105 रुपए लीटर वाला तेल मिल गया सिर्फ 85 में! ममता के बंगाल में 20 रुपए सस्ता हो गया पेट्रोल, जानें- कैसे?

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पेट्रोल 101.84 रुपए प्रति लीटर पर बिक रहा है, जबकि डीजल भी 89.87 रुपए प्रति लीटर बेचा जा रहा है। वहीं कोलकाता में पेट्रोल 102.08 रुपए और डीजल 93.02 रुपए बिक रहा है।

petrol pump
तेल के बढ़ते दामों के खिलाफ अनोखे तरह से विरोध प्रदर्शन कर रहे छात्रों ने कोलकाता के एक पेट्रोल पंप पर पेट्रोल भरवाने आए लोगों की तरफ से प्रति लीटर 20 रुपए का भुगतान किया। (एक्सप्रेस फोटो)

भारत में पेट्रोल और डीजल के दाम आसमान छूते जा रहे हैं। देश के कई शहरों में पेट्रोल 100 के पार बिक रहा है और डीजल करीब 90 रुपए तक बेचा जा रहा है। देश के कई हिस्सों में भले ही पेट्रोल 105 रुपए तक बेचा जा रहा हो लेकिन ममता बनर्जी के पश्चिम बंगाल में पेट्रोल के दाम करीब 20 रुपए तक सस्ते हो गए। आइये जानते हैं कि पश्चिम बंगाल में पेट्रोल करीब 20 रुपए सस्ता कैसे हो गया।

दरअसल पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में एपीजे अब्दुल कलाम कॉलेज के शिक्षकों और विद्यार्थियों ने पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दाम को लेकर विरोध प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के दौरान छात्रों ने विरोध करने का अनोखा तरीका अपनाया। छात्रों के कहने पर पेट्रोल पंप की तरफ से एक सीमित समय के लिए पेट्रोल भरवाने आए लोगों को प्रति लीटर 20 रुपए सस्ता पेट्रोल दिया गया। इस दौरान करीब 154 लोगों को सस्ता पेट्रोल मिला। बचे हुए पैसों का भुगतान छात्रों की तरफ से किया गया।

आजतक की रिपोर्ट के अनुसार प्रदर्शन करने वाले एक छात्र ने कहा कि पेट्रोल और डीजल के दाम में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। बढ़ते दामों की वजह से जनता परेशान है। सरकार को जनता की समस्याओं के बारे में सोचना चाहिए। इसलिए हम लोगों ने इस तरह से एक अनोखा प्रदर्शन किया।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार भारत में पेट्रोल-डीजल के दामों में जुलाई के महीने में ही सात बार बढ़ोतरी हुई है। हालांकि पिछले करीब 10 दिनों से ईंधन की कीमतों में बढ़ोतरी नहीं हुई है। कीमतों में कोई बदलाव नहीं होने से राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पेट्रोल 101.84 रुपए प्रति लीटर पर बिक रहा है, जबकि डीजल भी 89.87 रुपए प्रति लीटर बेचा जा रहा है। वहीं कोलकाता में पेट्रोल 102.08 रुपए और डीजल 93.02 रुपए बिक रहा है।

बता दें कि पिछले दिनों पश्चिम बंगाल से सांसद और लोकसभा में विपक्ष के नेता अधीर रंजन चौधरी ने दावा किया था कि नरेंद्र मोदी सरकार ने लोगों की परेशानियों को सोचे बिना एक जनवरी से 69 बार पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ाये हैं और 4.91 लाख करोड़ रुपये अर्जित किए हैं। साथ ही उन्होंने केंद्र सरकार से पेट्रोल और डीजल के बढ़े हुए दामों को वापस लेने की भी अपील की थी।

अपडेट