लखीमपुर खीरी पर पत्रकार के सवाल से भड़क गए राहुल गांधी, बोले- सवाल पूछना राजनीति है?

राहुल गांधी ने कहा कि, विपक्ष का काम दबाव बनाने का होता है। हाथरस में भी यही हुआ। सरकार चाहती है कि हम दबाव ना बनाए और जिन्होंने मर्डर किया वो भागकर निकल जाएं।

China Bhutan agreement, Modi government, Rahul Gandhi, Foreign policy, Lose friends
प्रेस कांफ्रेंस के दौरान पत्रकारों के सवालों का जवाब देते राहुल गांधी(फोटो सोर्स: यूट्यूब/वीडियो ग्रैब)

लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा पर राहुल गांधी बुधवार को एक प्रेस कांफ्रेंस में केंद्र सरकार पर आरोप लगाया कि, पूरे देश के किसानों पर योजनाबद्ध तरीके से आक्रमण हो रहा है। उनकी जमीनें छीनी जा रही हैं। उन्होंने कहा कि, किसानों को जीप के नीचे कुचला जा रहा है। उनकी हत्या की जा रही है। वहीं भाजपा के मंत्री के बेटे पर कोई एक्शन नहीं लिया जा रहा है। बता दें कि, इस प्रेस कांफ्रेंस के दौरान राहुल गांधी एक सवाल पर भड़क गए और मीडिया को कहा कि आप लोग अपना काम ठीक से नहीं करते।

राजनीति के सवाल पर बोले राहुल गांधी: दरअसल राहुल गांधी ने लखीमपुर खीरी की हिंसा पर हो रही राजनीति पर कहा कि, “विपक्ष का काम दबाव बनाने का होता है। हाथरस में भी यही हुआ। सरकार चाहती है कि हम दबाव ना बनाए और जिन्होंने मर्डर किया वो भागकर निकल जाएं। इसलिए हम दबाव डाल रहे हैं, क्योंकि किसानों के साथ गलत किया गया, उन्हें मारा गया है।”

राहुल ने कहा कि, “सच कहें तो ये आपका(मीडिया का) काम है। लेकिन आप लोग ये काम नहीं करते, अपनी जिम्मेदारियां नहीं निभाते हैं। उल्टा आप हमसे सवाल पूछते हैं कि इसमें राजनीति हो रही है। ये आप की भी जिम्मेदारी है, उसको तो आप भूल गए लेकिन हम पर सवाल उठाते हो।”

प्रियंका गांधी की हिरासत पर कही ये बात: वहीं प्रियंका गांधी को सीतापुर में हिरासत में लिए जाने पर राहुल ने कहा कि, भारत में पहले लोकतंत्र हुआ करता था, लेकिन अब तानाशाही है। प्रियंका गांधी के साथ पुलिस की कथित धक्का-मुक्की पर उन्होंने कहा, ‘‘हमें इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है। हमें मार दीजिए, हमारे परिवार में हमें ऐसा प्रशिक्षण दिया गया है। लेकिन हम किसानों की बात कर रहे हैं। इस देश के ढांचे पर भाजपा और आरएसएस ने पूरी तरह से कब्जा कर लिया है। सभी संस्थाओं को कंट्रोल में ले लिया गया है।’’

पीएम मोदी को लेकर राहुल ने कहा कि, “प्रधानमंत्री कल(5 अक्टूबर) लखनऊ में थे लेकिन वो लखीमपुर खीरी नहीं जा पाए। इस हिंसा में मरने वालों का ठीक से पोस्टमार्टम नहीं किया जा रहा है। आज हम 2 मुख्यमंत्रियों के साथ लखीमपुर खीरी जाकर उन परिवारों से मिलने की कोशिश करेंगे।” राहुल गांधी ने कहा कि, “लखीमपुर खीरी में धारा 144 लागू है यह केवल 5 लोगों को रोकती है, हम 3 लोग जा रहे हैं। हमने उनको चिट्ठी लिख दिया है। विपक्ष का काम दबाव बनाने का है ताकि कार्रवाई हो।”

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट