ताज़ा खबर
 

लेडी ऑफ द हार्ले का हुआ अंतिम संस्कार, दोस्तों ने डॉ. को ठहराया मौत का जिम्मेदार, पढ़ेः वीनू का लास्ट Facebook स्टेटस

लेडी ऑफ द हार्ले के नाम से मशहूर जानी-मानी 42 साल की बाइकर वीनू पालीवाल का बुधवार को जयपुर में अंतिम संस्कार किया गया।

Author नई दिल्ली/जयपुर | Updated: April 13, 2016 4:22 PM
नहीं रही वीनू पालीवाल, बुधवार को हुआ अंतिम संस्कार

लेडी ऑफ द हार्ले के नाम से मशहूर जानी-मानी 42 साल की बाइकर वीनू पालीवाल का बुधवार को जयपुर में अंतिम संस्कार किया गया। कश्मीर से कन्याकुमारी की यात्रा पर निकलीं वीनू पालीवाल की सड़क हादसे में सोमवार को मौत हो गई। वीनू ने अपनी द हार्ले डेविडसन के जरिए देश के विभिन्न इलाकों का भ्रमण कर चुकी थीं। वे 24 मार्च को बाइक से अपनी यात्रा पूरी करने निकली थीं लेकिन अफसोस उनका ये सपना पूरा न हो सका।

अपनी हॉर्ले डिबाइक से देश की यात्रा पर निकली वीनू पालीवाल ने यात्रा के 16 वें दिन 10 अप्रैल को दुर्गापुर से लखनऊ जाते समय फेसबुक पर अपना आखिरी स्टेटस अपडेट किया था। जिसमें उन्होंने लिखा था कि अब हम यहां से निकल रहे हैं। लेकिन रास्ता खराब है। ट्रैफिक बहुत ज्यादा है। रोड भी खराब है। और जगह-जगह जाम है। लेकिन हमारा लीडर बेहद मजबूत है और आगे से आगे रास्ता बना रहा है। उसने मैसेज के अंत में लिखा था कि लखनऊ में मेरे दोस्त इंतजार कर रहे हैं।

वीनू की मौत के बाद उसके दोस्तों ने फेसबुक पर हाईवे की बदहाली का गुस्सा केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गड़करी पर उतारा। दोस्तों ने अपने मैसेजेस में लिखा है कि गड़करी ने हाईवे में बदलाव के ढेरों दावे किए हैं। लेकिन हकीकत इसके उलट है। उन्हें हाईवे की हालत में बदलाव लाना चाहिए, ताकि हाईवे का सफर सुरक्षित हो सके।

तो दूसरी ओर वीनू के साथ यात्रा पर गए साथी दीपेश ने डॉक्टरों पर उपचार के दौरान गलत इंजेक्शन से वीनू की मौत होने का आरोप लगाया था। इसका खुलासा मंगलवार को जिला अस्पताल में चार डाक्टरों की टीम द्वारा किए गए पोस्ट मार्टम की प्रारंभिक रिपोर्ट में हुआ है।

जिला अस्पताल डॉ. आरएल सिंह, डॉ. आरके साहू, आरके वर्मा और नेहा जैन ने वीनू का पोस्टमार्टम किया। डा. सिंह के मुताबिक वीनू के शव पर दाहिने हिस्से में चोट पाई गई है। दुर्घटना के बाद लीवर फटने से रक्त स्राव हुआ, जिसके कारण उसकी मौत हो गई। पीएम की वीडियोग्राफी भी कराई गई है।

Also Read: लेडी ऑफ द हार्ले के नाम से मशहूर बाइक राइडर वीनू पालीवाल की मौत, अधूरा रह गए कुछ सपने 
बता दें कि बीते दिन पहले ही सोमवार को टाउन बागरोद के पास अंधे मोड़ पर हार्ले डेविडसन गाड़ी फिसलने से घायल हुई बाइक राइडर वीनू पालीवाल की मौत पेट के दाहिने हिस्से में चोट लगने और लीवर फटने के कारण हुई थी। इसके बाद उन्हें विदिशा के हॉस्टपिटल ले जाया गया लेकिन वहां उन्हें डॉक्टर्स ने मृत घोषित कर दिया। बता दें कि इस यात्रा में वीनू के साथ उनके साथी दीपेश भी थे, जो बुरी तरह से घायल हैं।

दोस्तों के मुताबिक स्वच्छता और शांति का संदेश लेकर भारत भ्रमण पर पहली बार निकली वीनू अपने लक्ष्य के बिल्कुल करीब पहुंच गई थी, लेकिन सड़क हादसे ने उनकी यात्रा पूरी नहीं होने दी। देश की यात्रा करने के लिए 21 पड़ाव तय थे जिनमें से वीनू ने 17 दिन में 9 हजार किलोमीटर बाइक चलाकर 19 पड़ाव पूरे कर लिए थे। आखिरी पढ़ाव उनका इंदौर था। वे एक मूवी में भी काम करने वाली थीं। लेकिन अफसोस उनका सपना महज सपना ही बनकर रह गया।

वीनू की मौत के बाद उसके दोस्तों ने फेसबुक पर हाईवे की बदहाली का गुस्सा केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गड़करी पर उतारा। दोस्तों ने अपने मैसेजेस में लिखा है कि गड़करी ने हाईवे में बदलाव के ढेरों दावे किए हैं। लेकिन हकीकत इसके उलट है। उन्हें हाईवे की हालत में बदलाव लाना चाहिए, ताकि हाईवे का सफर सुरक्षित हो सके।
एक दिन पहले सोमवार को कस्बा बागरोद के पास अंधे मोड़ पर हार्ले डेविडसन गाड़ी फिसलने से घायल हुई बाइक राइडर वीनू पालीवाल की मौत पेट के दाहिने हिस्से में चोट लगने और लीवर फटने के कारण हुई थी। इसका खुलासा मंगलवार को जिला अस्पताल में चार डाक्टरों की टीम द्वारा किए गए पोस्ट मार्टम की प्रारंभिक रिपोर्ट में हुआ है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories