ताज़ा खबर
 

केरल: कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पुलिस स्टेशन के बाहर परोसा बीफ

इस सप्ताह की शुरुआत में केरल पुलिस विभाग ने कहा कि प्रशिक्षण कर रहे पुलिस बैच के लिए निर्धारित मेनू से बीफ हटाने की खबरों का कोई आधार नहीं है।

केरल में पुलिस स्टेशन के बाहर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने बीफ परोसा। (Photo: ANI)

केरल में राज्य पुलिस प्रशिक्षुओं के लिए मेन्यू से बीफ हटाए जाने की खबरों के बीच कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को कोझीकोड के एक पुलिस स्टेशन के सामने बीफ करी और ब्रेड परोसा। एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार, बीफ करी और ब्रेड का वितरण केरल प्रदेश कांग्रेस कमेटी (केपीसीसी) के महासचिव एडवोकेट के. प्रवीण कुमार ने मुक्कम पुलिस स्टेशन के बाहर शुरू किया था।

कुमार ने कोझीकोड में पत्रकारों से कहा, “यह केरल के सीएम पिनरई विजयन के संघ के प्रति झुकाव का स्पष्ट संकेत है। उन्होंने मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने के तुरंत बाद (प्रधान मंत्री नरेंद्र) मोदी से मुलाकात की और भाजपा के साथ समझौते के बाद उन्होंने लोकनाथ बेहरा को पुलिस महानिदेशक नियुक्त किया। लोकनाथ बेहरा ने पहले गुजरात दंगा मामले में मोदी और अमित शाह को क्लीन चिट दी थी। अब वे पिनरई विजयन के माध्यम से संघ का एजेंडा लागू कर रहे हैं। कांग्रेस राज्य में पिनरई विजयन के दोहरे चरित्र का खुलासा करेगी।”

हालांकि इस सप्ताह की शुरुआत में केरल पुलिस विभाग ने कहा कि प्रशिक्षण कर रहे पुलिस बैच के लिए निर्धारित मेनू से बीफ हटाने की खबरों का कोई आधार नहीं है। पुलिस विभाग की यह सफाई तब आयी है जब मीडिया के एक समूह ने खबरें चलाई थी कि मेन्यू से बीफ हटा लिया गया है।

पुलिस विभाग द्वारा जारी बयान में कहा गया है, “ट्रेनी पुलिसकर्मियों और पुलिस अधिकारियों की मौजूदगी में मेस कमेटी ने भोजन को लेकर एक निर्णय लिया है। इसके तहत निर्देश दिया गया है कि ट्रेनी पुलिसकर्मियों के लिए अपने-अपने क्षेत्रों में उपलब्ध सामानों के साथ स्वस्थ भोजन तैयार किया जाए। इसका उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि प्रचुर ऊर्जा वाला भोजन मिले।”

केरल में लोग बड़े पैमाने पर बीफ खाते हैं। केरल उन राज्यों में शामिल है जहां गौ-हत्या वैध है। लेकिन यह देश के कुछ अन्य हिस्सों में इसे लेकर विवाद है। वजह ये है कि गाय को हिंदू धर्म में पवित्र माना जाता है। भारत की बहुसंख्यक हिंदू आबादी गाय को एक पवित्र जानवर मानती है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 15 दस्तावेज के बावजूद आपके भारतीय होने की गारंटी नहीं: 50 साल की जाबीदा की कहानी
2 अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के दौरे से पहले अहमदाबाद में जिस झुग्गी के पास बनी दीवार, वहां भूख हड़ताल शुरू
3 मध्यप्रदेश से राज्यसभा के लिए प्रियंका के नाम आने के बाद दिग्विजय, ज्योतिरादित्य सिंधिया की राह मुश्किल, ये है पूरा समीकरण
ये पढ़ा क्या?
X