scorecardresearch

कोविड 19 : देश में 4.71 करोड़ से ज्यादा लोगों को लगनी है एहतियाती खुराक

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक कोरोनारोधी टीके की दूसरी खुराक लेने के 39 सप्ताह या 273 दिनों बाद इस खुराक को लिया जा सकता है।

Corona Vaccine
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक प्रस्तुतीकरण के लिए किया गया है। Source- PTI

देश के कुछ राज्यों में कोरोना विषाणु संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी के बीच रविवार से 18 साल से अधिक आयु वर्ग के लोगों के लिए एहतियाती (बूस्टर) खुराक देने का कार्य शुरू हो गया। हालांकि, सिर्फ निजी टीकाकरण केंद्रों पर ही एहतियाती खुराक देना शुरू किया गया। रविवार तक देश में 4.71 करोड़ से अधिक लोग एहतियाती खुराक लेने के योग्य हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक कोरोनारोधी टीके की दूसरी खुराक लेने के 39 सप्ताह या 273 दिनों बाद इस खुराक को लिया जा सकता है।

मंत्रालय के नियम के मुताबिक 10 जुलाई, 2021 तक कोरोनारोधी टीके की दूसरी खुराक लेने वाले लोग एहतियाती खुराक ले सकते हैं। मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार 10 जुलाई के आंकड़ों पर नजर डालें तो उस दिन तक देश में दूसरी खुराक लेने वालों की कुल संख्या 7.14 से ज्यादा थी। इनमें 73.84 लाख से अधिक स्वास्थ्यकर्मी दूसरी खुराक ले चुके थे। इसी तरह इस दिन तक पहली पंक्ति के 98.42 लाख से ज्यादा लोग, 18 से 44 साल आयु वर्ग के 35.15 लाख से अधिक लोग, 45 से 59 साल आयु वर्ग के 2.27 करोड़ से अधिक व्यक्ति और 60 साल से ऊपर के 2.79 करोड़ लोग दूसरी खुराक ले चुके थे।

मंत्रालय के मुताबिक 10 जुलाई तक दूसरी खुराक लेने वाले इन लोगों में से नौ अप्रैल, 2022 तक केवल 2.43 करोड़ से अधिक लोगों ने ही एहतियाती खुराक ली है। इनमें 45.34 लाख स्वास्थ्यकर्मी शामिल हैं। इसी प्रकार पहली पंक्ति के 70.10 लाख कर्मचारियों और 60 साल से अधिक आयु के 1.27 करोड़ से ज्यादा व्यक्ति एहतियाती खुराक ले चुके हैं। देश में वर्तमान में 38.50 लाख स्वास्थ्यकर्मी, 28.42 लाख अग्रिम पंक्ति के कर्मचारी, 18 से 44 साल आयु वर्ग के 35.15 लाख से अधिक लोग, 45 से 59 साल आयु वर्ग के 2.27 करोड़ से अधिक व्यक्ति और 60 साल से ऊपर के 1.52 करोड़ लोग एहतिहाती खुराक के योग्य हैं।

10 जनवरी से एहतियाती खुराक की शुरुआत हुई थी
देश में 10 जनवरी से स्वास्थ्यकर्मियों, अग्रिम पंक्ति के कर्मचारियों और 60 साल से अधिक आयु वर्ग के ऐसे लोग जो अन्य बीमारियों से पीड़ित हैं, के लिए कोरोनारोधी टीके की एहतियाती खुराक देने की शुरुआत हुई थी। हालांकि, इसमें बाद में बदलाव करते हुए 60 साल से अधिक आयु वर्ग के सभी लोगों को इस खुराक के योग्य कर दिया था।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.