ताज़ा खबर
 

दिल्ली चुनाव हार के बाद भी किरण बेदी की अकड़ बरकरार

भाजपा नेता किरण बेदी अपने इस रूख पर कायम रहीं कि जितने दिन उन्हें मिले और जो परिस्थितियां थीं उसके बावजूद उन्होंने जो प्रयास किए उसको देखते हुए विधानसभा चुनाव में उनकी हार नहीं हुई है। उनकी यह टिप्पणी ऐसे वक्त में आई है जब राज्य भाजपा नेताओं का एक वर्ग यह कह रहा है […]

Author Updated: February 19, 2015 2:30 PM

भाजपा नेता किरण बेदी अपने इस रूख पर कायम रहीं कि जितने दिन उन्हें मिले और जो परिस्थितियां थीं उसके बावजूद उन्होंने जो प्रयास किए उसको देखते हुए विधानसभा चुनाव में उनकी हार नहीं हुई है।

उनकी यह टिप्पणी ऐसे वक्त में आई है जब राज्य भाजपा नेताओं का एक वर्ग यह कह रहा है कि चुनाव से सिर्फ तीन हफ्ते पहले पूर्व आईपीएस अधिकारी को पार्टी में शामिल करना ‘गलत कदम’ था।

यह भी पढ़ें: क्या किरण बेदी को मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार बनाना सही था? 

‘स्वच्छ भारत चेकलिस्ट’ पुस्तक की वह पवन चौधरी के साथ सह लेखक हैं। इस पुस्तक के विमोचन के दौरान उन्होंने कहा, ‘‘वह मेरी स्वाभाविक प्रतिक्रिया थी। मेरे ख्याल से मैं नहीं हारी। परिस्थितियों, संसाधन, क्षमता के मद्देनजर मैंने सबकुछ दिया। लिहाजा मैं क्यों कहूंगी कि मेरी हार हुई।’’

पढ़ें: 5 बातें, किरण बेदी को ग़ुस्सा क्यों आया?

पुस्तक के विषय पर उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्वच्छ भारत का संदेश नीचे तक नहीं पहुंचा।

 

 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 दिल्ली के भाजपा नेता की शर्मनाक करतूत: बलात्कार का मामला दर्ज
2 पाकिस्तानी नौका विस्फोट: हंगामे के बाद बयान से पलटे लोशाली
3 मांझी सरकार को समर्थन देने पर भाजपा विधायक एकमत, अंतिम फैसला आज
ये पढ़ा क्या?
X