ताज़ा खबर
 

कोटा के सरकारी अस्‍पताल में 10 नवजात बच्‍चों की मौत, ओम बिरला ने तुरंत कार्रवाई के लिए सीएम को लिखा खत

बिरला ने गहलोत को लिखे पत्र में कहा कि जानकारी के मुताबिक अस्पताल में जीवन रक्षक उपकरण काम नहीं कर रहे हैं और योग्य चिकित्सकों एवं पैरामेडिकल कर्मचारी के कई पद खाली हैं।

Author नई दिल्ली | Updated: December 27, 2019 10:30 PM
Kota, Om Birla, Ashok Gehlotबिरला ने कहा कि कोटा-बूंदी संसदीय क्षेत्र में स्थित जेके लोन अस्पताल में शिशुओं की असमय मौत सभी के लिए चिंता का विषय है।(फाइल फोटो)

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने अपने संसदीय क्षेत्र कोटा के एक अस्पताल में पिछले दो दिनों में 10 शिशुओं की मौत होने पर शुक्रवार को राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को इस विषय की जांच-पड़ताल कराने और आवश्यक मेडिकल इंतजाम करने का अनुरोध किया।

बिरला ने कहा कि कोटा-बूंदी संसदीय क्षेत्र में स्थित जेके लोन अस्पताल में शिशुओं की असमय मौत सभी के लिए चिंता का विषय है।उन्होंने कहा कि इस बड़े अस्पताल में योग्य चिकित्सार्किमयों और जीवन रक्षक उपकरणों के अभाव के चलते हर साल 800 से 900 शिशुओं और 200 से 250 बच्चों की मौत हो जाती है।

बिरला ने गहलोत को लिखे पत्र में कहा कि जानकारी के मुताबिक अस्पताल में जीवन रक्षक उपकरण काम नहीं कर रहे हैं और योग्य चिकित्सकों एवं पैरामेडिकल कर्मचारी के कई पद खाली हैं।उन्होंने इसे हर साल इस अस्पताल में शिशुओं और बच्चों की मौत होने की मुख्य वजह बताया और इस विषय की जांच पड़ताल करने के लिए गहलोत से एक कमेटी गठित करने का अनुरोध किया।

बिरला ने कहा कि उन्होंने इस विषय की जांच पड़ताल करने और अस्पताल में सुविधाओं को बेहतर करने के लिए तथा सभी आवश्यक इंतजाम करने का गहलोत से व्यक्तिगत रूप से अनुरोध किया है।

 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 श्रम मंत्रालय एक जनवरी से लागू करेगा पेंशन ‘कम्युटेशन’ सुविधा, 6.3 लाख पेंशनभोगी होंगे लाभान्वित
2 CAA पर नए साल में मुसलमानों को जागरूक करेगी BJP! बड़े अल्पसंख्यक हुक्मरानों को साधने के लिए चलाएगी खास ‘संपर्क अभियान’
3 VIDEO: नागरिकता पर बहस में CPI नेता पर भड़के DU प्रोफेसर, बोले- भगवान राम की जन्मतिथि पूछ रहे थे आप, और माता-पिता की बताने में दिक्कत है?
ये पढ़ा क्या?
X