ताज़ा खबर
 

CAA पर बोले कुमार विश्वास- देश को आग में झोंकने वाला आंदोलन कभी सफल नहीं हुआ, दंगे भड़काने वाले वोट गिन रहे

उन्होंने कहा, "अगर देश व अपने आंदोलन से ज़रा भी प्यार है तो पुलिस पर हमला करना,सरकारी सम्पत्ति को आग लगाना बंद करें। असहमति व लोकतंत्र ज़िंदा रखें।"

कुमार विश्वास (फोटो सोर्स: ट्विटर)

देश भर में नागरिकता कानून और एनआरसी के खिलाफ हो रहे हिंसक प्रदर्शन के बीच कवि कुमार विश्वास ने लोगों से भावुक अपील की है। उन्होंने ट्वीट के माध्यम से कहा कि हर वो आंदोलन जो देश को आग में झोंकता हो, कभी सफल नहीं हो सका है। ऐसे में अगर प्रदर्शनकारियों को देश से जरा भी प्यार है तो पुलिस पर हमला करना, सरकारी संपत्ति को आग लगाना बंद करें। बता दें कि दिल्ली, यूपी समेत कई जगहों पर हिंसक प्रदर्शन का दौर अभी जारी है।

लोगों से की यह अपील: कुमार विश्वास ने कहा, “आज़ादी से पहले व बाद में क़ानून बनवाने/बदलवाने के लिए सैंकड़ों आंदोलन हुए हैं, लेकिन हर वो आंदोलन जो देश को आग में झोंकता हो,कभी सफल नहीं हो सका। अगर देश व अपने आंदोलन से ज़रा भी प्यार है तो पुलिस पर हमला करना,सरकारी सम्पत्ति को आग लगाना बंद करें। असहमति व लोकतंत्र ज़िंदा रखें।”

दिल्ली प्रदर्शन पर कही यह बात: कुमार ने अपने ट्वीट में लिखा, “देश लाठियां, गोलियां, गोले, आंसू, ज़ख़्म, चीखें और नुक़सान गिन रहा है पर जिन्होंने ये आग लगाई-भड़काई-फैलाई व पहुंचाई है वे सारे बस सीटें और वोट गिन रहे हैं! जो वो दोनों चाहते थे और चाहते हैं, वही हो रहा है! राजघाट पर कोई ख़ामोश रो रहा है! भारत को सिर्फ़ भारत बचा सकता है।

जुमे की नमाज के बाद प्रदर्शन: उत्तर प्रदेश के विभिन्न हिस्से में शुक्रवार की नमाज के बाद नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी के विरोध में व्यापक प्रदर्शन हुआ है। जिससे प्रदेश के नये हिस्सों में हिंसा फैल गयी। यूपी के जिन जिलों से हिंसा की खबरें आ रही हैं, उनमें गोरखपुर, फिरोजाबाद, भदोही, बहराइच, फर्रूखाबाद और संभल शामिल हैं। प्रदर्शनकारियों को निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने से रोका गया तो उन्होंने पुलिस पर पथराव कर दिया। दिल्ली के जामा मस्जिद, जामिया, सीलमपुर के अलावा ग्वालियर, वड़ोदरा, मुंबई, चेन्नई, हैदराबाद, बोंगाईगांव और यूपी के हापुड़, बहराइच, संभल, हाथरस, एटा, हमीरपुर, सीतापुर, कानपुर, बुलंदशहर, बिजनौर, सहारनपुर, जौनपुर, फिरोजाबाद, गोरखपुर, वाराणसी, मुजफ्फरनगर आदि में बड़ी हिंसा हुई।

Next Stories
1 CAA और NRC पर सरकार की सफाई- जो 1987 से पहले जन्‍मे या ज‍िनके माता-पिता 1987 से पहले पैदा हुए, वे सभी भारतीय हैं
2 ममता बनर्जी के ‘जनमत संग्रह’ पर भड़की BJP, कहा- दीदी बना रही खुद को हंसी का पात्र, स्मृति ईरानी ने यूं साधा निशाना
3 CAA को लेकर यूपी में हिंसा, 6 की मौत; कानपुर में 8 को लगी गोली
ये पढ़ा क्या ?
X