कि किसानों की भीड़ के बीच से तेजी से तीन गाड़ियां निकलती हैं। सबसे आगे एक महिंद्रा थार है। इसके बाद किसानों को रौंदने की तथाकथित आवाजें भी सुनाई देती हैं। यह सब देखकर प्रदर्शनकारी चिल्लाने लगते हैं। इसके बाद किसानों द्वारा हमला किए जाने और पथराव की भी आवाजें सुनाई पड़ती हैं।

योगी सरकार को पत्र लिख चुके हैं वरुण गांधी
वरुण गांधी कई बार किसानों का पक्ष सरकार के सामने रखने की कोशिश कर चुके हैं। उन्होंने पीड़ित परिवारों को न्याय दिलाने की मांग करते हुए यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को भी एक पत्र लिखा था। उन्होंने कहा था कि आरोपियों कि गिरफ्तारी जल्द से जल्द होनी चाहिए।

वरुण गांधी ने 5 अक्टूबर को भी एक वीडियो ट्विटर पर साझा किया था और आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की थी। उन्होंने कहा था, ‘किसानों को जानबूझकर कुचला गया है। वीडियो आत्मा को झकझोर देगा। पुलिस इन लोगों को चिह्नित कर तत्काल गिरफ्तार करे।’ बाद में उन्होंने सीएम योगी को लिखे खत की प्रति भी शेयर की थी।

वरुण गांधी प हले भी किसानों के लिए न्याय की मांग कर चुके हैं। उन्होंने किसानों के साथ बातचीत की भी वकालत की थी और सोशल मीडिया पर कहा था कि सरकार को हर बिंदु पर चर्चा करनी चाहिए।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।