ताज़ा खबर
 

बाढ़ राहत पर पीएम से मिलना चाहते थे केरल के सांसद, पीएमओ ने नहीं दिया वक्‍त

कांग्रेस सांसद केसी वेणुगोपाल ने बताया, "सोमवार को मुझे पीएमओ से कॉल आई थी। पीएम के पास हमसे मिलने का वक्त नहीं है। कहा गया कि हम उनके बजाय गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मिलें।"

Kerala Floods, Kerala, Floods, All Party MP, MP, Meet, Appointment, Prime Minister Office, PMO, Reject, Pinarayi Vijayan, Chief Minister, Alappuzha, K.C. Venugopal, Discussion, Flood Relief Work, Aamendment of Rules, Foreign Aid, Allow, Central Government, Help, Kerala, New Delhi, National News, India News, Hindi Newsकेरल के सांसदों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने के लिए PMO से वक्त मांगा था। (फोटोः पीटीआई)

केरल में सभी पार्टियों के सांसद बाढ़ राहत के मसले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलना चाहते थे। उन्होंने इसके लिए प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) से समय भी मांगा था, पर पीएमओ ने वक्त देने से साफ इन्कार कर दिया। सभी सांसद राहत और बचाव कार्य के अलावा नियमों में संशोधन के मुद्दे पर भी चर्चा चाहते थे, जिसमें विदेशों (संयुक्त अरब अमीरात सरीखे देशों से) से आर्थिक मदद स्वीकारने की बात भी शामिल है।

‘द हिंदू’ से हुई बातचीत में अलाप्पुझा से कांग्रेस सांसद केसी वेणुगोपाल ने कहा, “सोमवार को मुझे पीएमओ से कॉल आई थी। कहा गया- पीएम के पास हमसे मिलने का वक्त नहीं है। हम उनके बजाय गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मिल लें।”

सांसद 30 अगस्त को गृह मंत्री से मिले थे। उस दौरान उनकी मुलाकात कुछ केंद्रीय मंत्रियों से हुई थी, जिनमें राम विलास पासवान, जेपी नड्डा और राधामोहन सिंह शामिल हैं। सांसदों की दो प्रमुख मांगें हैं। पहली- केरल की मदद के लिए विदेशी आर्थिक मदद को स्वीकार किया जाए, जबकि दूसरी मांग के तहत उन्होंने केरल के लिए केंद्र से सहायता राशि बढ़ाने को कहा है।

सांसदों के प्रतिनिधिमंडल से वादा किया गया था कि इन मुद्दों पर आगे विस्तृत बैठक होगी। उसमें केरल के मुख्यमंत्री पिनरई विजयन भी होंगे, जबकि बैठक की अध्यक्षता गृह मंत्री करेंगे। वेणुगोपाल ने अंग्रेजी अखबार को बताया, “केंद्र सरकार की ओर से इस तरह का रवैया चौंकाने वाला है। यह साफ तौर पर दर्शाता है कि सरकार उन लाखों बाढ़ पीड़ितों के प्रति उदासीन है, जो दोबारा से अपनी जिंदगियां सामान्य पटरी पर लाने का प्रयास कर रहे हैं।”

आपको बता दें कि देश के दक्षिणी राज्य केरल में आई भीषण बाढ़ के कारण तकरीबन 400 लोगों की जान चली गई थी, जबकि तीन लाख से अधिक लोग इस प्राकृतिक आपदा के कारण बेघर हो गए थे। घटना के कुछ रोज बाद सीएम पिनरई विजयन ने कहा था, “राज्य ने 100 सालों में ऐसी तबाही नहीं देखी।” प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी उस दौरान हालात का जायजा लेने केरल रवाना हुए थे, जहां उन्होंने बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई दौरा किया था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 राजस्थान, आंध्र प्रदेश के बाद अब बंगाल ने दी राहत, ममता बनर्जी ने घटाए पेट्रोल-डीजल के दाम
2 स्‍मृति ईरानी का तंज- पीएम को गले लगाने में आगे, पर टैक्‍स ऑफिसर देख भाग खड़े होते हैं राहुल गांधी
3 तीन तलाक के बाद पीएम मोदी का एक और बड़ा ऐलान- 30 लाख से ज्‍यादा महिलाओं का पैसा बढ़ाया
IPL 2020 LIVE
X