X

बाढ़ राहत पर पीएम से मिलना चाहते थे केरल के सांसद, पीएमओ ने नहीं दिया वक्‍त

कांग्रेस सांसद केसी वेणुगोपाल ने बताया, "सोमवार को मुझे पीएमओ से कॉल आई थी। पीएम के पास हमसे मिलने का वक्त नहीं है। कहा गया कि हम उनके बजाय गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मिलें।"

केरल में सभी पार्टियों के सांसद बाढ़ राहत के मसले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलना चाहते थे। उन्होंने इसके लिए प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) से समय भी मांगा था, पर पीएमओ ने वक्त देने से साफ इन्कार कर दिया। सभी सांसद राहत और बचाव कार्य के अलावा नियमों में संशोधन के मुद्दे पर भी चर्चा चाहते थे, जिसमें विदेशों (संयुक्त अरब अमीरात सरीखे देशों से) से आर्थिक मदद स्वीकारने की बात भी शामिल है।

‘द हिंदू’ से हुई बातचीत में अलाप्पुझा से कांग्रेस सांसद केसी वेणुगोपाल ने कहा, “सोमवार को मुझे पीएमओ से कॉल आई थी। कहा गया- पीएम के पास हमसे मिलने का वक्त नहीं है। हम उनके बजाय गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मिल लें।”

सांसद 30 अगस्त को गृह मंत्री से मिले थे। उस दौरान उनकी मुलाकात कुछ केंद्रीय मंत्रियों से हुई थी, जिनमें राम विलास पासवान, जेपी नड्डा और राधामोहन सिंह शामिल हैं। सांसदों की दो प्रमुख मांगें हैं। पहली- केरल की मदद के लिए विदेशी आर्थिक मदद को स्वीकार किया जाए, जबकि दूसरी मांग के तहत उन्होंने केरल के लिए केंद्र से सहायता राशि बढ़ाने को कहा है।

सांसदों के प्रतिनिधिमंडल से वादा किया गया था कि इन मुद्दों पर आगे विस्तृत बैठक होगी। उसमें केरल के मुख्यमंत्री पिनरई विजयन भी होंगे, जबकि बैठक की अध्यक्षता गृह मंत्री करेंगे। वेणुगोपाल ने अंग्रेजी अखबार को बताया, “केंद्र सरकार की ओर से इस तरह का रवैया चौंकाने वाला है। यह साफ तौर पर दर्शाता है कि सरकार उन लाखों बाढ़ पीड़ितों के प्रति उदासीन है, जो दोबारा से अपनी जिंदगियां सामान्य पटरी पर लाने का प्रयास कर रहे हैं।”

आपको बता दें कि देश के दक्षिणी राज्य केरल में आई भीषण बाढ़ के कारण तकरीबन 400 लोगों की जान चली गई थी, जबकि तीन लाख से अधिक लोग इस प्राकृतिक आपदा के कारण बेघर हो गए थे। घटना के कुछ रोज बाद सीएम पिनरई विजयन ने कहा था, “राज्य ने 100 सालों में ऐसी तबाही नहीं देखी।” प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी उस दौरान हालात का जायजा लेने केरल रवाना हुए थे, जहां उन्होंने बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई दौरा किया था।

  • Tags: Kerala, Narendra Modi,
  • Outbrain
    Show comments