ताज़ा खबर
 

मोदी सरकार में मंत्री के बैचमेट थे कथित जासूसी में फांसी की सजा पाएं कुलभूषण जाधव, 30 साल पुराना नाता

दोनों बैचमेट्स (कुलभूषण यादव और राज्यवर्धन) ने सेना से समयपूर्व सेवानिवृत्ति (premature retirement) ले ली थी। राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने 2014 लोकसभा चुनाव से पहले बीजेपी का दामन थामा और आज वह केंद्रीय मंत्री हैं।
Author नई दिल्ली। | April 12, 2017 13:23 pm
भारतीय नौसेना के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव (File Photo)

नौसेना के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान की एक सैन्य अदालत ने जासूसी और विध्वंसक गतिविधियों में संलिप्त रहने को लेकर मौत की सजा सुनाई है। इस पर भारत सरकार ने सख्त नाराजगी जताई है। हालांकि कुलभूषण जाधव के बारे में लोगों को कम ही जानकारी है। बहुत कम ही लोगों को इस बात की जानकारी है कि कुलभूषण जाधव मोदी सरकार में मंत्री और ओलंपिंक में सिल्वर मेडल जीतने वाले राज्यवर्धन सिंह राठौड़ के बैचमेट है। करीब 30 साल पहले दोनों युवाओं ने पुणे स्थित नेशनल डिफेंस एकेडमी (NDA) के साथ ज्वाइन की थी। एक आज मंत्री है और दूसरे को पाकिस्तान में जासूसी का दोषी ठहराते हुए मौत की सजा सुनाई है।

जासूसी और विध्वंसक गतिविधियों में संलिप्त रहने को लेकर मौत की सजा पाने वाले कुलभूषण जाधव और सूचना प्रसारण राज्य मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ एक ही बैच के है। दोनों एनडीए के 77 वें कोर्स के हैं। एनडीए से तीन साल का कोर्स पूरा करने के बाद जाधव ने भारतीय नौ सेना ज्वाइन की और 1991 में मेरीटाइम फोर्स इंजियनियरिंग ब्रांच में कमीशंड हुए। वहीं, राज्यवर्धन सिंह राठौड़ इंडियन मिलिट्री एकेडमी देहरादून से एक साल का कोर्स करने के बाद आर्मी में नियुक्त हुए।

दोनों बैचमेट्स (कुलभूषण यादव और राज्यवर्धन) ने सेना से समयपूर्व सेवानिवृत्ति (premature retirement) ले ली थी। राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने 2014 लोकसभा चुनाव से पहले बीजेपी का दामन थामा और आज वह केंद्रीय मंत्री हैं। वहीं जाधव ने नौसेना छोड़ने के बाद इरान के चाबहार बंदरगाह पर छोटा से बिजनेस शुरू किया। जहां से उन्हें अगवा किया गया और 2016 में पाकिस्तान ले जाया गया।

पाकिस्तान हमेशा से ये कहता आया है कि कुलभूषण जाधव हिन्दुस्तान की खुफिया एजेंसी RAW का एजेंट है। जाधव को 3 मार्च, 2016 को बलूचिस्‍तान के मश्‍केल क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया था। जाधव पर जासूसी और कराची तथा बलूचिस्‍तान में अशांति फैलाने का आरोप है। पाकिस्तान के आरोपों को खारिज करते हुए भारत सरकार ने अपने आधिकारिक बयान में कहा था कि जाधव कभी इंडियन नेवी का सदस्य रहा है, और रिटायरमेंट के बाद से उसका भारत सरकार या इंडियन नेवी से कोई संपर्क नहीं रहा है।

कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान में मौत की सजा मिलने पर भारत का कड़ा रुख; रोकी पाकिस्तानी कैदियों की रिहाई

बीजेपी यूथ विंग के नेता ने कहा- "ममता बनर्जी का सिर काटकर लाने वाले को 11 लाख रुपए दूंगा"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.