ताज़ा खबर
 

परवेज मुशर्रफ: RAW एजेंट है कुलभूषण जाधव, हमारे पास सबूत मौजूद, भारत को देने की जरूरत नहीं

मुशर्रफ ने कहा, 'अभी भारत और पाकिस्तान के बीच जो माहौल बना है इसके लिए भारत जिम्मेदार है, आपके प्रधानमंत्री जिम्मेदार हैं, आपके रक्षा मंत्री जिम्मेदार हैं, आपके आर्मी चीफ जिम्मेदार हैं।'

पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज़ मुशर्रफ। (फाइल फोटो)

करगिल घुसपैठ की स्क्रिप्ट लिखने वाले पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ ने कहा है कि ब्लूचिस्तान में गिरफ़्तार कुलभूषण जाधव RAW का एजेंट है, और उसे पाकिस्तान के कानून के मुताबिक सजा मिलनी चाहिए। पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति ने अंग्रेजी न्यूज चैनल इंडिया टुडे को दिये इंटरव्यू में कहा, ‘यहां वाशिंगटन में बैठकर मैं निश्चित रुप से ये नहीं जानता कि कुलभूषण जाधव के खिलाफ क्या सबूत हैं, लेकिन मुझे भरोसा है कि ISI के पास सबूत जरूर मौजूद है, हो सकता है कि उन्होंने इस सबूत को अभी भारत के साथ साझा नहीं किया हो लेकिन मैं निश्चितता पूर्वक कह सकता हूं कि भविष्य में ISI इस सबूत को भारत के साथ साझा करेगा।’
परवेज मुशर्रफ ने भारत के इस तर्क को खारिज कर दिया कि जाधव भारतीय नेवी का एक रिटायर्ड कमांडर है, उन्होंने कहा कि कुलभूषण जाधव भारत की खुफिया एजेंसी RAW का एजेंट है।

अंतर्राष्ट्रीय मंच पर पाकिस्तान को दुष्ट और धोखेबाज देश साबित करने की भारत की मुहिम पर परवेज मुशर्रफ इंटरव्यू के दौरान ही भड़क गये और भारत पर ये तोहमत मढ़ दिया। मुशर्रफ ने कहा, ‘पाकिस्तान दुष्ट नहीं है, मैं सोचता हूं कि भारत ही एक ऐसा है।’ आगे मुशर्रफ ने कहा, ‘अभी भारत और पाकिस्तान के बीच जो माहौल बना है इसके लिए भारत जिम्मेदार है, आपके प्रधानमंत्री जिम्मेदार हैं, आपके रक्षा मंत्री जिम्मेदार हैं, आपके आर्मी चीफ जिम्मेदार हैं।’

मुशर्रफ के मुताबिक कुलभूषण जाधव नेवी से रिटायर नहीं हुआ है, वह सीधे नेवी से रॉ में चला गया और जासूसी करने लगा। भारत के खिलाफ करगिल षड़यंत्र रचने वाले परवेज मुशर्रफ ने कहा कि चाबहार उसका अड्डा था जो कि ब्लूचिस्तान में घुसपैठ करने के लिए उत्तम जगह है। भारत को कुलभूषण जाधव से जुड़े सबूत ना सौंपकर अंतर्राष्ट्रीय नियमों का उल्लंघन करने पर परवेज मुशर्रफ ने कहा कि, दोनों ही देश नियमों का उल्लंघन करनेत हैं। मुशर्रफ ने कहा कि कुलभूषण जाधव जासूस है इसलिए सैन्य अदालत में उसके केस की सुनवाई हुई है। पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति ने कहा कि उनके देश को भारत को सबूत सौंपने की जरूरत नहीं है। बता दें कि पाकिस्तान की सैन्य अदालत ने कथित जासूसी के जुर्म में भारत के रिटायर्ज नेवी ऑफिसर को मौत की सजा धुनाई है।

अफगानिस्तान पर अमेरिका द्वारा किए गए बम हमले पर ट्रंप ने कहा- "अमेरिकी सेना पर है गर्व"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App