ताज़ा खबर
 

केरल में नमाज़ पढ़ते वक्त बीजेपी के सचिव पर हमला, पैरों और घूंसों से पिटाई, हालत गंभीर

कट्टाप्पना के पुलिस उपाधीक्षक एनसी राजमोहन ने समाचार एजेंसी को बताया कि मस्जिद के अंदर हमला होने की वजह से यह पता नहीं चल पाया है कि हमले में कौन शामिल था, लेकिन पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।

Author तिरुवनंतपुरम | Published on: January 13, 2020 5:24 PM
भाजपा के केरल सचिव एके नजीर, फोटो सोर्स- सोशल मीडिया

संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) को लेकर आयोजित एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने के थोड़ी देर बाद ही भाजपा के राज्य सचिव एके नजीर पर इडुक्की जिले के नेदुंगंदम स्थित एक मस्जिद में कथित तौर पर हमला किया गया। भाजपा ने ‘सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया’ (एसडीपीआई) और माकपा समर्थक ‘डेमोक्रेटिक यूथ फेडरेशन ऑफ इंडिया’(डीवाइएफआई) के कार्यकर्ताओं पर हमले का आरोप लगाया है।

इमाम ने दी नमाज पढ़ने की अनुमति: पुलिस का कहना है कि घटना मस्जिद के अंदर होने की वजह से यह साफ नहीं है कि नजीर पर किसने हमला किया। जन जागृति बैठक में शिरकत करने के बाद थुकुप्पलम जामा मस्जिद में नमाज पढ़ने पहुंचे नजीर को कुछ लोगों ने अंदर दाखिल होने से रोका, लेकिन इमाम ने उन्हें नमाज पढ़ने की अनुमति दे दी। इसके बाद वह नमाज पढ़ने चले गए।

Hindi News Live Updates 13 January 2020: देश-दुनिया की तमाम बड़ी खबरे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करे

अस्पताल में भर्ती कराया गया: भाजपा ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि, ‘‘नमाज पढ़ते समय नजीर को पीटा गया और लातें भी मारी गईं।’’ नजीर को तुरंत स्थानीय अस्पताल ले जाया गया और फिर उन्हें कोच्चि के अमृता इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज में भर्ती कराया गया है। उनकी हालत अभी गंभीर बनी हुई है।

हमला करने वाले बारे कोई जानकारी नहीं: कट्टाप्पना के पुलिस उपाधीक्षक एनसी राजमोहन ने समाचार एजेंसी को बताया कि जनसभा के हिस्से के तौर पर भाजपा ने एक रैली भी निकाली थी, जहां डीवाइएफआई के तीन कार्यकर्ताओं ने कुछ बाधाएं पैदा की थीं। उन्होंने बताया कि मस्जिद के अंदर हमला होने की वजह से यह पता नहीं चल पाया है कि हमले में कौन शामिल था, लेकिन पुलिस इस मामले की जांच कर रही है। जल्द ही इसकी खुलासा किया जाएगा।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद को इलाज के लिए तिहाड़ जेल से एम्स लाया गया, कोर्ट ने दिया था निर्देश
2 Jamia के छात्रों ने VC ऑफिस का किया घेराव, पूछा Delhi Police पर FIR होगा कब?
3 Delhi Election 2020 : Social Media पर AAP इन एड्स और मीम्स से नए वोटरों को ऐसे कर रही है आकर्षित