लखीमपुर मामले में राकेश टिकैत का ऐलान, केंद्रीय मंत्री ने नहीं दिया इस्तीफा तो यहीं से करेंगे आंदोलन की घोषणा, बताया पूरा प्लान

फिलहाल विपक्ष और किसान नेताओं के दबाव से अलग अजय मिश्रा पार्टी और सरकार के कार्यक्रमों में हिस्सा ले रहे हैं। साफ है कि, भाजपा अभी उनके इस्तीफे के मूड में नहीं है।

Rakesh Tikait, Ajay Mishra
राकेश टिकैत ने कहा कि, अगर केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा ने इस्तीफा नहीं दिया तो आंदोलन की घोषणा करेंगे(फोटो सोर्स: PTI)।

लखीमपुर हिंसा मामले में मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा की गिरफ्तारी के बाद भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के इस्तीफे की मांग की है। राकेश टिकैत का कहना है कि जबतक अजय मिश्रा अपने पद पर बने रहेंगे तबतक निष्पक्ष जांच होना संभव नहीं है। वहीं इस्तीफा ना देने पर उन्होंने आंदोलन करने की बात कही है।

केंद्रीय मंत्री का इस्तीफा नहीं, तो होगा आंदोलन: बता दें कि मंगलवार को लखीमपुर खीरी में राकेश टिकैत ने कहा कि, “अगर केंद्रीय मंत्री का इस्तीफा नहीं होगा तो यहां से आंदोलन की घोषणा करेंगे। इसको लेकर लखनऊ में बड़ी पंचायत होगी।” लखीमपुर मामले में राकेश टिकैत ने अपनी योजना को लेकर बताया कि, हिंसा में मारे गए किसानों के अस्थि कलश देश के हर ज़िले में जाएंगे, लोग उन्हें श्रद्धांजलि देंगे।

24 को होंगी अस्थियां प्रवाहित: उन्होंने कहा कि, हिंसा में मारे गए किसानों की अस्थियां 24 अक्टूबर को प्रवाहित की जाएंगी। वहीं 26 तारीख को लोग लखनऊ पहुंचेंगे। बता दें कि राकेश टिकैत के अलावा विपक्षी दल भी अजय मिश्रा के इस्तीफे की मांग कर चुके हैं। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा है कि, अजय मिश्रा के मंत्री रहते इस मामले में निष्पक्ष जांच मुमकिन नहीं है।

भाजपा अभी कार्रवाई के मूड में नहीं: फिलहाल विपक्ष और किसान नेताओं के दबाव से अलग अजय मिश्रा पार्टी और सरकार के कार्यक्रमों में शामिल हो रहे हैं। वहीं उनके इस्तीफे को लेकर भाजपा अभी कार्रवाई के मूड में नजर नहीं आ रही है। सूत्रों की मानें तो इस मामले में पुलिस जांच खत्म होने का इंतजार किया जा रहा है। जिसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस मामले में फैसला लेंगे।

भाजपा सूत्रों ने इंडियन एक्सप्रेस को जानकारी दी कि पार्टी, पुलिस जांच का इंतजार कर रही है। जांच खत्म होने के बाद पीएम मोदी, अजय मिश्रा पर फैसला लेंगे। सूत्रों ने कहा- “अगर इस मामले में कोई सबूत है जो घटना में उसकी(आशीष की) संलिप्तता को साबित करता हो, तो आलाकमान निर्णय लेगा। विपक्ष की मांग भर से ही पार्टी दबाव में नहीं आएगी।

बता दें कि लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में 4 किसानों की मौत हो गई थी। जिसका आरोप केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा पर है। वहीं आशीष के पिता लगातार इस हिंसा में अपने बेटे की संलिप्तता से इनकार कर रहे हैं।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट