X

मोदी से क्यों गले मिले राहुल गांधी, क्या हुई चूक; अखिलेश यादव का मजेदार जवाब

हुआ यूं कि उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम न्यूज 18 इंडिया के कार्यक्रम बैठक में पहुंचे थे। मंच पर उनके साथ एंकर किशोर आजवाणी भी मौजूद थे, जिन्होंने सवाल दागा, "कोई हाथ भी न मिलाएगा, जो गले मिलोगे तपाक से। ये नए मिजाज का शहर है, जरा फासले से मिला करो। बशीर बद्र की पंक्तियां आपने राहुल के लिए क्यों कहीं?"

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी क्यों मिले? समाजवादी पार्टी (सपा) के नेता अखिलेश यादव ने इसी सवाल का मजेदार जवाब दिया। एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा कि राहुल और पीएम मोदी के बीच उस दौरान बात पूरी नहीं हुई थी। अगर वह पूरी हो जाती तो देश जाता कि पीएम के पास 56 इंच का सीना नहीं है। अखिलेश ने इसके अलावा यह भी कहा कि देश अब नया पीएम चाहता है, जिसके लिए ढेर सारे गठबंधनों पर बातचीत का दौर जारी है। वहीं, राहुल के साथ अपने रिश्तों पर वह बोले कि कांग्रेस अध्यक्ष से उनकी दोस्ती जारी रहेगी। वह दोस्त छोड़ते नहीं हैं। राहुल गांधी से दोस्ती रहने पर ही, आगे का रास्ता निकलेगा।

हुआ यूं कि उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम न्यूज 18 इंडिया के कार्यक्रम बैठक में पहुंचे थे। मंच पर उनके साथ एंकर किशोर आजवाणी भी मौजूद थे, जिन्होंने सवाल दागा, “कोई हाथ भी न मिलाएगा, जो गले मिलोगे तपाक से। ये नए मिजाज का शहर है, जरा फासले से मिला करो। बशीर बद्र की पंक्तियां आपने राहुल के लिए क्यों कहीं?”

अखिलेश इस पर बोले, “मैंने इसलिए यह लिखा कि अगर वह बात पूरी कर देते तो शायद देश जान जाता। वह बात पूरी नहीं हुई, क्योंकि जब वह पीएम से गले मिले और गले मिलकर अगर अपनी सीट से कह देते कि मैं गले मिलकर आया हूं। उनका 56 इंच का सीना नहीं है, बात पूरी हो जाती।”

आजवाणी ने आगे पूछा- गले मिलने पर राहुल को आलोचना का सामना करना पड़ा। उन्हें गले नहीं लगना चाहिए था? सपा नेता ने जवाब दिया, “चूंकि वह कम उम्र के हैं। सोशल मीडिया में इस तरह की चीजें काफी हाईलाइट होती हैं। शायद वे कम उम्र के हैं, इसलिए उन्होंने सोचा हो कि ये बात आगे तक जाए।” आगे अखिलेश ने कहा कि अभी देश का चुनाव होना है। वह कई मौकों पर कह चुके हैं कि देश नया पीएम चाहता है। संख्या आएगी। ढेर सारे गठबंधनों की बात हो रही है। कई दल गठबंधन कर चुके हैं।

सुनिए बातचीत के दौरान और क्या बोले सपा नेता

  • Tags: Akhilesh Yadav,
  • Outbrain
    Show comments