उत्तर प्रदेशः लखीमपुर खीरी में किसानों के प्रदर्शन के दौरान हिंसा, आठ की मौत, बीजेपी मंत्री पर कुचलने का आरोप

गृह राज्यमंत्री मिश्रा ने पीटीआई को बताया है कि लखीमपुर खीरी में किसानों के प्रदर्शन में शामिल कुछ तत्वों ने भाजपा के तीन कार्यकर्ताओं, एक चालक को पीट-पीट कर मार डाला। उन्होंने यह भी कहा कि लखीमपुर खीरी में घटनास्थल के पास मेरा बेटा मौजूद नहीं था, इसके वीडियो साक्ष्य हैं।

Lakhimpur Kheri, Farmers protest, Agricultural laws, Three died, Ministers convoy
लखीमपुर खीरी में किसानों की मौत के बाद कई वाहनों को आग के हवाले किया गया। (फोटोः ट्विटर@soundarc2001)

लखीमपुर खीरी में किसानों के विरोध प्रदर्शन के दौरान रविवार को यहां भड़की हिंसा में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हो गई। यह घटना तिकोनिया-बनबीरपुर मार्ग पर हुई। चार प्रदर्शनकारियों को टक्कर मारे जाने के बाद नाराज किसानों ने दो वाहनों में आग लगा दी। इसमें चार लोग मारे गए।

किसान यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के बनबीरपुर दौरे का विरोध कर रहे थे। यह केंद्रीय गृह राज्य मंत्री और खीरी से सांसद अजय कुमार मिश्रा का पैतृक गांव है। किसानों का आरोप है कि एक वाहन में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री मिश्रा का बेटा सवार था। उसने चार किसानों को कुचल दिया। हालांकि मिश्रा ने आरोप को खारिज किया है।

गृह राज्यमंत्री मिश्रा ने पीटीआई को बताया है कि लखीमपुर खीरी में किसानों के प्रदर्शन में शामिल कुछ तत्वों ने भाजपा के तीन कार्यकर्ताओं, एक चालक को पीट-पीट कर मार डाला। उन्होंने यह भी कहा कि लखीमपुर खीरी में घटनास्थल के पास मेरा बेटा मौजूद नहीं था, इसके वीडियो साक्ष्य हैं।

भारी बवाल के बाद फोर्स मौके पर मौजूद है। एडीजी जोन लखनऊ एसएन साबत ने बताया कि अब तक 8 लोगों की मौत की सूचना है। मौके पर आईजी रेंज लखनऊ लक्ष्मी सिंह, एडीजी लॉ एंड आर्डर प्रशांत कुमार पहुंच गए हैं। घटना को काबू करने के लिए आसपास के थानों की फोर्स को भी लगाया गया है।

टीवी रिपोर्ट्स के मुताबिक केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी के गांव बनवीर में रविवार को डिप्टी सीएम केशव प्रसाद पहुंचने वाले थे। किसानों ने गांव के मैदान में बने हेलिपैड पर कब्जा जमा लिया था। किसान मंत्री के खिलाफ प्रदर्शन करने जा रहे थे। तिकुनिया में किसान उप मुख्यमंत्री को काले झंडे दिखाने के लिए खड़े हुए थे। संयुक्त किसान मोर्चा का आरोप है कि लखीमपुर खीरी के सांसद और गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी के पुत्र आशीष ने किसानों पर कार चढ़ा दी।

कार चालक ने किसानों पर पीछे से गाड़ी चढ़ाई। जिसमें 4 किसानों की मौत हो गई। घटना के बाद मौके पर मौजूद किसानों ने उनके साथियों को कुचलने वाली दोनों गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया। पुलिस का कहना है कि हिंसा में चार लोगों की मौत हो गई।

उधर, बीकेयू नेता राकेश टिकैत ने कहा है कि घटना में चार किसान मारे गए हैं। यह किसान मंत्री के खिलाफ प्रदर्शन करने जा रहे थे। उनका कहना है कि वह देर रात तक लखीमपुर खीरी पहुंच जाएंगे। पीड़ित किसानों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर वह उनकी लड़ाई लड़ेंगे।

इस मामले पर यूपी के पूर्व सीएम व सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने ट्वीट कर लिखा है- कृषि कानूनों का शांतिपूर्ण विरोध कर रहे किसानों को भाजपा सरकार के गृह राज्यमंत्री के पुत्र द्वारा, गाड़ी से रौंदना घोर अमानवीय और क्रूर कृत्य है। उप्र दंभी भाजपाइयों का ज़ुल्म अब और नहीं सहेगा। यही हाल रहा तो उप्र में भाजपा के लोग न तो गाड़ियों से चल पाएंगे न ही उतर पाएंगे।

जयंत चौधरी ने भी ट्वीट कर लिखा है, लखीमपुर खीरी से दिल दहलाने वाली खबरें आ रहीं हैं! केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा का काफिला आंदोलनकारी किसानों पर चढ़ा दिया गया! 2 किसानों की मौत हो गई और कई घायल हैं। विरोध को कुचलने का काला कृत्य जो किया है, साजिश जब गृह मंत्री रच रहे हैं, फिर कौन सुरक्षित है।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट