ताज़ा खबर
 

कौन थे नारायण दत्त तिवारी? इन दो राज्यों के मुख्यमंत्री रहने वाले इकलौते नेता

ND Tiwari News: चाय पीते वक्त पिछले साल वे दिल्ली अपने आवास पर गिरकर बेहोश हो गए थे. इसके बाद दिल्ली में ही उनका इलाज चल रहा था।

कांग्रेस नेता एनडी तिवारी का निधन। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

लखनऊ। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रहे नारायण दत्त तिवारी का गुरुवार (18 अक्टूबर) को निधन हो गया। वह 93 साल के थे और करीब साल भर से अस्पताल में थे। तिवारी इकलौते ऐसे नेता रहे, जो दो राज्यों के मुख्यमंत्री थे। पहले वह उत्तर प्रदेश के सीएम बने, फिर जब उत्तराखंड राज्य बना तो वहां भी उन्होंने सीएम का पद संभाला। आपको बता दें कि चाय पीते वक्त बीते साल वह दिल्ली स्थित आवास पर गिरकर बेहोश हो गए थे, जिसके बाद से दिल्ली में उनका इलाज चल रहा था।

कौन थे एनडी तिवारीः उनका जन्म उत्तराखंड के नैनीताल जिले (तब ब्रिटिश इंडिया में यूनाइटेड प्रोविंस के बलूती) में 18 अक्टूबर 1925 को कुमाऊंनी परिवार में हुआ था। पिता का नाम पूर्णानंद तिवारी था, जो कि वन विभाग में अधिकारी थे। शुरुआती पढ़ाई हलद्वानी और नैनीताल में करने के बाद उन्होंने इलाहाबाद विश्वविद्यालय से राजनीति विज्ञान में एमए और बाद में एलएलबी किया।

nd tiwari, nd tiwari death news, nd tiwari news, nd tiwari latest news, nd tiwari age, nd tiwari congress, nd tiwari congress news, nd tiwari dies, nd tiwari health, ND Tiwari, ND Tiwari Death, ND Tiwari Die, ND Tiwari Passed away, ND Tiwari, nd tiwari death news, ND Tiwari News, Breaking News, ND Tiwari Latest News, UP Former CM, Congress politician chief minister Uttar Pradesh Uttarakhand, State News, National News, Hindi News नई दिल्ली में एनडी तिवारी को गुलदस्ता भेंट करते बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह। (फाइल फोटोः पीटीआई)

कैसा रहा राजनीतिक कद?: तिवारी ने 1963 में पहली बार कांग्रेस ज्वॉइन की। वह 1976 में पहली बार यूपी के सीएम बने। उन्हें गांधी परिवार का करीबी माना जाता था। कहा जाता है कि पूर्व पीएम इंदिरा गांधी और उनके बेटे संजय गांधी की मदद से ही वह वीर बहादुर सिंह को पद से हटाकर यूपी के सीएम बने थे।

कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता एनडी तिवारी का निधन, यूपी-उत्‍तराखंड के रह चुके थे CM

nd tiwari, nd tiwari death news, nd tiwari news, nd tiwari latest news, nd tiwari age, nd tiwari congress, nd tiwari congress news, nd tiwari dies, nd tiwari health, ND Tiwari, ND Tiwari Death, ND Tiwari Die, ND Tiwari Passed away, ND Tiwari, nd tiwari death news, ND Tiwari News, Breaking News, ND Tiwari Latest News, UP Former CM, Congress politician chief minister Uttar Pradesh Uttarakhand, State News, National News, Hindi News 16 सितंबर 1994 में प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते यूपी के तत्कालीन सीएम एनडी तिवारी। (एक्सप्रेस फोटोः आरके शर्मा)

यूपी में दूसरी पारी: 1984 में तिवारी को यूपी में बतौर सीएम दूसरी पार मुख्यमंत्री बनने का मौका मिला। जब वह सत्ता में थे तो उन्होंने राज्य विधानसभा चुनावों में यूपी में कांग्रेस को भारी जीत दिलाई। उसी साल इंदिरा की हत्या के बाद देश भर में चुनाव भी हुए थे और राजीव गांधी ने जीत दर्ज की थी।

तीसरी बार बने थे यूपी के सीएम: इस बीच, 1988 में वह यूपी में तीसरी बार सीएम बने। हालांकि, उनके सीएम बनने के बाद 1889 में कांग्रेस की बड़ी हार हुई थी। उसके बाद से कांग्रेस उत्तर प्रदेश में सत्ता में नहीं आ पाई है। राजीव गांधी की सरकार में उन्होंने केंद्रीय मंत्री की भूमिका निभाई थी।

nd tiwari, nd tiwari death news, nd tiwari news, nd tiwari latest news, nd tiwari age, nd tiwari congress, nd tiwari congress news, nd tiwari dies, nd tiwari health, ND Tiwari, ND Tiwari Death, ND Tiwari Die, ND Tiwari Passed away, ND Tiwari, nd tiwari death news, ND Tiwari News, Breaking News, ND Tiwari Latest News, UP Former CM, Congress politician chief minister Uttar Pradesh Uttarakhand, State News, National News, Hindi News यूपी की राजधानी लखनऊ में एक कार्यक्रम के दौरान एनडी तिवारी को माला पहनाते आयोजक। (एक्सप्रेस फोटोः विशाल श्रीवास्तव)

2002 में बने उत्तराखंड के सीएम: 2002 में तिवारी उत्तराखंड के सीएम बने। उत्तराखंड में पांच साल तक सीएम बने रहने वाले पहले व्यक्ति थे।

गवर्नर रहते हुए था विवाद: एनडी तिवारी 2007 से 2009 तक आंध्र प्रदेश के गवर्नर भी रहे थे। हालांकि, तीन महिलाओं द्वारा राजभवन में आपत्तिजनक अवस्था में तस्वीर आने के बाद स्वास्थ्य कारणों से इन्होंने इस्तीफा दे दिया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App