ताज़ा खबर
 

कांग्रेस सांसद को कार दिलाने के लिए लोगों से लिया चंदा, अध्यक्ष को पता चला तो कहा- लौटाओ

कार खरीदने को लेकर केरल के अलाथुर से कांग्रेस सांसद राम्या ने खुद विवादों में पड़ गईं थी। दरअसल उनके निर्वाचन क्षेत्र में युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने उनकी कार खरीदने के लिए पार्टी सदस्यों से पैसे इकट्ठा किए थे।

कांग्रेस सांसद को कार दिलाने के लिए लोगों से चंदा लिया गया था। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

केरल में एक कांग्रेस सांसद को कार खरीदनी थी। इसके लिए पैसे चाहिए थे। पैसों की व्यवस्था की जिम्मेदारी पार्टी के युवा कार्यकर्ताओं ने ले ली। अपनी सांसद महोदया को कार दिलाने के लिए चंदा इक्ट्ठा करने लगे। लेकिन किसी तरह यह जानकारी लीक हो गई और पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष तक पहुंच गई।

पार्टी अध्यक्ष चंदे की बात सुनते ही आग-बबूला हो गए। उन्होंने तुरंत निर्देश दिया कि जिन-जिन लोगों से पैसे लिए गए हैं, उन्हें तुरंत वापस किया जाए। प्रदेश अध्यक्ष का आदेश सुनते ही चंदा से कार खरीदने की योजना रोक दी गई। हालांकि सांसद महोदया की कार खरीदी गई लेकिन लोन पर।

इंडियन एक्सप्रेस की ‘दिल्ली कॉन्फिडेंशियल’ में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, लोकसभा सदस्य राम्या हरिदास ने आखिर कार खरीद ली है। लेकिन कार खरीदने को लेकर केरल के अलाथुर से कांग्रेस सांसद राम्या ने खुद विवादों में पड़ गईं थी। दरअसल उनके निर्वाचन क्षेत्र में युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने उनकी कार खरीदने के लिए पार्टी सदस्यों से पैसे इकट्ठा किए थे।

केरल कांग्रेस के अध्यक्ष मुल्लापल्ली रामचंद्रन को जब इस मामले की जानकारी मिली तो वे काफी नाराज हो गए। उन्होंने तुरंत पार्टी सदस्यों को पैसे जमा करने से मना किया और जिन-जिन से पैसे लिए गए थे, उन्हें लौटाने को कहा। अब राम्या ने टोयटा इनोवा कार खरीदी है। लेकिन इस बार पार्टी सदस्यों द्वारा चंदे से इक्ट्ठा किए गए पैसे से नहीं, बल्कि लोन लिया है।

राम्या हरिदास दलित समुदाय से आती हैं। पिछले 48 साल से केरल से कोई भी दलित महिला संसद नहीं पहुंची थी। 2019 में अनुसूचित जाति से आने वाली राम्या ने तत्कालीन सीपीआई सांसद पीके बीजू को करीब डेढ़ लाख वोटों से हराया और संसद पहुंची। राम्या केरल से लोकसभा पहुंचने वाली दूसरी दलित महिला हैं। इनसे पहले वर्ष 1971 में सीपीआई के टिकट पर अदूर लोकसभा सीट से भार्गवी थनकप्पन लोकसभा पहुंची थीं।

Next Stories
ये पढ़ा क्या?
X