लखनऊ की किसान महापंचायत 22 नवंबर तक टली, उधर, सिंघु बार्डर पर हुई मारपीट में निहंग अरेस्ट

किसान संघ ने कहा कि केंद्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ राष्ट्रव्यापी प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे एसकेएम ने महापंचायत को 22 नवंबर के लिए टालने का फैसला किया है। एसकेएम ने दिल्ली की सीमाओं पर चल रहे किसानों के आंदोलन के 11 महीने पूरे होने के मौके पर देश भर में धरने का भी आह्वान किया।

Kamal R Khan, Mahapanchayat in UP, केआरके,
यूपी महापंचायत में किसान (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

संयुक्त किसान मोर्चा (SKM) ने लखनऊ में 26 अक्टूबर को होने वाली किसान महापंचायत को 22 नवंबर तक टालने का फैसला किया है। प्रतिकूल मौसम और फसल कटाई को देखते हुए यह फैसला लिया गया। लखीमपुर खीरी में हुई घटना के बाद एसकेएम ने 26 अक्टूबर को लखनऊ में एक किसान महापंचायत आयोजित करने की घोषणा की थी। इस घटना में चार किसानों सहित आठ लोग मारे गए थे।

किसान संघ ने कहा कि केंद्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ राष्ट्रव्यापी प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे एसकेएम ने महापंचायत को 22 नवंबर के लिए टालने का फैसला किया है। एसकेएम ने दिल्ली की सीमाओं पर चल रहे किसानों के आंदोलन के 11 महीने पूरे होने के मौके पर देश भर में धरने का भी आह्वान किया। लखीमपुर खीरी में हुई घटना के सिलसिले में केद्रीय मंत्री अजय मिश्रा को बर्खास्त करने और उनकी गिरफ्तारी की मांग को लेकर संगठन लगातार आंदोलन चला रहा है।

गौरतलब है कि लखीमपुर में किसानों को कुचले जाने की घटना के बाद एसकेएम ने महापंचायत का ऐलान किया था। इसके जरिए यूपी सरकार पर दबाव बनाने की कोशिश थी। किसान नेताओं का मानना है कि लखीमपुर मामले में योगी सरकार पक्षपात कर रही है। मंत्री अजय मिश्रा के बेटे को बचाने के लिए पुलिस हथकंडे अपना रही है।

उधर, दिल्ली के सिंघू बॉर्डर पर किसानों के प्रदर्शनस्थल के नजदीक मुर्गे को लेकर हुए विवाद में पुलिस ने एक निहंग को अरेस्ट किया है। पुलिस ने बताया कि बृहस्पतिवार को हुई घटना में आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया और उसकी पहचान हरियाणा के करनाल निवासी नवीन के तौर पर हुई है। पुलिस के अनुसार नवीन खुद को निहंग सिख बताता है।

पुलिस ने बताया कि मनोज पासवान डिलिवरी के लिए कुछ मुर्गे को ठेले पर लाद रहा था। उसी दौरान आरोपी ने उससे मुर्गा देने को कहा और मना करने पर कथित तौर पर छड़ से हमला कर दिया। इस घटना में पासवान का पैर टूट गया है। उधर, पासवान ने बताया कि उसने आरोपी को बताया कि सभी मुर्गों की गिनती की गई है, इसलिए वह एक मुर्गा भी नहीं दे सकता, जिससे नाराज होकर उसने हमला कर दिया।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
जान‍िए, स‍िम कार्ड में छ‍िपी होती है आपके बारे में कौन-कौन सी जानकारीsim card
अपडेट