ताज़ा खबर
 

Kerala Gold Scandal Case में सपरिवार स्वपना सुरेश ली गईं NIA हिरासत में, एक अन्य आरोपी गिरफ्तार

इसी बीच, मामले का एक अन्य आरोपी संदीप नायर को एनआई ने गिरफ्तार किया है।

Kerala Gold Scandal Case, Swapna Suresh, NIA, National Investigation Agencyकोच्चि में युवा कांग्रेस Congress के कार्यकर्ता केरल CM पिनरई विजयन (बीच में), पूर्व UAE कॉन्सुलेट ऑफिसर स्वपना सुरेश (लेफ्ट) और राज्य आईटी सेक्रेट्री एम सिवशंकर (राइट में) की तस्वीरें लेकर प्रदर्शन करते हुए। (फाइल फोटोः पीटीआई)

Kerala Gold Scandal Case में कर्नाटक के बेंगलुरु से NIA (राष्ट्रीय जांच एजेंसी) ने शनिवार को मुख्यारोपी स्वप्ना सुरेश और उसके परिवार के सदस्यों को हिरासत में लिया। रविवार को सुरेश को कोच्चि स्थित एनआईए कार्यालय में पेश किया जाएगा। इसी बीच, मामले का एक अन्य आरोपी संदीप नायर को एनआई ने गिरफ्तार किया है। समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार, NIA की तीन सदस्यीय टीम ने शनिवार को इस मामले में कोच्चि स्थित कमिश्नरेट ऑफ कस्टम्स (प्रिवेंटिव) पर आरोपी सरिथ से पूछताछ की।

वहीं, कांग्रेस और भाजपा के युवा संगठनों के कार्यकर्ताओं ने सोना तस्करी मामले में केरल के मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन के इस्तीफे की मांग को लेकर जारी विरोध-प्रदर्शनों के दूसरे दिन शनिवार को राज्यभर में प्रदर्शन किये। ये प्रदर्शन कुछ स्थानों पर हिंसक हो गए। वहीं, मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 प्रोटोकॉल का उल्लंघन करते हुए ऐसे प्रदर्शन आयोजित करने की इजाजत नहीं दी जाएगी।

उन्होंने कहा कि सरकार किसी के प्रदर्शन करने के अधिकार पर सवाल नहीं उठा रही है। विपक्षी पार्टियां मुख्यमंत्री पर तब से निशाना साध रही हैं जब यह बात सामने आई कि मामले में मुख्य संदिग्ध एवं संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के वाणिज्य दूतावास की पूर्व कर्मचारी स्वप्ना सुरेश को आईटी विभाग द्वारा संविदा पर नौकरी पर रखा गया था। यह प्रभार विजयन के पास है। महिला को बाद में हटा दिया गया था।

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने इस मामले की जांच अपने हाथ में ले ली है। शुक्रवार को एनआईए ने गैर कानूनी गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम के तहत चार लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की थी। राज्य की राजधानी में युवा मोर्चा के कार्यकर्ता यह पता चलने पर सचिवालय के पास स्थित फ्लैट परिसर में घुस गए और शीशे का पैनल तोड़ दिया और काला तेल डाल दिया कि फ्लैटों में से एक फ्लैट पूर्व आईटी सचिव एम शिवशंकर के पास है।

इस मामले में एक आरोपी के साथ वरिष्ठ आईएएस अधिकारी का नाम सामने आने के बाद उन्हें दो पदों से हटा दिया गया था। आईएएस अधिकारी मुख्यमंत्री के सचिव भी थे। पुलिस ने कांच का पैनल तोड़ने वाले युवा मोर्चा के पांच कार्यकर्ताओं को वहां से हटाया। पथनमथिट्टा के अडूर में मोर्चा का प्रदर्शन हिंसक हो गया और पुलिस ने कार्यकर्ताओं को तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्ज किया। कुछ प्रदर्शनकारी घायल हो गए।

कोझिकोड में भी मोर्चा ने प्रदर्शन किया। कोल्लम में, कांग्रेस के केरल स्टूडेंट्स यूनियन (केएसयू) ने जिला कलक्ट्रेट तक जुलूस निकालने की कोशिश की और पुलिस ने उन्हें तितर-बितर करने के लिए पानी के बौछार का इस्तेमाल किया। इससे संबंधित घटनाक्रम में, विधानसभा में विपक्ष के नेता रमेश चेन्निथला ने डीजीपी को पत्र लिखा और मांग की कि राज्य पुलिस मामले में एक प्राथमिकी दर्ज करे, जिसमें सीमा शुल्क ने एक राजनयिक सामान से 30 किलोग्राम सोना जब्त किया गया था जो पांच जुलाई को यहां अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के एयर कार्गो से उतरा था।

चेन्निथला ने कहा कि मुख्यमंत्री कार्यालय को भी जांच के दायरे में लाया जाना चाहिए। कांग्रेस नेता ने संवाददाताओं को बताया कि यूडीएफ द्वारा शुरू किए गए आंदोलनों के दौरान कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन किया जा रहा है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 …तब असली मुठभेड़ में चार आतंकियों को ढेर करने पर एसपी का हो गया था ट्रांसफर- ऑपरेशन में शामिल रहे पूर्व आईएएस का दावा
2 Congress सांसदों की बैठकः राहुल गांधी फिर संभालें पार्टी की कमान- एक सुर में मीटिंग में उठी आवाज
3 लगातार झूठ बोल रहे नरेंद्र मोदी, चीन पर दे रहे देश को धोखा- Congress सांसदों से बैठक में बोला राहुल गांधी ने PM पर हमला
ये पढ़ा क्या?
X