ताज़ा खबर
 

जम्मू-कश्मीर: कुलगाम मुठभेड़ में जैश-ए-मोहम्मद के तीन आतंकी ढेर, डीएसपी सहित दो जवान शहीद, 2 घायल

जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ में जम्मू कश्मीर पुलिस सेवा के 2011 बैच के अधिकारी और जम्मू के डोडा क्षेत्र के निवासी ठाकुर पुलिस दल की अगुवाई कर रहे थे।

शहीद डीएसपी अमन ठाकुर को श्रद्धांजलि देते जम्मू-कश्मीर पुलिस के अधिकारी। (फोटो-ANI)

दक्षिण कश्मीर के कुलगाम में आतंकियों से हुई मुठभेड़ में जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीएसपी अमन ठाकुर के अलावा सेना के एक और जवान की शहादत हुई है। आतंकियों को मुंहतोड़ जवाब देते हुए सेना ने जैश-ए-मोहम्मद के तीन आतंकवादियों को भी मार गिराया है। समाचार एजेंसी पीटीआई को अधिकारियों ने यह जानकारी दी। अधिकारियों ने बताया कि इलाके में आतंकवादियों के एक समूह की मौजूदगी के बारे में पुलिस को खुफिया सूचना मिलने के बाद कुलगाम के तुरिगाम इलाके में मुठभेड़ शुरू हुई। जब पुलिस दल वहां पहुंचा तो आतंकियों ने उन पर गोलीबारी शुरू कर दी जिसमें पुलिस उपाधीक्षक अमन ठाकुर गंभीर रूप से जख्मी हो गये। सैन्य अस्पताल ले जाते समय उन्होंने दम तोड़ दिया। अधिकारियों ने बताया कि मुठभेड़ में सेना के एक मेजर और दो जवान भी घायल हुए। उन्होंने बताया कि घायल गैर कमीशन प्राप्त अधिकारी हवलदार सोमबीर ने बाद में दम तोड़ दिया। एक मेजर सहित अन्य घायल व्यक्ति खतरे से बाहर हैं।

मुठभेड़ में तीन आतंकवादी भी मारे गये। उनकी पहचान अभी नहीं हो पाई है। जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ में जम्मू कश्मीर पुलिस सेवा के 2011 बैच के अधिकारी और जम्मू के डोडा क्षेत्र के निवासी ठाकुर पुलिस दल की अगुवाई कर रहे थे। जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) दिलबाग सिंह ने कहा, ‘‘यह एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना है जिसमें हमने एक बहादुर अधिकारी को खो दिया। वह एक योद्धा थे और रविवार के अभियान अगुवाई उन्होंने खुद की।’’ ठाकुर दो साल से दक्षिण कश्मीर के आतंकवाद से प्रभावित क्षेत्र कुलगाम में पुलिस उपाधीक्षक (अभियान) थे। उन्होंने इलाके में आतंक विरोधी अभियानों की सफलतापूर्वक अगुवाई की थी। अनुकरणीय सेवा के लिए पिछले महीने उन्हें डीजीपी का कमेंडेशन मेडल और सर्टिफिकेट प्रदान किया गया था।

घटना के बाद जम्मू-कश्मीर पुलिस की तरफ से जारी एक आधिकारिक बयान में कहा गया है, “24 फरवरी को कुलगाम में तुरीगाम यारीपोरा में आतंकियों से मुठभेड़ के दौरान ऑपरेशन के डिप्टी एसपी श्री अमन कुमार ठाकुर को खो दिया। हम शहीद जवान के प्रति श्रद्धांजलि व्यक्त करते हैं। इस दुख की घड़ी में हमारे संवदेना उनके परिवार के प्रति है। अमन कुमार 2011 बैच के आईएएस ऑफिसर थे, जो इस ऑपरेशन का नेतृत्व कर रहे थे। वे पिछले डेढ़ साल से कुलगाम जिले में जम्मू-कश्मीर पुलिस की आतंकवाद विरोधी शाखा का नेतृत्व कर रहे थे और इलाके में खूंखार आतंकवादियों को मारने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।”

martyr DSP aman thakur

कुलगाम मुठभेड़ में शहीद हुए जम्मू कश्मीर पुलिस के डीएसपी अमन ठाकुर

बयान में आगे कहा गया है, “अमन कुमार अपनी सादगी, दृढ़ संकल्प और वीरता के लिए जाने जाते थे। कुछ ही समय में उन्होंने अपने सहायक स्वभाव और काम से क्षेत्र में स्थानीय लोगों का प्यार, सम्मान और प्रशंसा अर्जित की। गोगला जिला डोडा के निवासी, अमन कुमार वृद्ध माता-पिता, पत्नी सरला देवी और 6 साल के बेटे आर्य  को अपने पीछे छोड़ गए।”

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 भाजपा सांसद की चेतावनी- जिस दिन हिन्दुओं की आबादी 80% से घटी, समझ लेना देश खतरे में है
2 PM Kisan Samman Nidhi Yojna: 2000 रुपये की पहली किस्‍त जारी, मोदी सरकार के सामने हैं ये 3 चुनौतियां
3 ISIS के चंगुल से लौटे मां-बेटे की दास्‍तान: लाशों के ढेर से होकर गुजरे, 53 घंटों तक चलना पड़ा पैदल
Padma Awards List आज का राशिफल
X