ताज़ा खबर
 

2019 चुनाव की दौड़ में नहीं, पंजाब में मि‍ल सकती है द‍िल्‍ली जैसी कामयाबी: केजरीवाल

आप की नेशनल काउंसि‍ल की मीटिंग में केजरीवाल ने पार्टी कार्यकर्ताओं को चुनाव के पीछे न भागने और कड़ी मेहनत करते रहने की नसीहत दी है।

Author नई द‍िल्‍ली। | November 23, 2015 4:53 PM
दिल्‍ली में चल रहे 35वें इंटरेनशनल ट्रेड फेयर कार्यक्रम में शनिवार को एक स्‍टूडेंट से बातचीत करते सीएम अरविंद केजरीवाल। (फोटो PTI)

दिल्‍ली के सीएम और आम आदमी पार्टी संयोजक अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को दावा किया कि उनकी पार्टी 2019 चुनाव की रेस में शामिल नहीं है। आप की नेशनल काउंसिल मीटिंग में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने कहा, ”हम सत्‍ता पाने की राजनीति नहीं कर रहे। लोग पूछते हैं कि क्‍या आम आदमी पार्टी 2019 चुनाव की दौड़ में है? हम किसी रेस में नहीं हैं। दिल्‍ली में हमें चमत्‍कारिक जीत मिली है। हमें बस ईमानदारी से कड़ी मेहनत करते रहनी है। हमें चुनावों के पीछे नहीं भागना है। इस बात के संकेत मिलते हैं कि आप लोगों को दिल्‍ली जैसा मौका पंजाब में भी मिलेगा।”
केजरीवाल ने और क्‍या कहा: दिल्‍ली के सीएम के मुताबिक, आप का अहम मकसद भ्रष्‍टाचार से निपटना है। केजरीवाल ने दावा किया कि उनकी ऐसी पहली सरकार है, जिसने भ्रष्‍टाचार के आरोपों पर अपने ही मंत्री को बर्खास्‍त कर दिया। केजरीवाल ने कहा, ”शुरुआत में हमारे दो मकसद थे। पहला भ्रष्‍टाचार से निपटना और दूसरा जनलोकपाल और स्‍वराज लाना। आखिरी दस महीने में हमने कड़ी मेहनत की है। मैं दावे से कह सकता हूं कि शीला सरकार ने बीते 15 सालों में कुछ नहीं किया। मोदी के पास पूरा देश है, लेकिन उन्‍होंने भी ऐसा नहीं किया।”

केजरीवाल ने कहा, ”पहले करप्‍शन के बारे में बात करते हैं। पूर्व में ऐसी कोई घटना नहीं हुई, जब एक सरकार ने भ्रष्‍टाचार में शामिल होने पर अपने ही मंत्री को बर्खास्‍त कर दिया। हम देख चुके हैं कि सरकारें किस तरह भ्रष्‍टाचार के मामलों को दबाती हैं। खास तौर पर तब, जब इसके आरोप उनके ही मंत्रियों के खिलाफ हों। लेकिन हमारी सरकार के मामले में ऐसा नहीं है। किसी ने वॉट्सऐप पर एक क्लिप भेजी। उसे देखकर हमें लगा कि हमारा मंत्री इसमें शामिल है। हमने इसकी जांच की। मंत्री को बुलाया और उससे पूछताछ की। जब उसने कबूल कर लिया तो घंटे भर में प्रेस कॉन्‍फ्रेंस करके उसे बर्खास्‍त कर दिया।”केजरीवाल ने इस बात का भरोसा जताया कि जनलोकपाल बिल इस वक्‍त चल रहे दिल्‍ली असेंबली के शीतकालीन सत्र में ही पास हो जाएगा।

क्‍यों हो रही मीटिंग: फैसले लेने के मामले में आम आदमी पार्टी की दूसरे सबसे बड़ी बॉडी नेशनल एग्‍जीक्‍यूटिव के नए मेंबर्स का चुनाव इसी मीटिंग में होना है। उधर, मीटिंग वेन्‍यू के बाहर कुछ आप कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया। उनका दावा था कि उन्‍हें इस मीटिंग के लिए न्‍योता नहीं दिया गया।

Read also: 

केजरीवाल ने दी सफाई- मैंने नहीं की पहल, लालू ने ही मुझे खींचकर गले लगाया

Blog: डियर केजरीवाल, AAP को उन मूल्‍यों पर लौटाइए, जिनके बूते बनी थी पार्टी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X